NDTV Khabar

इस राज्‍य की सरकार दुल्हनों को फ्री में देगी 1 तोला सोना, दफ्तरों में रखे जाएंगे सैनिटरी नैप्‍किन

इस स्कीम के अंदर वही परिवार आएंगे जो आर्थिक रूप से कमजोर हैं. आपको बता दें, यह स्कीम इस साल के राज्य बजट में प्रस्तावित थी. 

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
इस राज्‍य की सरकार दुल्हनों को फ्री में देगी 1 तोला सोना, दफ्तरों में रखे जाएंगे सैनिटरी नैप्‍किन

असम सरकार दुल्हनों को मुफ्त में देगी 1 तोला सोना

खास बातें

  1. असम सरकार का अहम फैसला
  2. दुल्हनों को मुफ्त में देगी 1 तोला सोना
  3. कैबिनेट की बैठक में मुख्यमंत्री सोनोवाल ने की घोषणा
गुवाहाटी:

असम सरकार ने एक अहम फैसला लेते हुए अरुंधति स्कीम (Arundhati Scheme) के तहत दुल्हनों को 1 तोला सोना मुफ्त दोने की घोषणा की है. गुवाहाटी में मंगलवार शाम हुई कैबिनेट की बैठक में मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल (Sarbananda Sonowal) ने इस स्कीम को हरी झंडी दिखाते हुए 1 तोला सोना (11.66 ग्राम) दुल्हन के माता पिता को मुफ्त में देने की घोषणा की है. हालांकि, इस स्कीम के अंदर वही परिवार आएंगे जो आर्थिक रूप से कमजोर हैं. आपको बता दें कि यह स्कीम इस साल के राज्य बजट में प्रस्तावित थी. 

यह भी पढ़ें: वरमाला के बाद दूल्हे ने किया Nagin Dance, देखकर शादी तोड़कर भागी दुल्हन

बाल विवाह निषेध अधिनियम के तहत अरुंधति योजना का मुख्य उद्देश्य राज्य में बाल विवाह की संख्या को कम करना है. बाल विवाह निषेध अधिनियम के मुताबिक भारत में किसी भी लड़की की शादी 18 साल की उम्र से पहले और लड़के की शादी 21 साल की आयु से पहले नहीं हो सकती. इस वजह से अरुंधति योजना का लाभ, औपचारिक पंजीकरण के जरिए असम के विशेष विवाह नियम 1954 के तहत लिया जा सकता है. 


हालांकि, इस योजना का लाभ किसी भी जाति, पंथ, धर्म आदि से अलग वही परिवार ले सकते हैं जिनकी सालाना आय 5 लाख से कम है. 

टिप्पणियां

यह भी पढ़ें: पाकिस्तान में दुल्हन ने शादी में पहने गहने की जगह टमाटर, देखें Video

कैबिनेट की इस बैठक में सरकार ने सभी कार्यालयों और उद्योगों में अनिवार्य रूप से सैनिटरी नैप्किन रखे जाने का भी फैसला लिया है. ये फैसला कार्यस्थल पर महिलाओं में व्यक्तिगत साफ-सफाई को बढ़ावा देने के लिए लिया गया है. 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


 Share
(यह भी पढ़ें)... उद्देश्य के लिए संघर्ष करने वाले लोग गांधीजी का अहिंसा का मंत्र सदैव याद रखें : गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्‍या पर राष्ट्रपति कोविंद

Advertisement