उत्तर प्रदेश में सपा-बसपा साथ-साथ, लेकिन कर्नाटक में आमने-सामने

उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी 'ह​म साथ साथ है' की बात कर रहे हैं, लेकिन कर्नाटक विधानसभा चुनाव में दोनो दलों के रास्ते अलग-अलग हैं.

उत्तर प्रदेश में सपा-बसपा साथ-साथ, लेकिन कर्नाटक में आमने-सामने

सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव. (फाइल फोटो)

लखनऊ:

उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी 'ह​म साथ साथ है' की बात कर रहे हैं, लेकिन कर्नाटक विधानसभा चुनाव में दोनो दलों के रास्ते अलग-अलग हैं. समाजवादी पार्टी कर्नाटक में लगभग दो दर्जन सीटों पर चुनाव लड़ेगी और पार्टी पमुख अखिलेश यादव वहां प्रचार भी करेंगे. वहीं, दूसरी ओर बहुजन समाज पार्टी ने फरवरी में ही इस बात का ऐलान कर चुकी है कि कर्नाटक में वह जनता जेडीएस के साथ तालमेल करेगी.

यह भी पढ़ें : अखिलेश यादव का ऐलान: विधान परिषद चुनाव में बसपा कैंडिडेट का समर्थन करेगी सपा

समाजवादी पार्टी के मुख्य प्रवक्ता राजेंद्र चौधरी ने कहा कि 'समाजवादी पार्टी कर्नाटक विधानसभा में करीब दो दर्जन विधानसभा सीटों पर चुनाव लड़ेगी. पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव मई के पहले सप्ताह से पार्टी उम्मीदवारों के लिए चुनाव प्रचार की शुरुआत करेंगे.' उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में सपा और कांग्रेस ने तालमेल कर चुनाव लड़ा था, लेकिन कर्नाटक में दोनो दलों के बीच ऐसी किसी संभावना के आसार नहीं है.

यह भी पढ़ें : सपा-बसपा गठबंधन को लेकर मुलायम सिंह ने दिया यह बयान

इस बारे में चौधरी ने बताया, 'हमारी बसपा से दोस्ती और गठबंधन सिर्फ उत्तर प्रदेश के लिए है न कि अन्य प्रदेशों के लिये. जहां तक कांग्रेस की बात है तो 2017 का विधानसभा चुनाव हमने उनके साथ लड़ा था. अन्य प्रदेशों में दोनो पार्टियों के बीच ऐसी कोई बात नही है.' बसपा महासचिव सतीश चंद्र मिश्र दो महीने पहले ही ऐलान कर चुके हैं कि पार्टी कर्नाटक विधानसभा चुनाव के लिए जेडीएस के साथ गठबंधन किया है. उन्होंने कर्नाटक में करीब 20 सीटों पर चुनाव लड़ने की घोषणा भी की थी. 

VIDEO : ‘जारी रहेगा सपा-बसपा गठबंधन’

गौरतलब है कि बसपा ने गोरखपुर और फुलपुर लोकसभा के उपचुनाव में सपा का समर्थन किया था. वहीं, सपा ने राज्यसभा और विधानसभा चुनावों में बसपा प्रत्याशी का साथ दिया था.

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com