Chandra Grahan Sutak Time June 2020:: क्या है चंद्र ग्रहण का सूतक काल, कितने घंटे पहले लगता है सूतक

Chandra Grahan 2020: उपछाया चंद्र ग्रहण (Chandra Grahan) तब होता है जब सूरज और चांद के बीच पृथ्‍वी घूमते हुए आती है, लेकिन वे तीनों एक सीधी लाइन में नहीं होते. ऐसी स्थिति में चांद की छोटी सी सतह पर अंब्र (Umbra) नहीं पड़ती.

Chandra Grahan Sutak Time June 2020:: क्या है चंद्र ग्रहण का सूतक काल, कितने घंटे पहले लगता है सूतक

Chandra Grahan 2020: ग्रहण से 9 घंटे पहले शुरू होता है सूतक काल

नई दिल्ली:

Chandra Grahan 2020: 5 जून 2020 को साल का दूसरा चंद्र ग्रहण (Lunar Eclipse 2020) है. भारतीय समय के मुताबिक यह ग्रहण 05 जून की रात 11 बजकर 15 मिनट पर शुरू होगा और 06 जून की रात को 2 बजकर 32 मिनट पर समाप्त हो जाएगा. आपको बता दें, च्रंद या सूर्य ग्रहण किसी में भी ग्रहण के वक्त शुभ कार्य नहीं किए जाते हैं. वहीं साल का दूसरा चंद्र ग्रहण भी उपछाया चंद्र ग्रहण (Penumbra Lunar Eclipse) होगा. इसका मतलब यह है कि पूर्ण चंद्र ग्रहण के मुकाबले यह ग्रहण धुंधला होगा. 

क्या है चंद्र ग्रहण का सूतक काल (Chandra Grahan Ka Sutak Kaal)
दरअसल, सूतक काल उस वक्त को कहते हैं, जब ग्रहण लगने से पहले किसी भी तरह के शुभ कार्यों को रोक दिया है. आपको बता दें, सूतक काल ग्रहण लगने से 9 घंटे पहले शुरू होता और ग्रहण खत्म होने के ही साथ खत्म हो जाता है. सूतक काल, ग्रहण रात को 2 बजकर 32 मिनट पर खत्म होगा और इसके साथ ही सूतक काल भी खत्म हो जाएगा. 

हालांकि, यहां आपको बता दें कि 5 जून को उपछाया चंद्र ग्रहण होने की वजह से देशभर में किसी भी राज्य में सूतक काल मान्य नहीं होगा. 

Newsbeep

कितने प्रकार के होते हैं चंद्र ग्रहण
पूर्ण चंद्र ग्रहण,
आंशिक चंद्र ग्रहण, और
उपच्छाया चंद्र ग्रहण

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


क्या होता है उपछाया चंद्र ग्रहण?
उपछाया चंद्र ग्रहण (Chandra Grahan) तब होता है जब सूरज और चांद के बीच पृथ्‍वी घूमते हुए आती है, लेकिन वे तीनों एक सीधी लाइन में नहीं होते. ऐसी स्थिति में चांद की छोटी सी सतह पर अंब्र (Umbra) नहीं पड़ती. बता दें, पृथ्वी के बीच के हिस्से से पड़ने वाली छाया को अंब्र (Umbra) कहते हैं. चांद के बाकी हिस्‍से में पृथ्‍वी के बाहरी हिस्‍से की छाया पड़ती है, जिसे पिनम्‍ब्र या उपछाया (Penumbra) कहते हैं.