NDTV Khabar

फडणवीस सरकार में मंत्री अर्जुन खोटकर ने की निजी क्षेत्र में स्थानीय युवाओं के लिए 100 फीसदी आरक्षण की मांग

मंत्री ने कहा कि आंध्र प्रदेश और अन्य राज्यों की भांति महाराष्ट्र को भी निजी सेक्टर की नौकरियों में स्थानीय युवाओं के लिए 100 प्रतिशत आरक्षण सुनिश्चित करने के लिए एक कानून की जरूरत है. उन्होंने कहा कि बढ़ती बेरोजगारी से स्थानीय युवा दिक्कतों का सामना कर रहे हैं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
फडणवीस सरकार में मंत्री अर्जुन खोटकर ने की निजी क्षेत्र में स्थानीय युवाओं के लिए 100 फीसदी आरक्षण की मांग

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

महाराष्ट्र सरकार में शिवसेना के डेयरी विकास मंत्री अर्जुन खोटकर ने यह सुनिश्चित करने के लिए रविवार को एक कानून बनाने की मांग की कि निजी क्षेत्र की नौकरियों में स्थानीय युवाओं को शत प्रतिशत आरक्षण मिले. उन्होंने कहा कि वह इस मुद्दे को पार्टी अध्यक्ष उद्धव ठाकरे और मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडणवीस के समक्ष भी उठाएंगे. मंत्री ने कहा कि आंध्र प्रदेश और अन्य राज्यों की भांति महाराष्ट्र को भी निजी सेक्टर की नौकरियों में स्थानीय युवाओं के लिए 100 प्रतिशत आरक्षण सुनिश्चित करने के लिए एक कानून की जरूरत है. उन्होंने कहा कि बढ़ती बेरोजगारी से स्थानीय युवा दिक्कतों का सामना कर रहे हैं. माना जा रहा है कि अर्जुन खोटकर के इस बयान के पीछे सोची-समझी रणनीति है. महाराष्ट्र में विधानसभा चुनाव नजदीक आ रहे हैं ऐसे में एक बार फिर 'मराठी मानुष' की भावनाओं को उभारने की कोशिश शुरू हो गई है. बीजेपी और शिवसेना का गठबंधन है लेकिन विधानसभा चुनावों में दोनों ही पार्टियों के बीच खींचतान शुरू हो जाती है. पिछली बार भी शिवसेना ने अलग होकर चुनाव लड़ा था लेकिन बीजेपी ने अपने दम पर सरकार बनाने में कामयाबी पाई थी. इसके बाद पूरे चार साल दोनों ही पार्टियों के बयानबाजी जारी रही. शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने तो सीधे पीएम मोदी पर निशाना साधना शुरू कर दिया था और एक तरह से वह विपक्ष की भूमिका निभा रहे थे. लेकिन लोकसभा चुनाव से पहले बीजेपी के साथ फिर समझौता हो गया.  लोकसभा चुनाव में शिवसेना और बीजेपी में सीटों का समझौता तो गया और साथ ही विधानसभा चुनाव भी मिलकर लड़ने का फैसला लिया गया.

लेकिन  इस पूरे समझौते में एक पेंच अभी तक फंसा है. दोनों ही पार्टियां मुख्यमंत्री का पद अपने पास रखना चाहती हैं.  लेकिन बीते शनिवार को उद्धव ठाकरे का एक बयान बीजेपी के लिए राहत लेकर आया है.  शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने कहा, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की उपस्थिति में, दोनों दलों का गठबंधन ‘‘अटल'' है और यह गठबंधन एक बार फिर से सत्ता में वापसी करेगा. मुंबई में एक कार्यक्रम में अपने संबोधन के दौरान ठाकरे ने अनुच्छेद 370 के अधिकतर प्रावधानों को समाप्त करने के लिए प्रधानमंत्री की सराहना की और अयोध्या में भव्य राम मंदिर बनाने और समान नागरिक संहिता लाने की अपील की. ठाकरे ने कहा, ‘‘प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश को नेतृत्व और दिशा प्रदान की है जिसमें प्रगति और विकास करने की अपार क्षमता है. संविधान के अनुच्छेद 370 के अधिकतर प्रावधानों को समाप्त करने और चंद्रयान -2 अभियान के लिए मैं मोदी को बधाई देता हूं ...अब राष्ट्र अयोध्या में भव्य राम मंदिर का निर्माण तथा समान नागरिक संहिता का इंतजार कर रहा है.'' फिलहाल अभी महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव का ऐलान होना बाकी है और पार्टियों के बड़े नेताओं के बजाए दूसरे या तीसरे नंबर के नेता ऐसा बयान जारी रखेंगे ताकि माहौल बनाए रखा जाए.


RSS प्रमुख मोहन भागवत बोले- आरक्षण विवाद का हल निकले​


अन्य बड़ी खबरें :

छत्तीसगढ़ में भी मिलेगा आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग को आरक्षण, CM भूपेश बघेल ने लिया फैसला

RSS प्रमुख मोहन भागवत ने आरक्षण के मुद्दे पर सद्भावपूर्ण माहौल में चर्चा पर दिया जोर

टिप्पणियां



(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement