NDTV Khabar

कांग्रेस कोर ग्रुप की राहुल गांधी को सलाह: RSS का न्योता न कबूल करें, वह जहर है, न चखें

कांग्रेस के कोर ग्रुप ने राहुल गांधी को आरएसएस के कार्यक्रम में न जाने की सलाह दी है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
कांग्रेस कोर ग्रुप की राहुल गांधी को सलाह: RSS का न्योता न कबूल करें, वह जहर है, न चखें

राहुल गांधी (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. कांग्रेस कोर ग्रुप ने आरएसएस के कार्यक्रम में न जाने की सलाह दी.
  2. मल्लिकार्जुन खड़गे ने राहुल गांधी से कहा कि आरएसएस जहर है.
  3. अभी तक आरएसएस का न्योता नहीं मिला है.
नई दिल्ली:

कांग्रेस के कोर ग्रुप ने राहुल गांधी को आरएसएस के कार्यक्रम में न जाने की सलाह दी है. कांग्रेस के सीनियर नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने राहुल गांधी से कहा कि आरएसएस एक जहर है, ये सभी जानते हैं. अगर आप जानते हैं कि सामने जहर है तो फिर उसके चखकर देखने की जरूरत नहीं है. क्योंकि चखने का नतीजा सब जानते हैं. साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि आरएसएस अपनी विचारधारा को फैलाना चाहता है, उसमे हम भागीदार क्यों बनें. आखिर ये बांटने वाली और संविधान की जगह मनु स्मृति को मानने वाली विचारधारा है. इससे पहले भी कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा था कि राहुल गांधी (Rahul Gandhi) या पार्टी के किसी अन्य नेता के आरएसएस कार्यक्रम (RSS lecture) में भाग लेने का कोई सवाल ही नहीं उठता है. आरएसएस की अगले महीने व्याख्यान सीरीज में कांग्रेस अध्यक्ष को कथित तौर पर आमंत्रित करने की योजना के बारे में पूछे जाने पर खड़गे ने कहा, 'पहले पत्र (निमंत्रण) आने दें. हालांकि, अभी तक आरएसएस की ओर से ऐसा कोई आमंत्रण नहीं मिला है राहुल गांधी को.

यह भी पढ़ें : वामपंथी विचारकों की गिरफ्तारी पर राहुल का तंज, 'देश में अब सिर्फ इकलौते एनजीओ RSS के लिए जगह'


इससे पहले उन्होंने कहा कि कांग्रेस राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के साथ एक वैचारिक लड़ाई में लगी हुई है और पार्टी ने भाजपा को सत्ता से दूर रखने के लिए कर्नाटक में मुख्यमंत्री पद भी छोड़ दिया. खड़गे ने कहा, 'कर्नाटक में, एक छोटी क्षेत्रीय पार्टी (जनता दल-सेक्युलर) के 37 विधायक हैं और हमारे 80 विधायक हैं. लेकिन हमने धर्मनिरपेक्ष ताकतों को मजबूत करने के लिए उस पार्टी के लिए मुख्यमंत्री पद छोड़ दिया. इसलिए (गांधी या कांग्रेस के किसी अन्य नेता के) आरएसएस मुख्यालय जाने का कोई सवाल ही नहीं उठता.'

यह भी पढ़ें : RSS अब राहुल गांधी और सीताराम येचुरी को अपने कार्यक्रम में हिस्सा लेने के लिये भेजेगा न्यौता : सूत्र

उन्होंने आरएसएस की विचारधारा को देश के लिए और दलितों और अन्य उत्पीड़ित वर्गों के लिए 'जहर' बताया. खड़गे ने कहा, 'अगर राहुल साहब मुझसे वहां (आरएसएस कार्यक्रम में) जाने के बारे में पूछते हैं, तो मैं उनसे कहूंगा कि वहां जाने का कोई सवाल ही नहीं है. ऐसे लोगों से जुड़ने का कोई इरादा नहीं है.' आरएसएस के सूत्रों ने दो दिन पहले दावा किया था कि वह गांधी को अगले महीने नई दिल्ली में तीन दिवसीय व्याख्यान श्रृंखला में आमंत्रित कर सकता है. सूत्रों ने दावा किया था कि विचार अलग-अलग विचारधाराओं से लोगों को आमंत्रित करना है और सूची में माकपा महासचिव सीताराम येचुरी भी शामिल हो सकते हैं.

टिप्पणियां

VIDEO : राहुल गांधी को न्योता देगा RSS!

इस बीच, खड़गे ने भाजपा नीत केंद्र और महाराष्ट्र सरकार पर मानवाधिकारों को 'कुचलने' और अघोषित आपातकाल लगाने का आरोप लगाया. कांग्रेस के महाराष्ट्र मामलों के प्रभारी खड़गे ने सरकार पर बुद्धिजीवियों को 'आतंकित करने और धमकाने' का आरोप लगाया.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement