कब उपलब्ध होगी कोविड वैक्सीन? सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ इंडिया के CEO अदार पूनावाला ने NDTV को दिया यह जवाब...

पूनावाला ने कहा, "हम पहली बार में 100 मिलियन  खुराक उपलब्ध कराने के लक्ष्य पर काम कर रहे हैं. यह 2021 के Q2-Q3 तक उपलब्ध हो जाना चाहिए."

कब उपलब्ध होगी कोविड वैक्सीन? सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ इंडिया के CEO अदार पूनावाला ने NDTV को दिया यह जवाब...

अदार पूनावाला SII के CEO हैं.

नई दिल्ली:

सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ इंडिया (SII) के CEO अदार पूनावाला (Adar Poonawalla) ने NDTV से बातचीत में कोरोनावायरस (Coronavirus) की वैक्सीन (COVID-19 Vaccine) को लेकर खुलकर बात की. उन्होंने कहा कि SII द्वारा उत्पादित ऑक्सफोर्ड कोरोनावायरस वैक्सीन की 100 मिलियन खुराक का पहला बैच साल 2021 की दूसरी या तीसरी तिमाही तक उपलब्ध हो सकेगा. पूनावाला ने भी कहा कि ऑक्सफोर्ड की कोरोना वैक्सीन काफी किफायती होगी. पूनावाला ने कहा, "हम पहली बार में 100 मिलियन  खुराक उपलब्ध कराने के लक्ष्य पर काम कर रहे हैं. यह 2021 के Q2-Q3 तक उपलब्ध हो जाना चाहिए."

उन्होंने कहा, "वर्तमान प्रगति को ध्यान में रखते हुए, मैं कहूंगा कि परीक्षण की प्रक्रिया लगभग दिसंबर के अंत तक समाप्त हो जाएगी, और अगर सब ठीक रहता है तो फिर हम जनवरी में टीका लगवाने में सक्षम हो जाएंगे. हमने पहले ही इसकी सफलता को देखते हुए फैक्ट्री में प्रोडक्शन शुरू कर दी है."

WATCH: भारत में कब उपलब्ध होगी COVID-19 Vaccine, क्या होगी कीमत
अदार पूनावाला (Adar Poonawalla) की NDTV से बातचीत...

कोरोना वैक्सीन : सीरम इंस्टीट्यूट से COVID वैक्सीन के ट्रायल के लिए भर्ती रोकने को कहा गया

पूनावाला ने कहा, "अगर ब्रिटेन, जहां एडवांस ट्रायल चल रहा है, ने हमसे डेटा साझा किया तो हम आपातकालीन ट्रायल के लिए स्वास्थ्य मंत्रालय में आवेदन देंगे और अगर वहां से इसे मंजूरी मिल गई तो हम वही टेस्ट भारत में भी कर सकेंगे. और ये सभी सफल रहे तो आगामी दिसंबर के मध्य तक हमारे पास वैक्सीन हो सकता है."

कोरोना की वैक्सीन मुफ्त उपलब्ध करवाना राज्य का मामला : मनोज तिवारी का उद्धव ठाकरे पर निशाना

सीरम इन्स्टिट्यूट, जो उत्पादित खुराक की संख्या के मामले में दुनिया का सबसे बड़ा वैक्सीन निर्माता है, कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए एस्ट्राजेनेका-ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी की वैक्सीन के उत्पादन समेत कई वैक्सीन पर काम कर रहा है. एस्ट्राजेनेका-ऑक्सफोर्ड की वैक्सीन ने दुनियाभर में सुर्खियां बटोरी हैं. इनके अलावा SII अपना वैक्सीन भी बना रहा है.

बता दें कि इस वक्त विश्व स्तर पर 150 से अधिक संभावित टीकों का विकास और परीक्षण किया जा रहा है, इनमें से 38 का मानव परीक्षण चल रहा है. मॉडर्न इंक, फाइजर इंक और एस्ट्राजेनेका पीएलसी जैसी फार्मास्यूटिकल्स की वैक्सीन परीक्षण के अंतिम चरणों में हैं.

Newsbeep

VIDEO: कोवैक्सीन पूरी तरह से भारतीय, शुरुआती ट्रायल में सुरक्षित पाई गई है : रणदीप गुलेरिया

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com