NDTV Khabar

मोबाइल नंबर और बैंक खाता से आधार को जोड़ना होगा स्वैच्छिक, दो कानूनों में होगा संशोधन

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता मैं हुई कैबिनेट की अहम बैठक, आम लोगों की सहूलियत के लिए किया गया फैसला

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
मोबाइल नंबर और बैंक खाता से आधार को जोड़ना होगा स्वैच्छिक, दो कानूनों में होगा संशोधन

प्रतीकात्मक फोटो.

खास बातें

  1. टेलीग्राफ अधिनियम और मनी लांडरिंग रोकथाम अधिनियम में होगा संशोधन
  2. बैंक खाता खोलने के लिए ग्राहक स्वेच्छा से आधार संख्या को साझा कर सकेंगे
  3. पीएम उज्ज्वला योजना को यूनिवर्सल बनाने के प्रस्ताव को मंजूरी दी गई
नई दिल्ली:

केंद्र सरकार ने मोबाइल नंबर तथा बैंक खातों को जैविक पहचान वाले आधार कार्ड से स्वैच्छिक रूप से जोड़ने को कानूनी रूप प्रदान करने के लिए इससे संबंधित दो कानूनों में संशोधन के लिए संसद में विधेयक लाने के प्रस्तावों को सोमवार को मंजूरी दी.

प्रधानमंत्री की अध्यक्षता मैं हुई कैबिनेट की एक अहम बैठक मैं यह फैसला लिया गया. एक वरिष्ठ कैबिनेट मंत्री के मुताबिक यह फैसला आम लोगों की सहूलियत के लिए किया गया है. मंत्रिमंडल ने टेलीग्राफ अधिनियम और मनी लांडरिंग रोकथाम अधिनियम में संशोधन के लिए प्रस्तावित विधेयकों के मसौदों को मंजूरी दी. यह निर्णय निजी कंपनियों को ग्राहकों के सत्यापन के लिए जैविक पहचान वाले आधार के इस्तेमाल पर सितंबर में सुप्रीम कोर्ट की रोक के बाद किया गया है. कोर्ट ने इस तरह के उपयोग के लिए कानूनी प्रावधान न होने के मद्देनजर यह रोक लगाई थी. इन कानूनों में प्रस्तावित संशोधन इसी के मद्देनजर किए जा रहे हैं.    

सूत्रों ने कहा कि दोनों अधिनियमों को संशोधित किया जाएगा ताकि नए मोबाइल नंबर लेने या बैंक खाता खोलने के लिए ग्राहक स्वेच्छा से 12 अंकों वाली आधार संख्या को साझा कर सकें. सुप्रीम कोर्ट ने आधार अधिनियम की धारा 57 को निरस्त कर दिया था. यह धारा सिम तथा बैंक खाता के साथ आधार को जोड़ना अनिवार्य बनाती थी. इस समस्या से निजात पाने के लिए टेलीग्राफ अधिनियम को संशोधित किया जा रहा है. इससे आधार के जरिए सिमकार्ड जारी करने को वैधानिक समर्थन मिलेगा. इसी तरह मनी लांडरिंग रोकथाम अधिनियम में संशोधन से बैंक खातों से आधार को जोड़ने का मार्ग प्रशस्त होगा.


यह भी पढ़ें : आधार हेल्‍पलाइन नंबर से फोन का डाटा नहीं चुराया जा सकता : UIDAI

कैबिनेट ने पीएम उज्ज्वला योजना को यूनिवर्सल बनाने के प्रस्ताव को भी मंजूरी दे दी है. पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने कैबिनेट की बैठक के बाद कहा, "आज कैबिनेट ने पीएम उज्ज्वला योजना को यूनिवर्सल करने का फैसला किया है. अब सारे गरीबों को जिनके पास एपीजी कनेक्शन नहीं है उन तक इसका फायदा पहुंचाया जाएगा. ऐसे सभी गरीब परिवारों को एक सेल्फ डिक्लरेशन देना होगा."  फिलहाल देश मैं 27 करोड़ परिवारों में से 25 करोड़ तक एलपीजी कनेक्शन पहुंचाया जा चुका है जिनमें गरीब परिवारों को दिए गए 5.86 करोड़ उज्ज्वला कनेक्शन हैं.

टिप्पणियां

VIDEO : बैंक और मोबाइल कंपनियां नहीं मांग सकतीं आधार नंबर

साथ ही कैबिनेट ने पटना में महात्मा गांधी सेतु के समानान्तर एक नए पुल के निर्माण को भी मंजूरी दे दी. कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा, "पटना में महात्मा गांधी सेतु के पैरेलल एक 14-किलोमीटर का 8-लेन का पुल बनाया जाएगा. यह उत्तर बिहार और दक्षिण बिहार के लिए महत्वपूर्ण होगा." कैबिनेट ने 50% से ज़्यादा पॉपुलेशन वाे ब्लॉकों मैं 462 नए एकलव्य मॉडल स्कूल खोलने के प्रस्ताव को भी मंजूरी दे दी है.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement