अमरनाथ यात्रा के संचालन में मुस्लिमों की भूमिका की राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने की प्रशंसा

दक्षिण कश्मीर हिमालय में स्थित भगवान शिव की पवित्र गुफा के लिए 46 दिवसीय वार्षिक तीर्थयात्रा सोमवार से शुरू होगी और 15 अगस्त को समाप्त होगी.

अमरनाथ यात्रा के संचालन में मुस्लिमों की भूमिका की राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने की प्रशंसा

सत्यपाल मलिक (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

जम्मू कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने गत वर्षों के दौरान अमरनाथ यात्रा का सुचारू संचालन सुनिश्चित करने में स्थानीय मुस्लिमों की भूमिका की रविवार को प्रशंसा की और उम्मीद जतायी कि तीर्थयात्रा इस वर्ष भी सफल रहेगी. मलिक ने कहा कि सरकार वार्षिक तीर्थयात्रा के सुरक्षा पहलू देखती है, जबकि इसका आयोजन स्थानीयों के सहयोग से होता है. उन्होंने यहां संवाददाताओं से कहा, ‘‘यात्रा की सुरक्षा हमारी जिम्मेदारी है और हम उसकी देखरेख कर रहे हैं. यद्यपि पुलिस या सेना यात्रा का संचालन नहीं करती. कई वर्षों से अमरनाथ यात्रा का आयोजन कश्मीर के लोगों, विशेष तौर पर हमारे मुस्लिम भाइयों द्वारा किया जा रहा है. यात्रा उनके सहयोग से होती है.'' उन्होंने  कहा, ‘‘यदि हम सभी साथ मिलकर काम करे, वह सफल होगी.'' 

अमरनाथ यात्रा के लिए पुख्ता तैयारियां, कड़ी सुरक्षा व्यवस्था की गई

दक्षिण कश्मीर हिमालय में स्थित भगवान शिव की पवित्र गुफा के लिए 46 दिवसीय वार्षिक तीर्थयात्रा सोमवार से शुरू होगी और 15 अगस्त को समाप्त होगी. यह पूछे जाने पर कि अमित शाह के केंद्रीय गृह मंत्री बनने के बाद क्या केंद्र की कश्मीर नीति में बदलाव दिखेगा, मलिक ने कहा कि उन्हें अभी तक कुछ वैसा नहीं दिखा है. उन्होंने कहा, ‘‘मुझे अभी तक कुछ वैसा नहीं दिखा है लेकिन अमित शाह का नेतृत्व बहुत सफल नेतृत्व है और उन्होंने जो भी कार्य हाथ में लिया है वह उसमें सफल रहे हैं.'' इससे पहले राज्यपाल ने रामबाग फ्लाईओवर के जहांगीर चौक से अलोची बाग हिस्से का उद्घाटन किया. उन्होंने कहा कि फ्लाईओवर से शहर में यातायात सुगम होगा. 

वीडियो: NDTV पहुंचा बाबा अमरनाथ की गुफा तक



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)
 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com