रक्षा मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी कोरोना पॉजिटिव पाए गए, साउथ ब्लॉक का ईस्ट विंग बंद

Coronavirus: रक्षा मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारी फिलहाल अपने घर में क्वारंटाइन में, उनके निवास पर उनका पूरा सहायक स्टाफ भी क्वारंटाइन में

रक्षा मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी कोरोना पॉजिटिव पाए गए, साउथ ब्लॉक का ईस्ट विंग बंद

साउथ ब्लॉक.

नई दिल्ली:

Coronavirus: रक्षा मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी के कोविड 19 पॉज़िटिव पाए जाने के बाद साउथ ब्लॉक के ईस्ट विंग को बंद कर दिया गया है और सभी कमरों को सैनिटाइज किया जा रहा है. साउथ ब्लॉक के एक वरिष्ठ अधिकारी ने एनडीटीवी इंडिया को बताया कि "उनके कार्यालय के कर्मचारियों को अपने कार्यालय के पूरे क्षेत्र और यहां तक ​​कि कॉन्फ्रेन्स रूम को भी साफ करने के लिए कहा गया है."

उनके अनुसार, हालांकि अधिकांश बैठकें कोरोना के कारण वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से हो रही थीं लेकिन सभी नहीं. सुरक्षा कारणों के कारण कुछ बैठकें साउथ ब्लॉक में कमरा नंबर 103 में हुईं. अब वह भी सैनिटाइज हो रहा है. मुख्य चिंता यह है कि साउथ ब्लॉक में मुख्य कॉन्फ्रेन्स रूम 103 नंबर का इस्तेमाल किया गया था. उसका इतिहास पता लगाया जा रहा है. पिछले एक सप्ताह में यहां कई महत्वपूर्ण बैठकें आयोजित की गईं.

एक अधिकारी ने खुलासा किया कि रक्षा मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारी फिलहाल अपने घर में क्वारंटाइन में हैं. उनके निवास पर उनका पूरा सहायक स्टाफ भी क्वारंटाइन में है. 

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह गुरुवार को अपने आवास पर रहे, हालांकि सेना प्रमुख मनोज मुकुंद नरवने उनके कार्यालय साउथ ब्लॉक में आए.

इस बीच पूरे मंत्रालय में खतरे की घंटी बजने लगी है कि कैसे अधिकारी के सहायक कर्मचारियों में वायरस के प्रसार को नियंत्रित किया जाए. एक वरिष्ठ नौकरशाह का कहना है कि स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा दिशानिर्देश जारी किए गए हैं, लेकिन हमें अपने कर्मचारियों को बार-बार गज़ भर की दूरी और हाथ की सफाई के बारे में शिक्षित करने की आवश्यकता है.” 

उनके अनुसार वह स्वयं अपने सहायक कर्मचारियों से बात करते रहते हैं और उन्हें प्राथमिकताओं की सूची में शिक्षित करते हैं कि उन्हें किन चरणों का पालन करना होता है. उन्होंने कहा, "हर कोई सोचता है कि मास्क पहनना काफी है. मैं उन्हें फाइलों को संभालने के दौरान सुरक्षित दूरी बनाए रखने के बारे में बताता हूं."

नॉर्थ ब्लॉक में भी पिछले कुछ दिनों में कोरोना संक्रमण के चार मामले सामने आए हैं. नॉर्थ ब्लॉक के एक अधिकारी ने बताया, "कंट्रोल रूम के एक अधिकारी का निदान किया गया था और निचले स्तर के कुछ सहायक कर्मचारी भी जांच में पॉजिटिव मिले थे."

दिलचस्प बात यह है कि अब सरकार ने इस बात के आंकड़े जुटाने शुरू कर दिए हैं कि उसके कितने अधिकारी अब तक कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं. इस डेटा के अनुसार विधि मंत्रालय के विधान विभाग के एक संयुक्त सचिव पॉजिटिव मिले. इस पर शास्त्री भवन की चौथी मंजिल के हिस्से का सैनिटाइजेशन करने का आदेश दिया गया. संयुक्त सचिव के संपर्क में रहे अधिकारियों को भी 12 जून तक सेल्फ क्वारंटाइन करने के लिए कहा गया है. यह मंत्रालय द्वारा जारी एक परिपत्र में कहा गया है. अधिकारी 29 मई को कार्यालय में मौजूद रहे थे.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण (एएआई) ने भी चार जून तक दिल्ली में अपने कार्यालय को सील कर दिया है. यह तब किया गया जब उसके चार अधिकारी कोरोनो वायरस पॉजिटिव मिले. दफ्तर में अब सैनिटेशन ड्राइव चल रही है. यह कार्यालय राजीव गांधी भवन में स्थित है. वहीं जोर बाग क्षेत्र में नागरिक उड्डयन मंत्रालय का कार्यालय भी है. राजीव गांधी भवन को पूरी तरह से स्वच्छता के लिए 4 जून तक के लिए सील कर दिया गया है.

विदेश मंत्रालय के दो अधिकारी भी पॉजिटिव मिले हैं और वित्त मंत्रालय में नकदी अनुभाग में एक मामला सामने आया है. एक अधिकारी ने कहा, "यह वायरस नाक, आंख और मुंह से शरीर में प्रवेश करता है, इसलिए हमें खुद को और अपने सहयोगी कर्मचारियों को भी याद रखने की जरूरत है."