...जब PM मोदी ने लोकसभा में ली कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी पर चुटकी, देखें VIDEO

Lok Sabha PM Modi Speech: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendr Modi) ने संसद के निचले सदन लोकसभा में राष्ट्रपति के अभिभाषण पर लाए गए धन्यवाद प्रस्ताव पर अपने भाषण के दौरान विपक्ष के नेता व कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी (Adhir Ranjan Chowdhury) पर चुटकी ली.

नई दिल्ली:

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendr Modi) ने संसद के निचले सदन लोकसभा में राष्ट्रपति के अभिभाषण पर लाए गए धन्यवाद प्रस्ताव पर अपने भाषण के दौरान विपक्ष के नेता व कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी (Adhir Ranjan Chowdhury) पर चुटकी ली. उन्होंने अपने शुरुआत के भाषण में कहा, ''माननीय अध्यक्ष जी, जब मैं माननीय अधीर रंजन चौधरी जी को देखता और सुनता हूं तो सबसे पहले किरण रिजिजू को बधाई देता हूं कि उन्होंने जो फिट इंडिया का अभियान चलाया है वह उनका बिल्कुल सटीक उदाहरण देते हैं. वह भाषण भी करते हैं और भाषण के साथ जिम भी करते हैं. यह फिट इंडिया को बल देने के लिए उसका प्रचार-प्रसार के लिए मैं माननीय सदस्य (अधीर रंजन चौधरी) का धन्यवाद करता हूं.''

केंद्र सरकार में 6.83 लाख पद हैं खाली, इस साल UPSC, SSC, RRB करेंगे 1.34 लाख भर्तियां

बता दें कि पीएम मोदी ने गुरुवार को लोकसभा को संबोधित करते हुए कांग्रेस पर निशाना साधा. पीएम मोदी ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि  लोगों ने सिर्फ एक सरकार बदली है, केवल ऐसा नहीं है, बल्कि सरोकार भी बदलने की अपेक्षा की है. उन्होंने कहा कि हम भी आप लोगों के रास्ते पर चलते, तो शायद 70 साल के बाद भी इस देश से अनुच्छेद 370 नहीं हटता. आपके ही तौर-तरीके से चलते, तो मुस्लिम महिलाओं को तीन तलाक की तलवार आज भी डराती.


थलसेना प्रमुख जनरल मनोज मुकुंद नरवणे बोले- पाकिस्तान आतंकवादियों को भारत में घुसाने के लिए बेताब, लेकिन...

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


पीएम मोदी ने कहा, ''21वीं सदी के तीसरे दशक का माननीय राष्ट्रपति जी का वक्तव्य हम सभी को दिशा व प्रेरणा देने वाला और देश के लोगों में विश्वास पैदा करने वाला है. इस चर्चा में सदन के सभी माननीय सदस्यों ने बहुत ही अच्छे ढंग से अपने विचार रखे हैं. एक स्वर ये उठा है कि सरकार को सारे कामों की जल्दी क्यों है? हम सारे काम एक साथ क्यों कर रहे हैं? सर्वेश्वर दयाल सक्सेना जी ने अपनी कविता में लिखा है कि- 'लीक पर वे चलें, जिनके चरण दुर्बल और हारे हैं, हमें तो जो हमारी यात्रा से बने, ऐसे अनिर्मित पथ ही प्यारे हैं.''