PM की रेस में मुलायम सिंह? अखिलेश यादव बोले- अच्छा होगा, अगर नेताजी को प्रधानमंत्री बनने का सम्मान मिले

अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने कहा, 'हमारा गठबंधन भारत को नया प्रधानमंत्री देना चाहता है. जब अंतिम नतीजे सामने आ जाएंगे, तब पार्टी प्रधानमंत्री पद के बारे में तय करेगी.'

PM की रेस में मुलायम सिंह? अखिलेश यादव बोले- अच्छा होगा, अगर नेताजी को प्रधानमंत्री बनने का सम्मान मिले

सपा प्रमुख अखिलेश यादव. (फाइल तस्वीर)

लखनऊ:

समाजवादी पार्टी के संस्थापक मुलायम सिंह यादव (Mulayam Singh Yadav) के प्रधानमंत्री पद की रेस में शामिल होने के सवाल पर उनके बेटे और सपा (Samajwadi Party) के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने जवाब में स्पष्ट तौर पर न तो ना कहा और ना ही हां कहा. न्यूज एजेंसी एएनआई को दिए इंटरव्यू में अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने कहा, 'हमारा गठबंधन भारत को नया प्रधानमंत्री देना चाहता है. जब अंतिम नतीजे सामने आ जाएंगे, तब पार्टी प्रधानमंत्री पद के बारे में तय करेगी. अच्छा होगा, यदि नेताजी को यह सम्मान मिलता है, लेकिन मुझे लगता है, वह संभवतः प्रधानमंत्री पद की दौड़ में शामिल नहीं हैं."

साथ ही उन्होंने कहा, 'मैं लोकसभा में SP के सांसदों की संख्या को बढ़ाना चाहता हूं. मैं उन लोगों में शुमार होना चाहता हूं, तो देश का नया प्रधानमंत्री बनाना चाहते हैं. मैं चाहता हूं कि केंद्र की अगली सरकार के गठन में उत्तर प्रदेश का योगदान हो.'

PM मोदी के खिलाफ वाराणसी से सपा ने बर्खास्त BSF जवान तेजबहादुर को क्यों उतारा, अखिलेश यादव ने किया खुलासा

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के BJP द्वारा SP और BSP को नियंत्रित किए जाने के दावे के बारे में यादव ने कहा, 'हमें कोई कंट्रोल नहीं करता. हम राजनैतिक दल हैं. SP, BSP और RLD का गठबंधन ही सत्तारूढ़ पार्टी को उत्तर प्रदेश में झटका देने जा रहा है. हमारा गठबंधन ही BJP की बुरी नीतियों पर रोक लगाएगा."

राजनैतिक विश्लेषकों द्वारा उत्तर प्रदेश के SP-BSP-RLD गठबंधन को कांग्रेस की 'बी' टीम बताए जाने के बारे में सपा प्रमुख ने कहा, BJP और कांग्रेस में कोई फर्क नहीं है. कांग्रेस दरअसल BJP को फायदा पहुंचाना चाहती है. किसने केंद्रीय एजेंसियों को विपक्षी नेताओं को डराना सिखाया. BJP ने कांग्रेस से ही विपक्षी नेताओं के खिलाफ ED, CBI तथा अन्य एजेंसियों का दुरुपयोग करना सीखा है.'

भारतीय सेना को दिखे Yeti के पैर के निशान, तो अखिलेश यादव बोले- हिममानव की तरह 'अच्छे दिन' भी ढूंढ़ने से नहीं मिल रहे

साथ ही अखिलेश यादव ने कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा के उसे दावे को खारिज किया है, जिसमें उन्होंने कहा था कि भाजपा के वोट काटने के लिए कांग्रेस ने कमजोर उम्मीदवार उतारे हैं. लेकिन अखिलेश यादव ने उनके दावे को नकारते हुए कहते हैं कि लोग उनके साथ नहीं हैं ऐसे में यह एक बहाना है. अखिलेश ने कहा, 'मुझे नहीं लगता कि कांग्रेस ने कहीं भी कमजोर उम्मीदवार उतारे हैं. किसी भी पार्टी ने ऐसा नहीं किया. लोग उनके साथ नहीं हैं. इसलिए वे ऐसे बहाने बना रहे हैं.'

बता दें, प्रियंका गांधी ने दावा किया था कि उत्तर प्रदेश में उनकी पार्टी ने जीतने वाले तथा मजबूत उम्मीदवार उतारे हैं और जो नहीं जीत पायेंगे वह राज्य में भाजपा को नुकसान पहुंचायेंगे. प्रियंका ने कहा था, ‘हमने उत्तर प्रदेश में मजबूत उम्मीदवार उतारे हैं. वैसे तो सब जीतेंगे और जो नहीं भी जीत रहे हैं, वे भाजपा का वोट काटेंगे.' उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने ऐसे उम्मीदवार उतारे हैं जो जीत सकते हैं अथवा जिनके पास राज्य में भाजपा की उम्मीदों को नुकसान पहुंचाने की क्षमता है. प्रियंका ने दावा किया कि कांग्रेस पार्टी लोकसभा चुनावों में बेहतर प्रदर्शन करने जा रही है और उत्तर प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी की बुरी तरह हार होने वाली है.

(इनपुट- एएनआई)

Newsbeep

ममता बनर्जी की भविष्यवाणी, उत्तर प्रदेश में इस बार 17 सीटें भी नहीं जीत पाएगी बीजेपी

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


Video: हमारा गठबंधन देश को नया पीएम देगा - अखिलेश यादव