NDTV Khabar

बाहरी को राज्यसभा भेजने को सीएम अरविंद केजरीवाल ने खुद बताया 'मास्टरस्ट्रोक'

बाहरी कैंडिडेट को लेकर आम आदमी पार्टी के अपने और विरोधी दोनों नाराज नजर आ रहे हैं.

1.5K Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
बाहरी को राज्यसभा भेजने को सीएम अरविंद केजरीवाल ने खुद बताया 'मास्टरस्ट्रोक'

सीएम अरविंद केजरीवाल (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. अरविंद केजरीवाल के इस फैसले से पार्टी के लोग भी नाराज बताये जा रहे हैं.
  2. कुमार विश्वास ने भी इस फैसले को लेकर तंज कसा है.
  3. आम आदमी पार्टी ने दो बाहरियों को टिकट दिया है.
नई दिल्ली: आम आदमी पार्टी ने राज्यसभा के लिए अपने तीनों उम्मीदवारों के नाम का ऐलान कर दिया. आम आदमी पार्टी की तीन राज्यसभा सीट के लिए कैंडिडेट में से एक पार्टी के दिग्गज नेता संजय सिंह हैं और दो बाहरी कैंडिडेट हैं. बाहरी कैंडिडेट के को लेकर आम आदमी पार्टी के अपने और विरोधी दोनों नाराज नजर आ रहे हैं. कुछ लोग केजरीवाल पर टिकट बेचने तक के आरोप लगा रहे हैं मगर आम आदमी पार्टी के मुखिया और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल अपने इस फैसले को मास्टरस्ट्रोक बता रहे हैं. 

यह भी पढें - आखिर क्यों बाहरी उम्मीदवारों को राज्यसभा भेज रही AAP?

अरविंद केजरीवाल ने ट्विटर पर एक ट्वीट को री-ट्वीट किया है. इस ट्वीट में कहा गया कि 'सच, मुझे दो गुप्ताओं का चुनावी महत्व तब तक समझ नहीं आया, जब तक एक बीजपी लीडर ने मैसेज करके ये नहीं कहा कि ये 'अरविंद केजरीवाल का मास्टरस्ट्रोक' है. बीजपी का शहरी वोटर कांग्रेस की तरफ शायद ना जाये लेकिन वो आम आदमी पार्टी की तरफ़ अच्छे से जा सकता है. चतुर.' यहीं नहीं केजरीवाल ने एक अन्य ट्वीट के री ट्वीट किया, जिसमें इन दो बाहरी लोगों को राज्यसभा भेजने का फैसला नई और अच्छी रणनीति बताया गया है. इस ट्वीट में कहा गया है कि 'अभी मैंने सीए एनडी गुप्ता और डॉ सुशील गुप्ता (LLB) दोनों का प्रोफेशनल रिज्यूम देखा. आम आदमी पार्टी ने राज्यसभा नामांकन में भी एक अभिनव रणनीति अपनायी है. शिक्षा, स्वास्थ्य और आर्थिक मामलों में गहरी महारथ से आप मज़बूत बनेगी. संजय सिंह को भी बधाई' गौरतलब है कि आम आदमी पार्टी ने अपने राज्यसभा उम्मीदवारों के तौर पर आज संजय सिंह, सुशील गुप्ता और एन डी गुप्ता को नामित किया है. संजय सिंह पार्टी गठन के समय से ही उससे जुड़े हुए हैं. सुशील गुप्ता दिल्ली के एक कारोबारी हैं और एन डी गुप्ता एक चार्टर्ड अकाउंटेंट हैं. मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के आवास पर हुई एक बैठक में यह निर्णय लिया गया जिसमें करीब पार्टी के 56 विधायकों ने हिस्सा लिया. पार्टी की राजनीतिक मामलों की समिति (पीएसी) ने कुछ देर बाद ही बैठक की और निर्णय को औपचारिक रूप से मंजूरी दी. 

यह भी पढ़ें - टिकट न मिलने पर बोले विश्‍वास, केजरीवाल ने कहा था आपको मारेंगे लेकिन शहीद नहीं होने देंगे

उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने संवाददाताओं से कहा, ‘सुशील गुप्ता ने दिल्ली और हरियाणा में शिक्षा एवं स्वास्थ्य के क्षेत्रों में बड़ा योगदान दिया है. वह 15000 बच्चों को नि:शुल्क शिक्षा मुहैया कराते हैं.’ उन्होंने कहा, ‘नारायण दास गुप्ता आईसीएआई (इंस्टीट्यूट ऑफ चार्टर्ड अकाउंटेंट ऑफ इंडिया) के पूर्व अध्यक्ष हैं.’ राज्यसभा सीट के उम्मीदवार बनने की आस लगाए बैठे असंतुष्ट नेता कुमार विश्वास ने पीएसी बैठक में भाग नहीं लिया. वह पीएसी के सदस्य हैं.

यह भी पढ़ें - राज्यसभा कैंडिडेट तय होने के बाद AAP के पूर्व नेताओं ने ट्विटर पर सीएम केजरीवाल को सुनाई खरी-खोटी

टिप्पणियां
दिल्ली से तीन राज्यसभा सीटों के लिए मतदान 16 जनवरी को होंगे. 70 सदस्यीय दिल्ली विधानसभा में आप को पूर्ण बहुमत प्राप्त है और उसके सभी तीनों सीटों पर जीत हासिल करने की पूरी उम्मीद है. राज्यसभा सीटों के लिए नामांकन दायर करने की अंतिम तिथि पांच जनवरी है. 

VIDEO : दो बाहरियों को राज्यसभा भेजेगी AAP?


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement