सुशासन, विकास के मुद्दे पर लड़ें बिहार चुनाव, मुद्दे घट गए हों तो भेज देंगे पार्सल: संजय राउत

संजय राउत ने बिहार में चुनाव लड़ने के बारे में कहा कि अगले दो दिनों में शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे के साथ इस पर चर्चा की जाएगी.

सुशासन, विकास के मुद्दे पर लड़ें बिहार चुनाव, मुद्दे घट गए हों तो भेज देंगे पार्सल: संजय राउत

संजय राउत का यह बयान तब आया है, जब चुनाव आयोग ने बिहार में तीन चरणों में चुनाव कराने का एलान कर दिया है

खास बातें

  • बिहार चुनाव में हो विकास और सुशासन मुद्दा, बोले संजय राउत
  • सुशांत सिंह राजपूत की मौत का राजनीतिकरण करने पर बीजेपी-जेडीयू पर बरसे
  • बिहार में शिवसेना के चुनाव लड़ने पर एक-दो दिन में फैसला होगा
नई दिल्ली:

शिव सेना (Shiv Sena) नेता और राज्य सभा सांसद संजय राउत ने कहा है कि बिहार विधान सभा चुनाव (Bihar Assembly Election) सुशासन, विकास और राज्य में कानून-व्यवस्था की मौजूदा स्थिति पर ही लड़ा जाना चाहिए. उन्होंने तंज कसा कि अगर ऐसे मुद्दों की कमी हो जाए तो हम मुंबई से पार्सल कर भेज देंगे. उन्होंने समाचार एजेंसी एएनआई से बातचीत में कहा, "बिहार में चुनाव विकास, कानून और व्यवस्था, और सुशासन के मुद्दों पर लड़ा जाना चाहिए, लेकिन अगर ये मुद्दे समाप्त हो गए हैं, तो मुंबई से मुद्दों को पार्सल के रूप में भेजा जा सकता है."

दरअसल, राउत बिहार चुनावों से पहले अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत का राजनीतिकरण करने के लिए बीजेपी और जेडीयू गठबंधन सरकार को निशाने पर ले रहे थे. राउत ने ये भी कहा कि कोरोना वायरस महामारी के चलते सरकार ने संसद का मानसून सत्र समय से पहले समाप्त करवा दिया लेकिन बिहार चुनाव कराए जा रहे हैं. उन्होंने सावलिया लहजे में पूछा कि क्या बिहार में कोरोना वायरस महामारी का प्रभाव खत्म हो चुका है?

बिहार चुनाव: उपेन्द्र कुशवाहा भी छोड़ेंगे महागठबंधन? जानें- तेजस्वी यादव क्यों नहीं दे रहे भाव? क्या है नया प्लान?

संजय राउत का यह बयान तब आया है, जब चुनाव आयोग ने शुक्रवार (25 सितंबर) को बिहार में तीन चरणों में चुनाव कराने का एलान कर दिया है. बिहार में 28 अक्टूबर, 3 नवंबर और 7 नवंबर को वोट डाले जाएंगे, जबकि 10 नवंबर को मतों की गिनती होगी.

राउत से जब पूछा गया कि क्या सुशांत सिंह राजपूत की मौत का मामला भी बिहार चुनावों में कोई मुद्दा होगा तो उन्होंने कहा, "केंद्र और राज्य (बिहार) ने सुशांत सिंह राजपूत की मौत को राजनीतिक मुद्दा बनाने के लिए ही इस मामले का राजनीतिकरण किया है. जेडी (यू) ने पहले ही इस दिशा में राजपूत के नाम वाले पोस्टर प्रकाशित करवाए हैं और इसे प्रचार में भी लाया है. इसे चुनावी मुद्दा बनाया जा रहा है क्योंकि सरकार (बिहार) के पास विकास के मुद्दों या सुशासन पर बोलने के लिए कुछ भी नहीं है." 

Bihar Election Date: 28 अक्टूबर से तीन चरणों में होंगे विधानसभा चुनाव, 10 नवंबर को नतीजों का ऐलान

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

संजय राउत ने बिहार में चुनाव लड़ने के बारे में कहा कि अगले दो दिनों में शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे के साथ इस पर चर्चा की जाएगी.

वीडियो: अब 7 पॉइंट एजेंडे के दूसरे चरण पर होगा काम : नीतीश कुमार