MP : शिवराज ने इमरती देवी पर टिप्पणी के खिलाफ रखा मौन व्रत, कांग्रेस से माफी की मांग

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan) ने सोमवार सुबह 10 बजे अपना दो घंटे का मौन व्रत शुरू किया. उनका मौन व्रत पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ की महिला मंत्री इमरती देवी (Imarti Devi)के खिलाफ अपमानजनक टिप्पणी के विरोध में है.

MP : शिवराज ने इमरती देवी पर टिप्पणी के खिलाफ रखा मौन व्रत, कांग्रेस से माफी की मांग

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने रखा मौन व्रत

भोपाल:

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan) ने सोमवार सुबह 10 बजे अपना दो घंटे का मौन व्रत शुरू किया. उनका मौन व्रत पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ की राज्य की महिला मंत्री इमरती देवी(Imarti Devi)के खिलाफ अपमानजनक टिप्पणी के विरोध में है.

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने डबरा की चुनावी जनसभा में इमरती देवी को आइटम कहा था. इमरती देवी उन 21 विधायकों में शामिल हैं, जिन्होंने ज्योतिरादित्य सिंधिया के साथ मार्च में कांग्रेस छोड़ दी थी और भाजपा में शामिल हो गई थीं. इससे कमलनाथ सरकार गिर गई थी.

कमलनाथ ने कहा था, आइटम
शिवराज के साथ भोपाल में प्रदेश भाजपा अध्यक्ष नरोत्तम मिश्रा, पार्टी के अन्य नेता और मंत्री भी मौजूद थे. जबकि ज्योतिरादित्य सिंधिया और कुछ अन्य भाजपा नेताओं ने इंदौर में दो घंटे का उपवास रखा. कमलनाथ ने जनसभा में कहा, ''वो क्या है..मैं उसका नाम क्यों लूं.. आपको मुझे सतर्क करना चाहिए था...क्या 'आइटम' है.'' इस पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कड़ा ऐतराज जताया है. विरोध स्वरूप सोमवार को दो घंटे तक मौन व्रत रखने का निर्णय किया. भाजपा नेता का कहना है कि कमलनाथ का बयान उनकी सामंती मानसिकता को दर्शाता है.  

Newsbeep

क्या मेरा दलित-गरीब होना गुनाह
इमरती देवी ने डबरा विधानसभा क्षेत्र से उपचुनाव के लिए गुरुवार को भाजपा प्रत्याशी के तौर पर अपना नामांकन दाखिल किया था. इमरती देवी ज्योतिरादित्य सिंधिया की समर्थक हैं. मध्यप्रदेश में 28 विधानसभा सीटों के लिए 3 नवंबर को उपचुनाव होना है. इमरती देवी ने भी एनडीटीवी से बातचीत में कहा कि अगर वह गरीब परिवार में पैदा हुईं हैं तो इसमें उनकी क्या गलती है, क्या दलित होना गुनाह है. उन्होंने सोनिया गांधी से ऐसे बयान देने वालों को पार्टी से निकालने की गुहार भी लगाई.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


मायावती ने कांग्रेस से माफी की मांग की
बसपा प्रमुख मायावती ने भी कांग्रेस से इस बयान को लेकर माफी मांगने को कहा है. उन्होंने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री का महिला और दलित विऱोधी बयान शर्मनाक और बेहद निंदनीय है. कांग्रेस हाईकमान को इस मामले में माफी मांगनी चाहिए.