महाराष्ट्र ने घरेलू उड़ानें शुरू करने से किया इनकार, उद्धव ठाकरे ने लॉकडाउन बढ़ाने के भी दिए संकेत...

घरेलू उड़ान सेवा शुरू होने से पहले महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने नागर विमानन मंत्री हरदीप सिंह पुरी से इस मामले में बातचीत की. ठाकरे ने उनसे कहा कि फ्लाइट वापस शुरू करने की तैयारी करने के लिए और समय की जरूरत है. 

महाराष्ट्र ने घरेलू उड़ानें शुरू करने से किया इनकार, उद्धव ठाकरे ने लॉकडाउन बढ़ाने के भी दिए संकेत...

घरेलू उड़ान शुरू होने से पहले उद्धव ठाकरे ने की नागर विमानन मंत्री से बात

खास बातें

  • तैयारी करने के लिए और समय की जरूरत : ठाकरे
  • मैं समझता हूं कि हवाई यात्रा को खोलने की जरूरत है : ठाकरे
  • रेड जोन में हवाईअड्डे खोलने की सलाह अत्यंत नासमझी वाली : देशमुख

कोरोनावायरस लॉकडाउन (Coronavirus) के बीच घरेलू उड़ान सेवा शुरू करने को लेकर महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने आज केंद्रीय नागर विमानन मंत्री हरदीप सिंह पुरी से बातचीत की. ठाकरे ने उनसे कहा कि फ्लाइट वापस शुरू करने की तैयारी करने के लिए और समय की जरूरत है. ठाकरे ने राज्य में कोरोना के मामले और बढ़ने की आशंका जताते हुए कहा कि विमानन क्षेत्र को खोलने की "तैयारी करने के लिए और समय की जरूरत है. लॉकडाउन को अभी नहीं हटाया जा सकता. 

राज्य के लोगों को संबोधित करते हुए सीएम उद्धव ठाकरे ने कहा, "मैंने नागर विमानन मंत्री हरदीप सिंह पुरी से बात की है. मैं समझता हूं कि हवाई यात्रा को खोलने की जरूरत है लेकिन इसकी तैयारी के लिए हमें कुछ और समय चाहिए. सोमवार अर्थात् कल से घरेलू हवाई सेवाओं का परिचालन फिर से शुरू करने की केंद्र सरकार की योजना है. हालांकि, महाराष्ट्र, पश्चिम बंगाल और तमिलनाडु ने यात्री उड़ानें फिर से शुरू करने की केंद्र सरकार की योजना को लेकर चिंता जताई थी.

महाराष्ट्र सरकार ने शनिवार को कहा था कि राज्य सरकार ने 19 मई के अपने लॉकडाउन संबंधी आदेश में संशोधन नहीं किया है. इस आदेश में सिर्फ विशेष उड़ानों की अनुमति दी गई है. यह इस बात का स्पष्ट संकेत है कि महाराष्ट्र इसको लेकर उत्सुक नहीं है. महाराष्ट्र कोरोनावायरस से सर्वाधिक प्रभावित राज्य है. 

महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख ने रविवार को अपने ट्वीट में कहा, "रेड जोन में हवाईअड्डे खोलने की सलाह अत्यंत नासमझी वाली है. केवल यात्रियों की थर्मल जांच करना और लार के नमूने नहीं लेना अपर्याप्त होगा. मौजूदा परिस्थितियों में ऑटो/कैब/बसें चलाना असंभव है. संक्रमित रोगी के आने से रेड जोन पर दबाव और बढ़ जाएगा." 

तमिलनाडु और पश्चिम बंगाल सरकार भी कोरोना संकट को देखते हुए हवाई सेवाएं फिर से शुरू की योजना को आगे बढ़ाने की बात कह चुके हैं. शनिवार को नागर विमानन मंत्री ने अगले एक-दो महीने में अंतरराष्ट्रीय उड़ानें शुरू होने के संकेत भी दिए हैं. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

इस बीच, केंद्रीय स्वास्थ्य व परिवार कल्याण मंत्रालय ने इंटरनेशल फ्लाइट से आने वाले यात्रियों को लेकर रविवार को  नई गाइडलाइन जारी की, जिसके तहत, उन्हें 14 दिन तक क्वारंटाइन में रखने की शर्त को अनिवार्य बनाया गया है. गाइडलाइन में कहा गया है कि अंतरराष्ट्रीय उड़ानों से भारत आ रहे यात्रियों को 14 दिनों के लिए क्वारंटीन में रहना होगा. इसमें सात दिनों के लिए उन्हें सरकार की ओर से बनाए गए क्वारंटीन सेंटर में रखा जाएगा, जिसका खर्च यात्री खुद उठाएंगे. इसके बाद अगले सात दिनों के लिए उन्हें घर पर होम आइसोलेशन में रहना होगा.

वीडियो: घरेलू उड़ानों के लिए एयरपोर्ट पर तैयारियां शुरू