NDTV Khabar

कैबिनेट में फेरबदल : राजीव प्रताप रूडी बोले, मंत्री पद छोड़ने का फैसला मेरा नहीं है...

मंत्री पद से इस्तीफा देने के बाद पहली बार इस मामले पर टिप्पणी करते हुए राजीव प्रताप रुडी ने NDTV से कहा, यह मेरा फैसला नहीं है, पार्टी का फैसला है...

59 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
कैबिनेट में फेरबदल : राजीव प्रताप रूडी बोले, मंत्री पद छोड़ने का फैसला मेरा नहीं है...

कैबिनेट में फेरबदल : राजीव प्रताप रूडी बोले, मंत्रीपद छोड़ने का फैसला मेरा नहीं है.. (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. मोदी सरकार के कैबिनेट में हो सकता है बड़ा फेरबदल
  2. राजीव प्रताप रुडी ने NDTV से कहा, यह मेरा नहीं पार्टी का फैसला
  3. संजीव बालियान ने कहा- वह पार्टी के आदेश का पालन करते हुए खुश हैं
नई दिल्ली: पीएम मोदी के कैबिनेट में बड़े फेरबदल की सुगबुगाहट अब अपने चरम पर है. केंद्रीय मंत्रियों राजीव प्रताप रूडी, उमा भारती, संजीव बालियान और फग्गन सिंह कुलस्ते ने मंत्रिमंडल से अपना इस्तीफा प्रधानमंत्री को भेज दिया है. मंत्री पद से इस्तीफा देने के बाद पहली बार इस मामले पर टिप्पणी करते हुए राजीव प्रताप रुडी ने NDTV से कहा, यह मेरा फैसला नहीं है.

पढ़ें- महेंद्रनाथ पांडे मंत्री पद से हटाए जाने पर बोले, जो जिम्मा देंगे, निभाएंगे

उन्होंने कहा, यह पार्टी का फैसला है और मैं इसका पालन करुंगा. ऐसे ही संजीव बालियान से जब इस बाबत पूछा गया तो उन्होंने कहा कि उन्होंने 'तुरंत एक लाइन का इस्तीफा भेज दिया था.' उन्होंने यह भी कहा कि वह नहीं जानते कि उनके इस्तीफा क्यों लिया गया. लेकिन साथ ही उन्होंने जोड़ा, वह पार्टी के आदेश का पालन करते हुए खुश हैं. 

पढ़ें: नोटबंदी को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लोगों को गुमराह किया : कांग्रेस

राजीव प्रताप रुडी जोकि कौशल विकास मंत्री थे कि पिछले हफ्ते अमित शाह से लंबी बातचीत चली थी., पीएम मोदी रविवार को चीन की यात्रा पर जा रहे हैं. उससे पहले पहले इस पर फैसला लिया जा सकता है. रुडी ने कहा कि अमित शाह ने पिछली शाम मिलकर उनसे बात की थी. उन्होंने कहा कि उन्होंने फैसला लिया और उन्हें बता दिया. जब उनसे पूछा गया कि क्या पार्टी उन्हें कर्नाटक और गुजरात के विधानसभा चुनावों के लिए बड़ी जिम्मेदारी देने जा रही है तो उनका कहना था- देखते हैं... फिलहाल मैंने पद छोड दिया है.

बताया जा रहा है कि हटाए गए मंत्रियों को पार्टी संगठन में जगह दी जा सकती है. 2019 में होने जा रहे लोकसभा चुनाव से पहले मोदी सरकार का ये आखिरी मंत्रिमंडल फेरबदल और विस्तार माना जा सकता है. इस कैबिनेट विस्तार में जेडीयू से दो चेहरों को शामिल किया जा सकता है, जिनमें नीतीश के करीबी आरसीपी सिंह और संतोष कुशवाहा का नाम आगे आ रहा है. शिवसेना से एक और तेलगुदेशम से एक मंत्री बनाए जा सकते हैं. ये भी संभव है कि टीडीपी से एक मंत्री बनाए जाने की जगह उसके मौजूदा राज्यमंत्री को प्रमोशन दे दी जाए.

वीडियो- मोदी कैबिनेट में फेरबदल से पहेल मंत्रियों के इस्तीफे...

वित्त मंत्री अरुण जेटली जोकि रक्षा मंत्रालय भी देख रहे हैं, के रक्षा मंत्रालय से इस्तीफा दिए जाने की संभावना जताई जा रही है.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement