रेप मामला: पीड़िता का केस को दिल्ली ट्रांसफर करने की मांग, चिन्मयानंद से बताया खतरा

याचिकाकर्ताओं ने कहा कि उन्हें चिन्मयानंद से खतरा है, वो मशहूर आदमी हैं.

रेप मामला: पीड़िता का केस को दिल्ली ट्रांसफर करने की मांग, चिन्मयानंद से बताया खतरा

पीड़िता ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर कर केस को ट्रांसफर करने की मांग की (फाइल फोटो)

खास बातें

  • पीड़िता ने केस को दिल्ली स्थानांतरित करने की मांग की
  • चिन्मयानंद से बताया खतरा
  • दो मार्च को सुप्रीम कोर्ट करेगा याचिका पर सुनवाई
नई दिल्ली:

छात्रा से रेप के मामले में आरोपी पूर्व केंद्रीय मंत्री चिन्मयानंद के केस को उत्तर प्रदेश से दिल्ली स्थानांतरित करने की मांग की गई है. पीड़िता और उसके पिता ने सुप्रीम कोर्ट में अर्जी दाखिल करके यह मांग की है. याचिकाकर्ताओं का कहना है कि उन्हें चिन्मयानंद से खतरा है, वो एक मशहूर आदमी हैं. सुप्रीम कोर्ट इस याचिका पर सुनवाई के लिए तैयार है और इस पर दो मार्च को सुनवाई होगी.

चिन्मयानंद केस में हाईकोर्ट ने कहा- दोनों ही पक्षों ने मर्यादा लांघी, निर्णय करना मुश्किल है कि किसने किसका शोषण किया

पीड़िता और उसके पिता ने याचिका दायर करके मामले की सुनवाई को लखनऊ से दिल्ली स्थानांतरित करने की मांग की है. याचिकाकर्ताओं ने कहा कि उन्हें चिन्मयानंद से खतरा है, वो मशहूर आदमी हैं. इस मामले में सुरक्षा के तौर एक गनमैन मिला हुआ है.  इससे पहले तीन फरवरी को इलाहाबाद हाईकोर्ट ने अपने आदेश में ट्रायल (सुनवाई) के लिए केस को यूपी के शाहजहांपुर से लखनऊ ट्रांसफर किया था.

बलात्कार के मामले में पूर्व केंद्रीय मंत्री चिन्मयानंद को मिली जमानत, लॉ की छात्रा से यौन शोषण का है आरोप

इस महीने की शुरुआत में, इलाहाबाद हाईकोर्ट ने छात्रा के साथ यौन शोषण के मामले में चिन्मयानंद को सशर्त जमानत दे दी थी. इससे पहले शिकायतकर्ता के वकीलों की दलीलें सुनने के बाद न्यायमूर्ति चतुर्वेदी ने 16 नवंबर 2019 को चिन्मयानंद की जमानत याचिका पर फैसला सुरक्षित रख लिया था. 

वीडियो: चिन्मयानंद की जमानत को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती

    

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com