PM मोदी के शपथ ग्रहण समारोह में नहीं पहुंचे शरद पवार, आखिर किस बात से थे नाराज?

राकांपा अध्यक्ष शरद पवार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के शपथ ग्रहण कार्यक्रम में तय प्रोटोकॉल के अनुरूप सीट नहीं मिलने के कारण शामिल नहीं हुए.

PM मोदी के शपथ ग्रहण समारोह में नहीं पहुंचे शरद पवार, आखिर किस बात से थे नाराज?

शरद पवार (फाइल फोटो)

खास बातें

  • PM मोदी के शपथ ग्रहण समारोह में नहीं दिखे पवार
  • आखिर किस बात थे नाराज
  • एनसीपी नेता ने बताया
नई दिल्ली:

राकांपा अध्यक्ष शरद पवार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के शपथ ग्रहण कार्यक्रम में तय प्रोटोकॉल के अनुरूप सीट नहीं मिलने के कारण शामिल नहीं हुए. पार्टी ने गुरुवार को यह जानकारी दी. राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के प्रवक्ता नवाब मलिक ने नाराजगी व्यक्त करते हुए कहा कि पवार वरिष्ठ राष्ट्रीय नेता हैं और वह मुख्यमंत्री और केंद्रीय मंत्री के रूप में कार्य कर चुके हैं. उन्होंने कहा कि पवार के कार्यालय कर्मियों ने पाया कि पवार को बैठने के लिए जो सीट दी गई है वह प्रोटोकॉल के अनुसार नहीं है. इसलिए वह (शरद पवार) कार्यक्रम में शामिल नहीं हुए. मीडिया रिपोर्टों के अनुसार इस 78 वर्षीय नेता को पांचवीं पंक्ति में सीट दी गई थी.

मोदी कैबिनेट में अनुभव के साथ दिखेगी युवा शक्ति, मंत्रियों के किए नाम फाइनल, देखें पूरी लिस्ट

नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने गुरुवार को ऐतिहासिक जीत के बाद लगातार दूसरी बार प्रधानमंत्री पद की शपथ ली. राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद (Ram Nath Kovind) ने पीएम मोदी (PM Modi) को पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई. नई सरकार में पीएम मोदी सहित 25 कैबिनेट मंत्री, 9 राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार और 24 राज्य मंत्रियों ने शपथ ली. 

PM मोदी के कैबिनेट में किस सहयोगी पार्टी को मिलेंगे कितने मंत्री पद? संख्या के हिसाब से तय हुआ कोटा

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

बता दें कि लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Election) में प्रचंड जीत के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi Cabinet) ने दूसरे कार्यकाल के लिए शपथ लेने से पहले अपनी मंत्रिपरिषद को व्यवस्थित रूप देने के लिए BJP अध्यक्ष अमित शाह (Amit Shah) के साथ कई दौर की वार्ता की. पीएम मोदी के कैबिनेट में इस बार अनुभव के साथ ही युवा शक्ति पर भी जोर दिया गया है. पीएम मोदी और अमित शाह की बैठक के बाद संभावित मंत्रियों को फोन करके पीएम मोदी से मिलने के लिए बुलाया गया था.

(इनपुट भाषा से भी)