NDTV Khabar

मंत्री पद से इस्तीफा देने वाले राजीव प्रताप रूडी बोले, बॉस हमेशा सही होता है...

रूडी ने कहा- अगर मेरे बॉस को लगता है कि मैं फेल हो गया हूं तो मैं अपने बॉस से सर्टिफिकेट नहीं ले सकता. बॉस हमेशा सही होता है.

482 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
मंत्री पद से इस्तीफा देने वाले राजीव प्रताप रूडी बोले, बॉस हमेशा सही होता है...

राजीव प्रताप रूडी (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. पिछले हफ्ते राजीव प्रताप रूडी ने दिया था मंत्री पद से इस्तीफा
  2. वह बोले, बॉस हमेशा सही होता है
  3. बोले, मैं अपने बॉसेस और पब्लिक तक अपना किया काम नहीं बता पाया
पटना: पिछले ही हफ्ते बतौर केंद्रीय मंत्री पद से इस्तीफा देने वाले राजीव प्रताप रूड़ी ने ndtv.com से आज कहा- मैंने अपनी ओर से पूरी कोशिश की. लेकिन मेरे उत्तराधिकारी (मेरे आलोचक भी इसके साक्षी होंगे) को भी कुछ प्रत्यक्ष परिवर्तन डिलीवर करने में कुछ समय लगेगा. 54 वर्षीय रूडी उन छह मंत्रियों में से हैं जिनसे कैबिनेट विस्तार से पहले बेहतर काम न करने वाले 6 मंत्रियों से इस्तीफा मांगा गया था.

पढ़ें- पटना पहुंचे राजीव प्रताप रूडी उसी फ्लाइट से लौटे दिल्ली, कहा गया - इस्तीफा दे दीजिए

उनकी जगह धर्मेंद्र प्रधान को कौशल विकास मंत्री बनाया गया है. बता दें कि धर्मेंद्र के पास कौशल विकास के अलावा पहले की ही तरह पेट्रोलियम भी रहेगा और उन्हें ऐसे समय पर कौशिल विकास का कामकाज देखना है जब बेरोजगारी चिंताजनक मुहाने पर है. पीएम नरेंद्र मोदी के मंत्रिमंडल का तीसरी बार विस्तार हो चुका है. आज के विस्तार में 4 राज्यमंत्रियों को कैबिनेट मंत्री का दर्जा दिया गया है और 9 नए राज्यमंत्री बनाए गए हैं. सभी नए मंत्रियों को प्रधानमंत्री मोदी का संदेश बता दिया गया है जिसमें उन्होंने कहा है कि "आपका चयन बहुत कुछ पहलुओं को ध्यान में रखकर किया गया है, अब आप बेहतर काम करके दिखाएं."

पढ़ें- लालू यादव के भारी दबाव में थे नीतीश कुमार : केंद्रीय मंत्री राजीव प्रताप रूडी

अपने तीन साल के कार्यकाल को डिफेंड करते हुए रूडी ने कहा- जब मैं 2014 में मंत्री बनाया गया तब मुझे अधिकारी चाहिए थे, रोडमैप और एक ढांचा बनाना था... अब यह सब मौजूद है... पूरे देश में... अब कई सेंटर्स हैं जो युवाओं को पीएम मोदी के विजन के मुताबिक ही ट्रेनिंग दे रहे हैं. 

उन्होंने कहा- अगर मेरे बॉस को लगता है कि मैं फेल हो गया हूं तो मैं अपने बॉस से सर्टिफिकेट नहीं ले सकता. बॉस हमेशा सही होता है. लेकिन हां इतने कम समय में मैं लोगों और अपने बॉसेस को अपने अंडर में हुए काम के बारे में बताने में नाकामयाब रहा. बिहार के सरन से तीन बार एमपी रह चुके रूडी बोले- मैं कैसे रोजगार पैदा कर सकता हूं? मुझे ब्रीफ किया गया था काम करने योग्य वर्कफोर्स तैयार करने के लिए. मुझे जो ब्रीफ दिया गया था उसमें नौकरी दिलवाने की बात कहीं नहीं थी.

हालांकि थोड़ी बहुत नाराजगी के बाद इस्तीफा देने वाले ज्यादातर मंत्रियों ने इसे पार्टी का निर्णय बताया. राजीव प्रताप रूडी ने सबसे पहले इस्तीफा दिया था. इस्तीफा देने के मुद्दे पर उन्होंने NDTV से कहा था यह मेरा नहीं बल्कि पार्टी का निर्णय है.  राजीव प्रताप रूडी के इस्तीफे से जुड़ा पूरा घटनाक्रम सामने आया है. सूत्रों का कहना है कि रूडी गुरुवार को अपनी पत्नी के साथ फ्लाइट से पटना गए थे.

वीडियो- राजीव प्रताप रूडी बोले- पार्टी का फैसला मंजूर है... फ्लाइट से उतरकर जैसे ही उन्होंने अपना मोबाइल चालू किया, उनके ऑफिस से उन्हें कॉल आया जिसमें उन्हें बताया गया कि बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह उनसे संपर्क करना चाहते हैं. इतना ही नहीं ऑफिस ने उन्हें तत्काल वापस दिल्ली लौटने का सुझाव दिया.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement