NDTV Khabar

यूपी में एक ग्लास दूध पीकर रोजा खोलेंगे रोजेदार, गाय को बचाने के लिए रमजान में पढ़ेंगे नमाज

आरएसएस की मुस्लिम शाखा मुस्लिम राष्ट्रीय मंच के राष्ट्रीय सह संयोजक महिराज ध्वज सिंह ने कहा कि पहली बार होगा कि रोजेदार भाई दूध पीकर रोजा खोलेंगे. उन्होंने कहा कि इस प्रयोग का मकसद रोजेदारों को गंभीर बीमारियों से बचाना है. मांसाहार से शरीर में कई तरह की बीमारियां हो जाती हैं, जबकि दूध हमारे अंदर के विकार को दूर करता है.

1.9K Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
यूपी में एक ग्लास दूध पीकर रोजा खोलेंगे रोजेदार, गाय को बचाने के लिए रमजान में पढ़ेंगे नमाज

श्रीनगर में पिछले साल आयोजित iftar पार्टी में बैठे रोजेदार. (प्रतीकात्मक फाइल फोटो)

खास बातें

  1. यूपी में इफ्तार पार्टी आयोजित करेगा आरएसएस की मुस्लिम शाखा
  2. इफ्तार पार्टी में रोजेदारों को चिकन, मटन की जगह दिया जाएगा दूध
  3. नमाज में गाय को बचाने के लिए की जाएगी दुआ
नई दिल्ली: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने नवरात्र में सीएम आवास में फलाहार पार्टी दी थी तो खूब सुर्खियां बनी थी, अब राष्ट्रीय स्वंय सेवक संघ की मुस्लिम शाखा (आरएसएस) रमजान के महीने में उत्तर प्रदेश में इफ्तार पार्टी आयोजित करेगा. इस इफ्तार पार्टी में रोजेदारों को मटन, चिकन नहीं परोसा जाएगा. यहां रोजेदारों को रोजा खोलने के लिए एक ग्लास दूध पीने दिया जाएगा. यानी रोजेदार एक ग्लास दूध पीकर रोजा खोलेंगे. पीटीआई की खबर के मुताबिक आरएसएस की मुस्लिम शाखा मुस्लिम राष्ट्रीय मंच के राष्ट्रीय सह संयोजक महिराज ध्वज सिंह ने कहा कि पहली बार होगा कि रोजेदार भाई दूध पीकर रोजा खोलेंगे. उन्होंने कहा कि इस प्रयोग का मकसद रोजेदारों को गंभीर बीमारियों से बचाना है. मांसाहार से शरीर में कई तरह की बीमारियां हो जाती हैं, जबकि दूध हमारे अंदर के विकार को दूर करता है.

उन्होंने कहा कि इस बार रमजान में मुस्लिम गायों को बचाने के लिए रोजा भी पढ़ेंगे. नमाज के दौरान गायों की सुरक्षा के लिए दुआ मांगी जाएगी. मुस्लिम राष्ट्रीय मंच का कहना है कि इस दौरान देश की एकता और अखंडता के लिए भी नमाज पढ़ा जाएगा. इस पहल का पसमांदा मुस्लिम समाज के अध्यक्ष वसीम रैनी ने स्वागत किया है.

ये भी पढ़ें: यहां पूरे रमजान मस्जिदों से दागे जाते हैं तोप से गोले, इसी से पता चलता है इफ्तार-सहरी का समय

मालूम हो कि उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ की अगुवाई में बीजेपी की सरकार बनने के बाद अवैध बूचड़खानों को बंद कराने का दावा जा रहा है. अवैध बूचड़खानों के बंद होने से राज्य में मांस की कमी की भी बात सामने आई है, लेकिन सरकार ने स्पष्ट कर दिया है कि अैवध बूचड़खाने बर्दाश्त नहीं किए जाएंगे. अवैध बूचड़खानों पर कार्रवाई के दौरान मुख्यमंत्री आदित्यनाथ ने भी लोगों से मांसाहार छोड़कर शाकाहार को अपनाने की अपील की थी. 

अब आरएसएस की मुस्लिम शाखा बिना मांसाहार के इफ्तार पार्टी आयोजित करने जा रही है. मालूम हो कि मुस्लिमों को आरएसएस से जोड़ने के लिए साल 2002 में  केएस सुदर्शन ने मुस्लिम राष्ट्रीय मंच बनाई थी. इस साल 27 मई से 24 जून तक रमजान का महीना होने की बात कही जा रही है.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement