पीएम मोदी की नीतीश कुमार के साथ रैली को लेकर चिराग पासवान ने क्यों कहा "Thank You"

पिछले हफ्ते चिराग पासवान ने नाटकीय ढंग से खुद को पीएम मोदी के लिए "हनुमान" घोषित किया, यह कहते हुए कि उनकी छवि उनके दिल में हैं,

पीएम मोदी की नीतीश कुमार के साथ रैली को लेकर चिराग पासवान ने क्यों कहा

पटना:

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) ने एनडीए के सहयोगी और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) के साथ बिहार में शुक्रवार को तीन रैलियों को संबोधित किया और उन्होंने जो नहीं कहा वह सबने देखा. चिराग पासवान (Chirag Paswan) केंद्र में राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) के साथी हैं जो बिहार चुनाव में नीतीश कुमार के खिलाफ लड़ रहे हैं, हालांकि पीएम मोदी और बीजेपी के प्रति निष्ठा का संकल्प उन्होंने कई बार किया और उसे दर्शाया भी.

शुक्रवार को पीएम मोदी ने भी अपनी चुनाव रैली में पूर्व केंद्रीय मंत्री और चिराग के पिता रामविलास पासवान का जिक्र किया जिनका इस महीने की शुरुआत में देहांत हो गया था.

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, "साथियों हाल ही में बिहार ने अपने दो सपूतों को खोया है. मैं राम विलास पासवान जी को श्रद्धाजंलि अर्पित करता हूं, जो आखिरी सांस तक मेरे साथ रहे. उन्होंने गरीबों, दलितों के उत्थान के लिए अपना पूरा जीवन समर्पित कर दिया." 

यह भी पढ़ें- पीएम मोदी ने रामविलास पासवान के लिए कही ये बड़ी बात तो भावुक हुए चिराग ने ट्वीट कर कहा...

आदरणीय प्रधानमंत्री जी बिहार आते हैं और पापा को एक सच्चे साथी के जैसे श्रधांजलि देते है. यह कहना की पापा की आख़री साँस तक वे साथ थे मुझे भावुक कर गया।एक बेटे के तौर पर स्वाभाविक है पापा के प्रति प्रधानमंत्री जी का यह स्नेह व सम्मान देख कर अच्छा लगा. प्रधानमंत्रीजी का धन्यवाद. 

अगर इन दिनों नीतीश कुमार, चिराग पासवान के मुख्य निशाने पर हों, तो पीएम मोदी से एलजेपी के बिहार में एनडीए का हिस्सा नहीं होने या कम से कम बीजेपी द्वारा मुख्यमंत्री पर छोटे पासवान के हमलों की निंदा करने के बारे में कोई स्पष्टीकरण देने की अपेक्षा की जाती थी, आज ऐसा नहीं हुआ.

चिराग पासवान के हमले दिन प्रति दिन बढ़ते जा रहे हैं, जो कि नीतीश कुमार के लिए बेहद परेशान करने वाले हैं. जो बिहार में चौथे सीधे कार्यकाल के लिए मैदान में है और उन्हें जनता के गुस्से से जूझता देखा जा रहा है. 

बीजेपी ने पासवान पर सीधा वार न करते हुए ढीले हाथ से चाकू दूसरी तरफ घूमा दिया. 

पिछले हफ्ते चिराग पासवान ने नाटकीय ढंग से खुद को पीएम मोदी के लिए "हनुमान" घोषित किया, यह कहते हुए कि उनकी छवि उनके दिल में हैं, उनका सीना चीर के देखेंगे तो उसमें पीएम मोदी दिखेंगे. हालांकि बिहार में भाजपा नेताओं ने पासवान की आलोचना की और यहां तक कि उन्हें अपने अभियान में प्रधानमंत्री का उपयोग करने के खिलाफ "चेतावनी" दी.

नीतीश कुमार को खुश करने के लिए दिल्ली में बीजेपी नेतृत्व को भी सार्वजनिक रूप से एलजेपी नेता को एनडीए का हिस्सा नहीं बताने के लिए कहा गया. .हफ्तों से अटकलें लगाई जा रही हैं कि भाजपा गुप्त रूप से पासवान का समर्थन कर रही है, ताकि बिहार चुनाव के नतीजों के बाद नीतीश कुमार को रोककर रखने के लिए एक पलटवार के रूप में उनका इस्तेमाल किया जा सके.

Newsbeep

'विरोधियों ने सत्ता का इस्तेमाल तिजोरी भरने के लिए किया : PM मोदी

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com