सुषमा स्वराज के चुनाव नहीं लड़ने के एलान पर उनके पति बोले- थैंक्यू मैडम, एक समय पर मिल्खा ने भी दौड़ना बंद कर दिया था

मध्य प्रदेश में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए सुषमा स्वराज ने आगे चुनाव नहीं लड़ने का एलान किया.

सुषमा स्वराज के चुनाव नहीं लड़ने के एलान पर उनके पति बोले- थैंक्यू मैडम, एक समय पर मिल्खा ने भी दौड़ना बंद कर दिया था

सुषमा स्वराज मध्य प्रदेश के विदिशा से लोकसभा सांसद हैं.

खास बातें

  • सुषमा स्वराज ने मध्य प्रदेश में किया एलान.
  • स्वास्थ्य कारणों की वजह से सुषमा ने लिया फैसला.
  • सुषमा के पति ने कहा- आप 41 साल से दौड़ रही हैं.
नई दिल्ली:

केंद्रीय मंत्री सुषमा स्वराज ने मंगलवार को अगला चुनाव नहीं लड़ने का एलान किया, इसके बाद उनके पति स्वराज कौशल ने उन्हें 'शुक्रिया' कहा. मिजोरम के पूर्व राज्यपाल कौशल ने ट्वीट करके कहा है, 'मैडम, शुक्रिया. एक समय पर मिल्खा सिंह ने भी दौड़ना बंद कर दिया था.' मध्य प्रदेश में मंगलवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने अगले साल चुनाव नहीं लड़ने का एलान किया था. सुषमा ने कहा कि फैसला पार्टी को लेना है, मगर उन्होंने अगला चुनाव नहीं लड़ने का मन बना लिया है. 

सुषमा स्वराज ने जैसे ही अपने फैसले का एलान किया उनके पति स्वराज कौशल ने ट्वीट कर अपनी प्रतिक्रियाएं दीं. उन्होंने लिखा, 'मैडम- आगे चुनाव नहीं लड़ने के फैसले के लिए आपका बहुत-बहुत शुक्रिया. मुझे याद  है कि एक समय पर मिल्खा सिंह ने भी दौड़ना बंद कर दिया था.'

उन्होंने साथ ही लिखा, 'यह मैराथन साल 1977 से जारी है, यानि 41 साल हो गए. आपने 11 चुनाव लड़े हैं. आपने 1977 से लेकर अभी तक सारे चुनाव लड़े हैं. केवल 1991 और 2004 के चुनाव पार्टी की मर्जी से नहीं लड़े. मैं भी पिछले 47 साल से आपके पीछे दौड़ रहा हूं. अब मैं भी 19 साल का नहीं रहा. प्लीज, अब मैं भी थक गया हूं.'

केंद्रीय विदेश मंत्री और बीजेपी की कद्दावर नेता सुषमा स्वराज नहीं लड़ेंगी 2019 का लोकसभा चुनाव, यह है वजह

उनके परिवार से जुड़े सूत्रों के मुताबिक स्वराज ने स्वास्थ्य कारणों की वजह की यह फैसला लिया है. उन्होंने इस फैसले के पीछे किसी भी तरह के राजनीतिक कारणों से इनकार किया है. सुषमा स्वराज मध्य प्रदेश के विदिशा से लोकसभा सांसद हैं और बीजेपी की प्रमुख चेहरों में से एक हैं.

सुषमा ने अपने फैसले का एलान करते हुए कहा, विदिशा से वर्ष 2009 में लोकसभा सदस्य चुने जाने के बाद मैं सदन की नेता प्रतिपक्ष और इसके पश्चात विदेश मंत्री के अहम पदों पर आसीन होने के बावजूद आठ साल तक अपनी संसदीय सीट के आठों विधानसभा क्षेत्रों में हर महीने नियमित तौर पर जाती थी। लेकिन दिसंबर 2016 में गुर्दा प्रतिरोपण के बाद मुझे डॉक्टरों ने धूल से बचने की हिदायत दी है। इस कारण मैं पिछले एक साल से चुनावी सभाओं में भी भाग नहीं ले पा रही हूं।'

कुवैत में शेख ने गाया भजन, देखकर सुषमा स्वराज हो गईं हैरान, बजाने लगीं तालियां, देखें VIDEO

साथ ही उन्होंने कहा, 'मैं स्वास्थ्य कारणों से खुले स्थानों पर आयोजित कार्यक्रमों में शामिल नहीं हो सकती हूँ। मैं बंद सभागारों में ही कार्यक्रम कर सकती हूं। मैंने अपने नेतृत्व से भी कहा है कि अपने स्वास्थ्य को देखते हुए मुझे धूल से बचना है। मैं विदेश तो जा सकती हूँ। लेकिन धूल से बचने की डॉक्टरी हिदायत के कारण विदिशा नहीं जा सकी, क्योंकि कुछेक कस्बों को छोड़कर मेरा पूरा संसदीय क्षेत्र देहाती है।'

(इनपुट- भाषा)

सुषमा स्वराज 2019 में नहीं लड़ेंगी चुनाव

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com