सुशांत सिंह राजपूत केस में शरद पवार मुंबई पुलिस के साथ, ठाकरे परिवार को मिली राहत

शरद पवार ने कहा कि उन्हें मुंबई पुलिस पर पूरा भरोसा, बीजेपी ने मामले की जांच सीबीआई को सौंपने की मांग करके उद्धव ठाकरे के परिवार को घेरा

सुशांत सिंह राजपूत केस में शरद पवार मुंबई पुलिस के साथ, ठाकरे परिवार को मिली राहत

बॉलीवुड एक्टर सुशांत सिंह राजपूत (फाइल फोटो).

मुंबई:

अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) की मौत के केस की जांच कर रही मुंबई पुलिस (Mumbai Police) सवालों के घेरे में है. सुशांत के पिता ने साफ कह दिया है कि उन्हें मुंबई पुलिस पर भरोसा नहीं है. बिहार सरकार (Bihar Government) पहले ही जांच सीबीआई (CBI) को दे चुकी है. जांच के अधिकार को लेकर मामला सुप्रीम कोर्ट में है. ऐसे में एनसीपी अध्यक्ष शरद पवार (Sharad Pawar) का खुलकर मुंबई पुलिस पर भरोसा जताना, मुंबई पुलिस ही नहीं राज्य सरकार के लिए भी बड़ी राहत है. खासकर मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे और उनके परिवार के लिए.

"हत्यारों को ढूंढने के बजाय रखवाले उसके मृत शरीर की फ़ोटो प्रदर्शनी में लगाने लगाते हैं." यह दर्द सुशांत सिंह राजपूत के दुखी परिवार का है जो उसने नौ पन्नों की एक चिट्ठी में साझा किया है. सुशांत सिंह राजपूत खुदकुशी मामले की जांच कर रही मुंबई पुलिस की साख दांव पर लगी है. मामले में मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के परिवार का नाम भी घसीटा जा रहा है. ऐसे में एनसीपी नेता शरद पवार दोनों के लिए संकटमोचक बनकर आए हैं. पवार ने मुंबई पुलिस पर यह कहकर भरोसा जताया है कि वे पुलिस को 50 साल से जानते हैं.

शरद पवार पवार ने कहा है कि मेरा महाराष्ट्र  पुलिस पर भरोसा है, फिर भी अगर कोई सीबीआई जांच की बात करता है तो मैं उसका विरोध नही करूंगा. शरद पवार ने सुशांत सिंह राजपूत केस में मीडिया की भूमिका पर भी सवाल उठाया है. उन्होंने कहा है कि मेरे जिले में 20 किसानों ने आत्महत्या की लेकिन उस पर कोई कुछ नहीं बोलता.

सुशांत की मौत के मामले में कोई CBI जांच चाहता है तो मैं इसका विरोध नहीं करूंगा : शरद पवार

अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की कथित खुदकुशी का मामला इस कदर उलझ गया है कि उसकी जांच कम, राजनीति ज्यादा हो रही है. महाराष्ट्र और बिहार सरकार आमने-सामने आ गई हैं और महाराष्ट्र बीजेपी केस की सीबीआई जांच की मांग करके ठाकरे परिवार को घेरती हुई दिख रही है.

बीजेपी प्रवक्ता राम कदम ने कहा कि महाराष्ट्र सरकार को अपना झूठा अभिमान दूर कर जांच सीबीआई को सौंपना होगी. करोड़ों फैन की मांग को सम्मान देना होगा. अगर वो उन्हें कौड़ी के मोल समझती है तो ये बीजेपी को मंजूर नहीं. 

सुशांत के कजिन और BJP MLA नीरज कुमार बबलू ने शिवसेना के संजय राउत को दी मुकदमे की चेतावनी

इस बीच मामला सुप्रीम कोर्ट में लंबित होने की वजह से मुम्बई पुलिस की जांच भले रुकी हुई है लेकिन केंद्रीय जांच एजेंसी ED मनी लॉन्ड्रिंग के सबूत खंगालने में लगी है. ये अलग बात है कि रिया चक्रवर्ती, उनके परिवार और सुशांत के CA, मैनेजर से कई दौर की पूछताछ के बाद भी ED के हाथ कुछ खास नहीं लग पाया है. सुशांत के एकाउंट से 15 करोड़ रुपये गबन करने का आरोप अब भी सवालों में है, जबकि ED सुशांत सिंह राजपूत की बहन मीतू सिंह से भी लंबी पुछताछ कर चुकी है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

सुशांत सिंह की मौत पर शिवसेना को संवेदनशीलता दिखानी चाहिए, न कि टुच्चापन : संजय निरुपम

ED को पूछताछ में 28 नवम्बर 2019 को तक़रीबन साढ़े चार करोड़ की दो FD दो दिन के भीतर ही तुड़वाने की जानकारी मिली है. लेकिन पैसे खाते से निकाले नहीं गए बल्कि सुशांत ने फिर से एक करोड़ की FD करवा दी थी. अभी तक की जांच में सिर्फ इतना पता चला है कि सुशांत ने पांच लाख रुपये के करीब ही रिया पर खर्च किया था वो भी अपनी मर्जी से. विदेश घूमना और शॉपिंग का खर्चा अलग है.