Coronavirus: कोलकाता में जन्मी मिस इंग्‍लैंड 2019 ने फिर संभाली डॉक्टर की जिम्मेदारी, COVID-19 मरीजों का कर रहीं इलाज

कुछ दिन पहले आयरलैंड के प्रधानमंत्री ने एक बार फिर से मेडिकल के क्षेत्र में काम करना शुरू कर दिया. लगातार कोरोनावायरस के बढ़ते मामलों को देखते हुए उन्होंने यह फैसला लिया.

Coronavirus: कोलकाता में जन्मी मिस इंग्‍लैंड 2019 ने फिर संभाली डॉक्टर की जिम्मेदारी, COVID-19 मरीजों का कर रहीं इलाज

भाषा मुखर्जी ने 2019 में मिस इंग्‍लैंड का ताज जीता था.

नई दिल्ली:

कोरोनावायरस (Coronavirus) के चलते दुनियाभर के कई देशों में लॉकडाउन कर दिया गया है. ऐसे में लोगों को अपने घरों में ही रहने की सलाह दी जा रही है. इसी बीच कुछ दिन पहले आयरलैंड के प्रधानमंत्री ने एक बार फिर से मेडिकल के क्षेत्र में काम करना शुरू कर दिया. लगातार कोरोनावायरस के बढ़ते मामलों को देखते हुए उन्होंने यह फैसला लिया. कोरोनावायरस (COVID-19) का सामना कर रहे देशों को ऐसे ही लोगों की जरूरत है और इसी के चलते मिस इंग्‍लैंड 2019 ने अपने क्राउन को साइड में रख एक बार फिर डॉक्टर के रूप में काम करने का फैसला किया है.

सीएनएन की एक रिपोर्ट के मुताबिक, कोलकाता में जन्म लेने वाली भाषा मुखर्जी पिछले साल मिस इंग्‍लैंड बनी थीं. हालांकि, वक्त की नजाकत को देखते हुए वह अपने क्राउन को साइड में रख लोगों की मदद के लिए आगे आई हैं और एक बार फिर डॉक्टर बन लोगों की सेवा कर रही हैं. भाषा मुखर्जी (Bhasha Mukherjee) कोरोनावायरस पीड़ितो का इलाज कर रही हैं. 

मिस इंग्‍लैंड का ताज जीतने से पहले भाषा मुखर्जी बोस्‍टन के एक अस्पताल में जूनियर डॉक्टर का काम करती थीं. हालांकि, ताज जीतने के बाद वह कई सारे चैरिटी से जुड़े कार्यों की एंबेस्डर के रूप में काम कर रही हैं और इस वजह से उन्हें विश्वभर में कई जगहों पर घूमना पड़ता है. हालांकि, कोरोनावायरस के बढ़ते मामलों को देख उन्होंने वापस डॉक्टर की जिम्मेदारी निभाने का फैसला किया और वह अपने पुराने साथियों के साथ स्थिति सुधारने के लिए काम कर रही हैं. 

भाषा मुखर्जी 9 साल की उम्र में अपने परिवार के साथ इंग्‍लैंड चली गईं थी और उसके बाद उनका परिवार वहीं सेटल हो गया था. कोरोनावायरस से इस जंग में सभी लोग एक साथ काम कर रहे हैं. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com