Khabar logo, NDTV Khabar, NDTV India

कंपनी में कुछ यूं आएगा तनावमुक्त महौल, बेहतर होगा काम...

आप अगर कंपनियां अपने कर्मचारियों को खुश रखना चाहती हैं, तो उन्हें अत्यधिक कामकाज के माहौल में अपने कर्मियों को तनाव मुक्त रहने में मदद करनी चाहिए.

ईमेल करें
टिप्पणियां
कंपनी में कुछ यूं आएगा तनावमुक्त महौल, बेहतर होगा काम...
आप किसी कंपनी में काम करते हैं और वहां के माहौल से परेशान हैं, तो यकीनन आपके काम पर भी असर होगा. अगर कर्मचारी तनावमुक्त होंगे, तो उसी समय में वे अधि‍क काम कर कंपनी को मुनाफे की ओर ले जा सकते हैं. लेकिन ऑफिस पॉलिटिक्स और तनाव उनके काम की गति का धीमा कर देता है. आप अगर कंपनियां अपने कर्मचारियों को खुश रखना चाहती हैं, तो उन्हें अत्यधिक कामकाज के माहौल में अपने कर्मियों को तनाव मुक्त रहने में मदद करनी चाहिए. अपने कर्मियों को समय-समय पर सिर व पैर की मालिश की सुविधा और कॉफी-ब्रेक देकर खुश रख सकते हैं. कुछ टिप्स जिन्हें अपनाकर कंपनियां अपने कर्मचारियों को दे सकती हैं तनावमुक्त माहौल... 

पैर की रिफ्लेक्सोलॉजी यानी तनाव कम करने के लिए दी जाने वाली मालिश की एक प्रक्रिया या सिर की मालिश तुरंत एक तनावपूर्ण कमकाजी दिन को खुशनुमा कर सकती है. भारत में कई कंपनियां अब अपने कर्मचारियों को खुश रखने के लिए 'कॉरपोरेट पेंपर डेस' या 'एप्रीशियेशन डेस' जैसी गतिविधियां आयोजित कर रही हैं. इस तरह की पहल कार्यस्थल पर मनोबल बढ़ाने और उत्पादकता में वृद्धि करने में मदद करती है. 

ऑफिस पॉटलक : यह एक उत्कृष्ट टीम-निर्माण गतिविधि है, जिसमें कर्मियों को खाना पकाने और अपनी प्रस्तुति के आधार पर ब्राउनी अंक मिलते हैं.

चिल्ड-आउट वर्कप्लेस : कार्यालय के अंदर कुछ खेलों का आयोजन कर्मियों के लिए बेहद मददगार हो सकता है. समय-समय पर ऐसी गतिधियां कर्मियों को तनाव मुक्त रखने के लिए बेहद मददगार हैं. 

कॉफी या चाय अंतराल : तनाव मुक्त होने के लिए सर्वश्रेष्ठ तरीकों में शामिल है कि कोई आपसे आपके गुजर रहे दिन के बारे में बात करे. कामकाज, घर की समस्याओं या फिर केवल गपशप कर भी अपनी परेशानियों और तनाव को कुछ हद तक कम किया जा सकता है. 

'कॉफी ब्रेक बडीज' तनाव मुक्त करने के लिए सबसे अच्छे साथी साबित हो सकते हैं, जो आपकी जरूरत के मुताबिक आपसे बात करने के लिए कैफेटेरिया में आते हैं. ये लोग ध्यान रखते हैं कि कोई व्यक्ति कभी अकेला, बोर या भूखा न हो. 

संगीत : यह मस्तिष्तक, आत्मा और शरीर को तनाव मुक्त रखने और सुकून पहुंचाने के सबसे अच्छे तरीकों में से एक है. ऐसे कामकाजी स्थलों में जहां कर्मियों को संगीत सुनाया जाता है या फिर वहां हल्का और मंद संगीत बजता रहता है, वहां कर्मी अत्यधिक बेहतर और आराम की स्थिति में रहते हैं. म्यूजिक थेरेपी को भी तनाव दूर करने के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है. 

इनपुट आईएएनएस से

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement

 
 

Advertisement