NDTV Khabar

विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान का हुआ तबादला, 'वीर चक्र' देने के लिए सिफारिश

अभिनंदन को पाकिस्तान ने 27 फरवरी को भारतीय वायुसेना के साथ हुई हवाई झड़प के दौरान पकड़ लिया था, श्रीनगर से पश्चिमी सेक्टर के दूसरे बेस में किया स्थानांतरण

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान का हुआ तबादला, 'वीर चक्र' देने के लिए सिफारिश

विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान का श्रीनगर से तबादला कर दिया गया है और वायुसेना ने उन्हें वीर चक्र दिए जाने की सिफारिश की है.

खास बातें

  1. भारतीय वायुसेना अभिनंदन का 'वीर चक्र' से सम्मान चाहती है
  2. वायुसेना के पायलट अभिनंदन का हुआ श्रीनगर से बाहर तबादला
  3. पश्चिमी क्षेत्र में एक अग्रिम वायुसेना अड्डे पर तैनात किया गया
नई दिल्ली:

पाकिस्तान के एफ16 लड़ाकू विमान को मार गिराने वाले विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान का श्रीनगर से बाहर तबादला कर दिया गया है. उन्हें पश्चिमी क्षेत्र में एक अग्रिम वायुसेना अड्डे पर तैनात किया गया है. भारतीय वायुसेना ने अभिनंदन को 'वीर चक्र' से सम्मानित करने के लिए सिफारिश भेजी है.

आधिकारिक सूत्रों ने शनिवार को उक्त जानकारी दी. वायुसेना ने अभिनंदन के नाम की सिफारिश ‘वीर चक्र' के लिए की है. वीर चक्र युद्धकाल के लिए एक वीरता पदक है और परमवीर चक्र तथा महावीर चक्र के बाद इसका स्थान आता है.
उल्लेखनीय है कि अभिनंदन को पाकिस्तान ने 27 फरवरी को भारतीय वायुसेना के साथ हुई हवाई झड़प के दौरान पकड़ लिया था. हालांकि उसने बाद में उन्हें स्वदेश भेज दिया था. वह पिछले महीने श्रीनगर में अपने स्कवाड्रन में लौटे थे. सूत्रों ने बताया कि उनका श्रीनगर से पश्चिमी सेक्टर के दूसरे बेस में तबादला करने का आदेश जारी किया गया है और इस कदम को नियमित प्रक्रिया बताया गया है.

वायुसेना के पायलट अभिनंदन मध्य मार्च में अवकाश पर चले गए थे. सूत्रों ने बताया कि एक मेडिकल बोर्ड उनकी फिटनेस की समीक्षा करेगा, ताकि वायुसेना के शीर्ष अधिकारियों को यह फैसला करने में मदद मिल सके कि क्या वह ‘‘फाइटर कॉकपिट'' में लौट सकते हैं, जिसकी अभिनंदन ने इच्छा जताई है.


पाकिस्तान के F-16 को मार गिराने वाले जांबाज अभिनंदन श्रीनगर अपने स्क्वाड्रन लौटे

पाकिस्तान के अंदर बालाकोट में जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी प्रशिक्षण शिविरों पर 26 फरवरी को भारतीय वायुसेना के बम गिराने के बाद भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव बढ़ गया था. इसके बाद पाकिस्तान ने जवाबी कार्रवाई करते हुए अगले ही दिन भारतीय सैन्य प्रतिष्ठानों को निशाना बनने की कोशिश की थी. जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकवादी हमले में सीआरपीएफ के 40 जवानों के शहीद होने के 12 दिन बाद भारतीय वायुसेना ने बालाकोट में आतंकी प्रशिक्षण ठिकानों पर बम गिराए थे.

VIDEO : विंग कमांडर अभिनंदन भारत लौटे

टिप्पणियां

(इनपुट भाषा से)



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement