NDTV Khabar

प्रेग्नेंसी में पैरासिटामॉल लेना हो सकता है खतरनाक, जानिए क्या होता है नुकसान

पैरासिटामॉल और आईब्यूफेन जैसी दवाएं, हॉर्मोन प्रोस्टैग्लैडिन ई2 के स्राव में हस्तक्षेप करते हैं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
प्रेग्नेंसी में पैरासिटामॉल लेना हो सकता है खतरनाक, जानिए क्या होता है नुकसान

प्रेग्नेंसी के दौरान पैरासिटामॉल लेना सेहत के लिए खतरनाक

टिप्पणियां
जब भी कभी मामूली बुखार या बदन दर्द करता है तो लोग पैरासिटामॉल का इस्तेमाल करते हैं. यह इस समस्या में काफी कारगर भी साबित होती है. लेकिन अगर इसे कोई प्रेग्नेंट महिला खाए तो यह काफी खतरनाक भी साबित हो सकता है. हालिया रिसर्च में खुलासा हुआ है कि जो महिलाएं गर्भावस्था के दौरान पैरासिटामॉल लेती हैं, उनके होने वाले बच्चे की प्रजनन क्षमता को इससे काफी नुकसान पहुंच सकता है. जिससे बच्चे को काफी गंभीर समस्या का सामना करना पड़ सकता है.

यह होती है समस्या
स्कॉटलैंड के एडिनबर्ग विश्वविद्यालय के वैज्ञानिकों ने एक हफ्ते तक प्रयोगशाला में मानव अंडाशय को पैरासिटामॉल के संपर्क में रखकर  पाया कि करीब 40 फीसदी अंडाणु कोशिकाएं मृत हो गईं. डेली मेल ने शोधकर्ताओं के हवाले से कहा कि यदि यह प्रभाव गर्भाशय पर पड़ता है तो इसका मतलब है कि आमतौर पर इस दवा के संपर्क में आने वाली लड़कियों में अंडे कम होंगे. इससे उन्हें गर्भधारण के लिए कुछ साल ही मिल पाएंगे और जल्दी रजोनिवृत्ति हो सकती है. 
 
क्या करती हैं दवाएं
पैरासिटामॉल और आईब्यूफेन जैसी दवाएं, हॉर्मोन प्रोस्टैग्लैडिन ई2 के स्राव में हस्तक्षेप करते हैं. यह हॉर्मोन भ्रूण के प्रजजन तंत्र के विकास में अहम भूमिका निभाता है. एडिनबर्ग विश्वविद्यालय के प्रोफेसर रिचर्ड शार्पे ने कहा, 'यह शोध पैरासिटामॉल या आईब्यूफेन लेने के संभावित खतरों को बताता है. हालांकि, हमें इसके सही असर के बारे में नहीं पता है कि यह मानव स्वास्थ्य पर क्या और किस हद तक असर डालता है या इसकी कितनी मात्रा प्रजनन क्षमता पर असर डालती है. 
 
लाइफस्टाइल की अन्य खबरों के लिए क्लिक करें



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement