NDTV Khabar

नीतीश कुमार का फ्लोर टेस्ट : विधानसभा में ऐसे हासिल किया जाता है विश्वास मत, ये हैं 3 तरीके

नीतीश कुमार को आज विधानसभा में बहुमत साबित करना होगा. नीतीश कुमार एनडीए की सरकार बनाने जा रहे हैं. बिहार में एनडीए की नई सरकार को आज विधानसभा में बहुमत साबित करना है.

343 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
नीतीश कुमार का फ्लोर टेस्ट : विधानसभा में ऐसे हासिल किया जाता है विश्वास मत, ये हैं 3 तरीके

बिहार विधानसभा में नीतीश का फ्लोर टेस्ट

नई दिल्ली: नीतीश कुमार को आज विधानसभा में बहुमत साबित करना होगा. नीतीश कुमार एनडीए की सरकार बनाने जा रहे हैं. बिहार में एनडीए की नई सरकार को आज विधानसभा में बहुमत साबित करना है. इसके लिए सुबह 11 बजे से विधानसभा का विशेष सत्र बुलाया गया है. शपथग्रहण से पहले बुधवार देर रात को नीतीश कुमार ने बीजेपी नेताओं के साथ राज्यपाल को 132 विधायकों के समर्थन का पत्र सौंपा था, जिसमें जेडीयू के 71, बीजेपी के 53, उपेंद्र कुशवाहा की राष्ट्रीय लोक समता पार्टी के 2, एलजेपी के 2, जीतनराम मांझी की पार्टी 'हम' के 1 और 3 निर्दलीय विधायक शामिल हैं. फ्लोर टेस्ट तीन तरीके से होता है. ध्वनिमत, संख्याबल, हस्ताक्षर के जरिए अपना मतदान दिखाया जाता है.

पढ़ें- लालू यादव के परिवार की मुश्किलें बढ़ीं, केस दर्ज, पूरे मामले को 12 प्वाइंट्स में जानें

1.ध्वनिमत
2.हैड काउंट या संख्याबल : जब सदस्य सदन में खड़े होकर अपना बहुमत दर्शाते हैं
3.लॉबी डिवीजन : यह तरीका सबसे पुख्ता माना जाता है. इसमें सदन के सदस्य लॉबी में जाते हैं और रजिस्टर में हस्ताक्षर करते हैं. हां के लिए अलग लॉबी और ना के लिए अलग लॉबी होती है. 

लालू की पार्टी में भी उठे बगावती सुर, विधायक महेश्वर यादव ने कहा, 'तेजस्वी को इस्तीफा दे देना चाहिए था'

बिहार विधानसभा
(कुल सीटें: 243)
जेडीयू- 71
आरजेडी-80
कांग्रेस-27

बीजेपी-53
एलजेपी-02
आरएलएसपी-02
हम-01

सीपीआई-एमएल-03
निर्दलीय-04
(बहुमत का आंकड़ा- 122)




Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement