NDTV Khabar

अब UPSC के पैटर्न पर होगी पंजाब सिविल सर्विसेज की परीक्षा

पंजाब सिविल सर्विसेज परीक्षा UPSC के पेपर पैटर्न पर होगी. इसकी घोषणा पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने की है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
अब UPSC के पैटर्न पर होगी पंजाब सिविल सर्विसेज की परीक्षा

पंजाब सरकार पिछले कई हफ्तों से सिविस सर्विसेज परीक्षा में बदलावों के लिए काम कर रही है.

नई दिल्ली:

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह (Amarinder Singh) ने सोमवार को कहा कि राज्य की सिविल सर्विसेज (Punjab Civil Services) की परीक्षा में संघ लोक सेवा आयोग का पैटर्न (UPSC Exam Pattern) अपनाया जाएगा. इसका उद्देश्य पंजाब सिविल सेवा के अभ्यर्थियों के लिए सामान्य श्रेणी में मौजूदा चार से छह और पिछड़ा वर्ग (बीसी) (एसटी) के लिए नौ की अनुमति संख्या में वृद्धि करना है. अनुसूचित जाति (एससी) श्रेणी के उम्मीदवारों के लिए प्रयासों की संख्या की कोई सीमा नहीं होगी. एससी वर्ग के लिए आयु सीमा 42 वर्ष होगी. सामान्य और बीसी/अन्य पिछड़ा वर्ग (ओबीसी) श्रेणियों के लिए यह यूपीएससी के नियमों के अनुसार क्रमशः 37 और 40 वर्ष होगी. इसकी घोषणा विधानसभा में की गई है.

विधायक लखवीर सिंह लाखा द्वारा उठाए गए एक सवाल का जवाब देते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार पिछले कई हफ्तों से बदलावों पर काम कर रही है. अमरिंदर सिंह ने कहा कि मौजूदा पंजाब सिविल सेवा (कंबाइंड कॉम्पिटिटिव एग्जामिनेशन द्वारा अपॉइंटमेंट) नियम, 2009 के अनुसार, पहले सभी श्रेणियों के उम्मीदवारों के पास पंजाब सिविल सेवा परीक्षा में बैठने के लिए चार मौके थे.

उन्होंने कहा कि पंजाब सिविल सर्विस (कंबाइंड कॉम्पिटिटिव एग्जामिनेशन द्वारा अपॉइंटमेंट) नियम लागू होने से पहले सभी श्रेणियों के उम्मीदवारों के पास प्रयासों की कोई सीमा नहीं थी.


अन्य खबरें
Sarkari Naukri: इन 4 केंद्रीय अस्पतालों में नर्सिंग ऑफिसर के 852 पदों पर निकली वैकेंसी, जानिए डिटेल
RRB Paramedical Answer Key: रेलवे पैरामेडिकल परीक्षा की आंसर-की जारी, इस डायरेक्ट लिंक से करें डाउनलोड

टिप्पणियां



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement