NDTV Khabar

स्वामी चिन्मयानंद पर आरोप लगाने वाली छात्रा और उसका भाई अब बरेली में पढ़ेंगे

शाहजहांपुर की एसएस कॉलेज की एलएलएम की छात्रा ने पूर्व केंद्रीय गृह राज्यमंत्री स्वामी चिन्मयानंद पर लगाए थे उत्पीड़न के आरोप

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
स्वामी चिन्मयानंद पर आरोप लगाने वाली छात्रा और उसका भाई अब बरेली में पढ़ेंगे

शाहजहांपुर की एलएलएम की छात्रा और उसका भाई अब बरेली में पढ़ाई करेंगे.

खास बातें

  1. यूपी सरकार ने बताया कि मामला इलाहाबाद हाईकोर्ट में लिस्ट हो गया
  2. यूपी सरकार ने बताया कि छात्रा महात्मा JPU बरेली में
  3. पीड़ित छात्रा का भाई बरेली विवि के दूसरे कॉलेज में पढ़ेगा
नई दिल्ली:

शाहजहांपुर की लॉ की छात्रा के उत्पीड़न के मामले में सुप्रीम कोर्ट में बुधवार को सुनवाई हुई. सुप्रीम कोर्ट ने महिला वकील से कहा कि छात्रा को कहिए कि संस्थान में दाखिला ले और पढ़ाई जारी रखे. ये पढ़ाई डेडिकेशन से होती है और उसे बेस्ट ऑफर मिला है जो इस देश में कम लोगों को मिलता है. कोर्ट ने कहा कि यह पढ़ाई ही है जिससे देश में लोग आगे बढ़ते हैं. यूपी सरकार ने सुप्रीम कोर्ट को बताया कि मामला इलाहाबाद हाईकोर्ट में लिस्ट हो गया है. कल सुनवाई होनी है. यूपी सरकार ने बताया कि छात्रा महात्मा ज्योतिबा फुले यूनिवर्सिटी JPU बरेली में पढ़ेगी. छात्रा का भाई बरेली विवि के दूसरे कॉलेज में पढ़ेगा. छात्रा के लिए हॉस्टल की विशेष व्यवस्था की गई है. उसका भाई श्रीजी कॉलेज में पढ़ेगा, जो प्राइवेट कॉलेज है लेकिन बरेली विवि से संबद्ध है. उसके लिए भी हॉस्टल मेन कैंपस में रहेगा, जहां उसकी बहन रहेगी.

यूपी सरकार की ओर से एएसजी ने कहा कि एलएलएम के दाखिले के लिए समय निकल चुका है.  इसके लिए बार काउंसिल की अनुमति जाहिए. वह NOC जारी करेगा. कोर्ट आदेश जारी करेगा तो यह आसान हो जाएगा.


यूपी सरकार ने कहा कि हम छात्रा को सब सुविधाएं मुहैया कराना चाहते हैं. यह सिर्फ एक कॉलेज से दूसरे कॉलेज में ट्रांसफर है. कोर्ट आदेश जारी करेगा तो हमें नहीं लगता कि कोई दिक्कत होगी. जो भी फीस दोनों ने जमा कर रखी है वो एडजस्ट कर ली जाएगी.

राजस्थान में मिली BJP नेता चिन्मयानंद पर आरोप लगाने वाली लड़की, SC ने यूपी सरकार से कहा- कोर्ट में करें पेश

सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि पहले हमने इसलिए केस लगाया था कि लड़की लापता थी. वह मिल गई है इसलिए हमने सिर्फ पढ़ाई के लिए इस केस को लगाया है, ताकि उसकी पढ़ाई में खलल न पड़े.

महिला वकील ने कहा कि छात्रा और उसके भाई को एक ही कॉलेज में पढ़ाया जाए. कोर्ट ने कहा कि हम इस मामले को आगे नहीं सुनेंगे. राज्य सरकार ने ऑफर दिया है, अब उनके ऊपर है कि वे दाखिला लें या नहीं. वकील ने कहा कि छात्रा पढ़ाई के मुद्दे पर जजों से मिलना चाहती है. कोर्ट ने कहा कि अब हम नहीं मिलेंगे.

सुप्रीम कोर्ट ने आदेश दिया कि छात्रा महात्मा ज्योतिबाई फुले बरेली में पढ़ेगी. उसका भाई श्रीजी कॉलेज में पढ़ेगा और दोनों को हॉस्टल मिलेगा. बार काउंसिल छात्रा और उसके भाई को असाधारण हालात में एक कॉलेज से दूसरे कॉलेज में ट्रांसफर करने की अनुमति देने पर विचार करेगी. सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि बार काउंसिल ऑफ इंडिया एलएलएम और एलएलबी में एक-एक सीट बढ़ाने पर उचित आदेश जारी करेगी.

BJP नेता चिन्मयानंद पर आरोप लगाने वाली शाहजहांपुर के लॉ कॉलेज की लापता छात्रा राजस्थान में मिली

सुप्रीम कोर्ट ने छात्रा और उसके भाई को दाखिले के लिए आवेदन देने के लिए चार हफ्ते का समय दिया है. सुप्रीम कोर्ट ने एसएस कॉलेज को दाखिले के लिए जरूरी सर्टिफिकेट जारी करने को कहा.

वकील ने कहा कि लड़की अपने मां-पिता के साथ वापस जाना चाहती है. फिलहाल वह ऑल इंडिया वूमेन कॉन्फ्रेंस से जाना चाहती है. कोर्ट ने कहा कि लड़की और उसके परिवार वाले वापस जाने का फैसला कर सकते हैं. वह वापस शाहजहांपुर वापस जा सकते हैं.  दिल्ली पुलिस उनको वापस लेकर जाने के लिए सुरक्षा देगी. दिल्ली पुलिस कमिश्नर यह इंतजाम करेंगे.

सुप्रीम कोर्ट ने मामले की सुनवाई बंद कर दी. सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि आगे सुरक्षा समेत कोई भी निर्देश लेने के लिए इलाहाबाद हाईकोर्ट जा सकते हैं.

शाहजहांपुर से लापता लड़की का पोस्टर पुलिस ने जारी किया, चिन्मयानंद पर लगाए थे गंभीर आरोप

गौरतलब है कि BJP नेता चिन्मयानंद (Chinmayanand) पर आरोप लगाने वाली शाहजहांपुर के एसएस लॉ कॉलेज की लापता छात्रा राजस्थान के जयपुर से करीब 95 किलोमीटर दूर टोंक में मिली थी. इस मामले में सुप्रीम कोर्ट ने दखल दिया था.

VIDEO : चिन्मयानंद केस के लिए बनेगी एसआईटी

टिप्पणियां



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement