महाराष्ट्र : शिवसेना ने BJP पर साधा निशाना, पूछा- सरकार बनाने का दावा पेश क्यों नहीं कर रहे..

Maharashtra में 24 अक्टूबर को विधानसभा चुनाव के नतीजों (Maharashtra Assembly Election Result) की घोषणा की गई थी, जिसके 13 दिन बाद भी कोई पार्टी सरकार गठन के लिए आवश्यक 145 सीटें नहीं जुटा पाई है. विधानसभा चुनाव में भाजपा को 105 सीटें और शिवसेना को 56 सीटें मिलीं.

महाराष्ट्र : शिवसेना ने BJP पर साधा निशाना, पूछा- सरकार बनाने का दावा पेश क्यों नहीं कर रहे..

Shiv Sena ने अपने मुखपत्र सामना में सरकार गठन के मुद्दे पर BJP पर निशाना साधा है

खास बातें

  • शिवसेना ने मुखपत्र 'सामना' में बीजेपी को आड़े हाथ लिया
  • दोनों पार्टियों ने महाराष्ट्र में मिलकर लड़ा था चुनाव
  • नतीजे आने के बाद सीएम पद को लेकर अड़ी है शिवसेना
मुम्बई:

महाराष्ट्र में सरकार गठन (Government Formation in Maharashtra) को लेकर पेच सुलझने के बजाय उलझता जा रहा है. शिवसेना (Shiv Sena)ने एक बार फिर शनिवार को अपने सहयोगी दल बीजेपी (BJP)पर निशाना साधा. पार्टी ने अपने मुखपत्र 'सामना' में बीजेपी से पूछा है कि वह सरकार बनाने का दावा पेश क्यों नहीं कर रही है? गौरतलब है कि राज्य में 24 अक्टूबर को विधानसभा चुनाव के नतीजों (Maharashtra Assembly Election Result) की घोषणा की गई थी, जिसके 13 दिन बाद भी कोई पार्टी सरकार गठन के लिए आवश्यक 145 सीटें नहीं जुटा पाई है. विधानसभा चुनाव में भाजपा को 105 सीटें और शिवसेना को 56 सीटें मिलीं. बीजेपी और शिवसेना ने राज्य में मिलकर चुनाव लड़ा था लेकिन चुनाव परिणाम आने के बाद दोनों पार्टियों के बीच की नोकझोंक खुलकर सामने आ गई थी. इस पूरे विवाद के बीच मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने शुक्रवार को अपने पद से इस्तीफा दे दिया था.

शिवसेना की BJP को दो टूक, CM पद हमें देने को तैयार हों तभी हमारे पास आएं

मुख्यमंत्री पद को लेकर भाजपा और शिवसेना के बीच खींचतान जारी है. शिवसेना अपने लिए मुख्यमंत्री का पद मांग रही है.  शिवसेना इस पद के लिए 50:50 का फार्मूला चाहती है, लेकिन भाजपा इस पर तैयार नहीं है. कार्यवाहक मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडणवीस और शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे के आमने-सामने आने पर शुक्रवार को दोनों दलों के बीच बात और बिगड़ गई थी. शिवसेना के मुखपत्र ‘सामना' के संपादकीय में पार्टी ने कहा, ‘गोवा और मणिपुर में भाजपा सबसे बड़ी पार्टी नहीं थी लेकिन उसने सरकार का गठन किया. यह बात किसी से छुपी नहीं है कि यह सब राज्यपाल के सक्रिय सहयोग से हुआ. लेकिन महाराष्ट्र में सबसे अधिक सीटें पाने के बावजूद भी भाजपा सरकार बनाने का दावा पेश क्यों नहीं कर रही?' संपादकीय में पार्टी से एक बार फिर जल्द से जल्द सरकार बनाने की बात दोहरायी गई. महाराष्ट्र की मौजूदा विधानसभा का सत्र नौ नवम्बर को पूरा हो रहा है.

शिवसेना ने कहा, ‘राज्यपाल भाजपा को सरकार गठन के लिए बुला सकते हैं, क्योंकि उसके पास सबसे अधिक सीटे हैं और भाजपा को यह मौका नहीं गंवाना चाहिए. ‘सामना' में भाजपा के शिवसेना के साथ मिलकर सरकार बनाने के दावे की आलोचना भी की गई. शिवसेना ने कहा, ‘उस वादे का क्या जो गठबंधन बनाते समय सत्ता के बंटवारे को लेकर किया गया था? भाजपा लगातार यह कह रही है कि सत्ता साझेदारी को लेकर कोई आश्वासन नहीं दिया गया.'मुख्यमंत्री पद साझा करने का वादा पूरा न करने को लेकर भी एकबार फिर शिवसेना ने भाजपा पर हमला बोला. उसने कहा, ‘शिवसेना के बिना राज्य में सरकार का गठन नहीं हो सकता, लेकिन भाजपा अपनी प्रतिबद्धताएं पूरी करने को तैयार नहीं है. यह कैसी राजनीति है। हम ऐसी गंदी राजनीति में शामिल नहीं हो सकते.'

वीडियो: शिवसेना को लेकर यह बोले देवेंद्र फडणवीस



(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)
 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com