NDTV Khabar

कर्मचारियों को तनाव मुक्त रखने के लिए सरकारी और कॉर्पोरेट ऑफिसों में शुरू किया जा सकता है योगा ब्रेक

इस योगावकाश में कुछ हल्के व्यायामों को शामिल किया जाता है जो पांच मिनट के दौरान आसानी से किये जा सकते हैं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
कर्मचारियों को तनाव मुक्त रखने के लिए सरकारी और कॉर्पोरेट ऑफिसों में शुरू किया जा सकता है योगा ब्रेक

सरकारी संस्थानों, कार्पोरेट कार्यालयों में योगा ब्रेक की शुरूआत की जा सकती है.

खास बातें

  1. सरकारी, कॉर्पोरेट कार्यालयों की दिनचर्या में योगा ब्रेक शामिल हो सकता है
  2. कर्मचारियों का तनाव दूर करने के लिए की जा सकती है पहल
  3. आयुष मंत्रालय ने वाई-ब्रेक का परीक्षण शुरू किया
नई दिल्ली:

सरकारी संस्थानों और कॉर्पोरेट कार्यालयों की दिनचर्या में जल्दी ही व्यायाम के लिए पांच मिनट का योगावकाश या वाई- ब्रेक शामिल किया जा सकता है ताकि पेशेवरों का तनाव दूर किया जा सके और वे तरोताज़ा होकर काम कर सकें. आयुष मंत्रालय (Ministry of AYUSH ) ने प्रतिष्ठित योग विशेषज्ञों के सुझाव और मोरारजी देसाई राष्ट्रीय योग संस्थान के जरिए ये कार्यक्रम विकसित किया है. आयुष मंत्रालय ने सोमवार को वाई-ब्रेक का परीक्षण शुरू किया.

How To Lose Belly Fat: तेजी से घटाना है वजन और मोटापा, तो ये 3 योगासान करेंगे कमाल, कम होगी पेट की चर्बी

मंत्रालय के एक अधिकारी ने बताया कि टाटा केमिकल्स, एक्सिस बैंक, अर्न्स्ट एंड यंग ग्लोबल कंसल्टिंग सर्विसेज जैसे कई कॉरपोरेट घरानों सहित लगभग 15 संस्थानों ने इस कवायद में शामिल होने के लिए स्वेच्छा से हामी भरी है. इस योगावकाश में कुछ हल्के व्यायामों को शामिल किया जाता है जो पांच मिनट के दौरान आसानी से किये जा सकते हैं. आयुष मंत्रालय ने पहले सरकारी संस्थानों और अन्य कॉर्पोरेट निकायों को अपने कर्मचारियों के लिए 30 मिनट का अनिवार्य योगाभ्यास शुरू करने के लिए कहा था.

टिप्पणियां

Health Tips: सर्दियों में स्वास्थ्य के लिए रामबाण हैं ये 4 टिप्स! आजमा लिए तो होंगे कई फायदे


एक अधिकारी ने कहा कि वाई-ब्रेक योग का कोई पाठ्यक्रम नहीं है बल्कि बहुत ही संक्षिप्त परिचयात्मक मॉड्यूल है. इसे विकसित करने की प्रक्रिया लगभग तीन महीने पहले शुरू हुई थी तथा 10 प्रसिद्ध योग चिकित्सकों और विशेषज्ञों के एक मुख्य समूह ने इसे तैयार किया.



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें. India News की ज्यादा जानकारी के लिए Hindi News App डाउनलोड करें और हमें Google समाचार पर फॉलो करें


 Share
(यह भी पढ़ें)... स्कूल में बच्चे ने 'मेरे पिता' पर लिखा ऐसा निबंध, बोला- 'पापा मर गए, हम खूब रोए...' पढ़कर मंत्री जी ने किया ऐसा

Advertisement