स्वच्छ सर्वेक्षण 2019 : मध्य प्रदेश का इंदौर लगातार तीसरे साल बना देश का सबसे स्वच्छ शहर

केंद्र सरकार की ओर से कराए गए स्वच्छ सर्वेक्षण 2019 में एक बार फिर इंदौर(Indore) ने सबसे स्वच्छ शहर का तमगा हासिल किया है.

स्वच्छ सर्वेक्षण 2019 : मध्य प्रदेश का इंदौर लगातार तीसरे साल बना देश का सबसे स्वच्छ शहर

राष्ट्रपति कोविंद ने ‘द स्वच्छ सर्वेक्षण अवार्ड’ 2019 (swachh survekshan 2019) प्रदान किया. इंदौर फिर सबसे स्वच्छ शहर चुना गया.

नई दिल्ली:

केंद्र सरकार की ओर से कराए गए स्वच्छ सर्वेक्षण 2019  (swachh survekshan 2019 results) में एक बार फिर इंदौर(Indore) ने सबसे स्वच्छ शहर का तमगा हासिल किया है. मध्य प्रदेश के इस शहर ने लगातार तीसरे साल सबसे स्वच्छ शहर का तमगा हासिल किया है. सर्वे (swachh survekshan 2019 results) में छत्तीसगढ़, झारखंड और महाराष्ट्र को स्वच्छता में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाले  देश के तीन राज्यों में गिना गया है. वहीं, उत्तराखंड का गौचर  भारत में गंगा के किनारे बसा सर्वश्रेष्ठ कस्बा बना है. राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने बुधवार को यहां एक कार्यक्रम में ‘द स्वच्छ सर्वेक्षण अवार्ड' 2019 (swachh survekshan 2019 results) प्रदान किया.

यह भी पढ़ें- गंगा को सबसे अधिक प्रदूषित करते हैं ये 10 शहर, सफाई के लिए नए लक्ष्य तय

नई दिल्ली नगर पालिका परिषद क्षेत्र को ‘सबसे स्वच्छ छोटा शहर' घेाषित किया गया. उत्तराखंड के गौचर को ‘सर्वश्रेष्ठ गंगा शहर' घोषित किया गया. केन्द्रीय आवास एवं शहरी मामलों का मंत्रालय ये पुरस्कार प्रदान करता है. केन्द्रीय आवास मंत्री हरदीप पुरी ने इंदौर को बधाई देते हुए कहा,‘‘बेहद शानदार! लगातार तीसरे साल इंदौर भारत का सर्वाधिक स्वच्छ शहर बना. स्वच्छ भारत को जन आंदोलन बनाने के लिए इंदौर के स्वच्छाग्राहियों को उनकी बेजोड़ लगन और भागीदारी के लिए बधाई. 

वीडियो- सफ़ाई में अव्वल कैसे बना इंदौर? 

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com