NDTV Khabar

तीन टुकड़े होने से बचने के लिए गिड़गिड़ाते हुए अमेरिका के पास गया पाक: योगी आदित्यनाथ

योगी आदित्यनाथ ने कहा, '26 जुलाई 1999 को सेना ने पाक को पीछे हटने को मजबूर किया था. पाकिस्तान को भय हो गया था कि 1971 में उसके दो टुकड़े किया था.'

3256 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
तीन टुकड़े होने से बचने के लिए गिड़गिड़ाते हुए अमेरिका के पास गया पाक: योगी आदित्यनाथ

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का पाकिस्तान पर जोरदार हमला.

खास बातें

  1. करगिल विजय दिवस पर सीएम योगी का पाक पर हमला
  2. कहा, इस बार जंग हुई तो पाकिस्तान के तीन टुकड़े होंगे
  3. कहा, डर के मारे अमेरिका के पास गया है पाकिस्तान
नई दिल्ली: कारगिल विजय दिवस की 18वीं बरसी पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पाकिस्तान पर जोरदार हमला किया है. योगी आदित्यनाथ ने कहा अगर इस बार भारत से जंग हुई तो पाकिस्तान के तीन टुकड़े हो जाएंगे. न्यूज एजेंसी एएनआई के मुताबिक योगी आदित्यनाथ ने कहा, '26 जुलाई 1999 को सेना ने पाक को पीछे हटने को मजबूर किया था. पाकिस्तान को भय हो गया था कि 1971 में उसके दो टुकड़े किया था.' यूपी के सीएम ने आगे कहा, 'कहीं पाकिस्तान के तीन टुकड़े ना हो जाए, इसलिए वह गिड़गिड़ते हुए अमेरिका के पास गया है.'

ये भी पढ़ें: एम्स के डाक्टरों की टीम ने जीत लिया कारगिल का दिल

युद्ध में भारत की विजय के 18 साल पूरे: 26 जुलाई को कारगिल युद्ध में भारत की विजय के 18 साल पूरे हो रहे हैं. 1998 की सर्दियों में ही कारगिल की ऊंची पहाडि़यों पर पाकिस्‍तानी घुसपैठियों ने कब्‍जा जमा लिया था. 1999 की गर्मियों की शुरुआत में जब सेना को पता चला तो सेना ने उनके खिलाफ ऑपरेशन विजय चलाया. करीब 18 हजार फीट की ऊंचाई पर कारगिल में लड़ी गई इस जंग में 527 भारतीय जवान शहीद हुए थे. वह सैन्‍य ऑपरेशन आठ मई को शुरू हुआ और 26 जुलाई को खत्म हुआ. इस सैन्‍य कार्रवाई में सेना के 527 जवान शहीद हुए तो करीब 1363 घायल हुए. वैसे इस लड़ाई में पाकिस्तान मानता है कि उसके करीब 357 सैनिक मारे गए थे लेकिन वास्तव में इस युद्ध में पाकिस्तान के करीब तीन हजार जवान मारे गए थे.

ये भी पढ़ें: 'हम दोबारा करगिल नहीं होने देंगे'

16 हजार से 18 हजार फीट की ऊंचाई हुई थी लड़ाई: 11 मई से भारतीय वायुसेना भी इस जंग में शामिल हो गई थी लेकिन उसने कभी एलओसी पार नहीं की. वायुसेना क लड़ाकू विमान मिराज, मिग-21, मिग 27 और हेलीकॉप्टर ने पाकिस्तानी घुसपैठियों की कमर तोड़ दी. करीब 16 हजार से 18 हजार फीट की ऊंचाई पर यह लड़ाई लड़ी गई. करीब दो महीने तक चला कारगिल युद्ध भारतीय सेना के साहस और ताकत का ऐसा उदाहरण है जिस पर हर हिन्दुस्तानी को गर्व है.

वीडियो: दिलीप कुमार का कारगिल कनेक्शन?


 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement