NDTV Khabar

लोकसभा चुनाव 2019: बंगाल में अमित शाह के रोड शो में हिंसा से लेकर EC के सख्त कदम उठाने तक की 11 बड़ी बातें

लोकसभा चुनाव 2019: पश्चिम बंगाल में हिंसा होना नई बात नहीं है बल्कि ये राज्य पहले भी चुनावी हिंसा का शिकार हो चुका है. मंगलवार को बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के रोड शो के दौरान जो हिंसा हुई, उसके लिए बीजेपी और तृणमूल ने एक-दूसरे पर गंभीर आरोप लगाए हैं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
लोकसभा चुनाव 2019: बंगाल में अमित शाह के रोड शो में हिंसा से लेकर EC के सख्त कदम उठाने तक की 11 बड़ी बातें
नई दिल्ली: पश्चिम बंगाल में हिंसा होना नई बात नहीं है बल्कि ये राज्य पहले भी चुनावी हिंसा का शिकार हो चुका है. मंगलवार को बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के रोड शो के दौरान जो हिंसा हुई, उसके लिए बीजेपी और तृणमूल ने एक-दूसरे पर गंभीर आरोप लगाए हैं. तृणमूल का कहना है कि बीजेपी ने बाहर से भीड़ लाकर हिंसा फैलाई. वहीं बीजेपी इस हिंसा के लिए तृणमूल कांग्रेस को जिम्मेदार ठहरा रही है. शाह के रोड शो में दोनों पक्षों में जमकर पत्थरबाजी हुई थी और प्रसिद्ध दार्शनिक ईश्वरचंद विद्यासागर की मूर्ति तोड़ दी गई. जिसके बाद पुलिस ने 100 से ज्यादा लोगों को गिरफ्तार किया और बीजेपी इस मामले को लेकर चुनाव आयोग के पास गई. जिसके बाद पश्चिम बंगाल में रैली और सभाओं पर चुनाव आयोग (Election Commission) की तरफ से रोक लगा दी गई. चुनाव आयोग की तरफ से जारी प्रेस कॉन्फ्रेंस में यह जानकारी दी गई कि रोक का फैसला 16 मई की रात 10 बजे से प्रभावी होगा. बंगाल की सभी 9 लोकसभा क्षेत्र में आज रात 10 बजे के बाद से चुनाव प्रचार (Election Campaigning) पर रोक लग जाएगी. 
बंगाल हिंसा से जुड़ी 11 बड़ी बातें
  1. भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के रोड शो के दौरान मंगलवार को बीजेपी (BJP) और तृणमूल कांग्रेस (TMC) के समर्थकों के बीच कोलकाता की सड़कों पर जबरदस्त झड़प हुई. हालांकि शाह को किसी तरह की चोट नहीं आई और पुलिस उन्हें सुरक्षित स्थान तक ले गई. हिंसा के दौरान ईश्वरचंद विद्यासागर कॉलेज में तोड़फोड़ की गई और 19वीं सदी के समाज सुधारक विद्यासागर की प्रतिमा तोड़ दी गई. सीएम ममता बनर्जी ने कहा, 'अमित शाह खुद को क्या समझते हैं? क्या वह सबसे ऊपर हैं? क्या वह भगवान हैं जो उनके खिलाफ कोई प्रदर्शन नहीं कर सकता?'
  2. वहीं बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह (Amit Shah) ने कहा, 'टीएमसी के गुंडों ने मुझपर हमला करने की कोशिश की. ममता बनर्जी ने हिंसा भड़काने का प्रयास किया, लेकिन मैं सुरक्षित हूं.' शाह ने कहा कि झड़प के दौरान पुलिस मूकदर्शक बनी रही. उन्होंने कहा कि पुलिस ने उन्हें बताया था कि रोडशो की इजाजत कॉलेज के पास समाप्त होती है और उन्हें स्वामी विवेकानंद के बिधान सारणी के पैतृक आवास पर ले जाया जाएगा. शाह ने दावा किया, 'वे (पुलिस) नियोजित मार्ग से हट गए और उस रास्ते पर ले गए जहां ट्रैफिक जाम था. मुझे श्रद्धांजलि देने के लिए विवेकानंद के आवास पर नहीं जाने दिया गया और मैं इससे दुखी हूं. उन्होंने यह भी कहा था कि सीआरपीएफ की सुरक्षा के बिना वह सकुशल बच कर नहीं निकल पाते. 
  3. ममता बनर्जी ने इस मामले पर प्रतिक्रिया देते हुए शाह को 'गुंडा' बताया. उन्होंने शहर के बेहाला की रैली में कहा, 'अगर आप विद्यासागर तक हाथ ले जाते हैं तो मैं आपको गुंडे के अलावा क्या कहूंगी.' उन्होंने कहा, 'मुझे आपकी विचारधारा से घृणा है, मुझे आपके तरीकों से नफरत है.' साथ ही उन्होंने विद्यासागर की आवक्ष प्रतिमा तोड़े जाने के खिलाफ गुरुवार को एक विरोध रैली की घोषणा की. ममता ने कहा कि क्या अमित शाह भगवान से ऊपर हैं कि उनके खिलाफ कोई प्रदर्शन नहीं कर सकता.
  4. सीएम ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) ने हिंसा के विरोध में विद्यासागर की फोटो को अपने फेसबुक और ट्विटर की डीपी(प्रोफाइल पिक्चर) बनाया. टीएमसी ने इस मूर्ति को तोड़ने का आरोप बीजेपी पर लगाया है इसीलिए टीएमसी के कई नेताओं ने विरोध स्वरूप अपनी डीपी में विद्यासागर की फोटो लगाई. 
  5. भाजपा अध्यक्ष अमित शाह (Amit Shah) के रोड शो के दौरान हुई हिंसा में ईश्वर चंद विद्यासागर की मूर्ति तोड़ने पर टीएमसी (TMC) की स्टूडेंट विंग ने बुधवार को विरोध प्रदर्शन किया. इसके अलावा सीपीआई(एम) ने भी इसके विरोध में विरोध प्रदर्शन किया. सीपीआई(एम) के महासचिव सीताराम येचुरी ने कहा, 'जांच होनी चाहिए कि यह कोलकाता में कैसे हुआ?' 
  6. अमित शाह (Amit Shah) पर हुए हमले और उनके रोड शो में हुई हिंसा को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, 'कल कोलकाता की तस्वीरें पूरे देश ने देखी हैं. दीदी के प्रशासन और गुंडातंत्र ने भाजपा के रोड शो को प्रभावित करने की पूरी कोशिश की, लेकिन कोलकाता के लोगों ने उनकी सारी कोशिशें नाकाम कर दीं. इसके लिए मैं कोलकाता के सभी नागरिकों का आभार व्यक्त करता हूं.' पीएम ने कहा, दीदी के राज में बांग्ला युवाओं के मस्तक पर गोलियां मारी जा रही हैं.
  7. रोड शो में हुई हिंसा के बाद उत्‍तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने पश्चिम बंगाल के बारसात में एक चुनावी जनसभा को संबोधित किया. योगी आदित्‍यनाथ (Yogi Adityanath) ने अपने ट्विटर पेज पर एक पोस्‍ट डाला, जिसमें उन्‍होंने रामधारी सिंह दिनकर की एक कविता की कुछ पंक्‍त‍ियां शेयर की, 'याचना नहीं अब रण होगा...' यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ट्वीट किया, 'बंगाल! सबसे पहले जय श्रीराम से आप सबका अभिवादन! आज आपके बीच रहूंगा, तानाशाहों तक यह संदेश पहुंचे कि राम इस देश के कण-कण में हैं, स्वतंत्रता इस देश की जीवनी-शक्ति है और मैं बंगाल के क्रांतिधर्मी युयुत्सु का आह्वान कर रहा हूं. याचना नहीं, अब रण होगा, जीवन जय या कि मरण होगा! जय हो! बता दें कि एक दिन पहले अमित शाह की रैली के दौरान हुई हिंसा के बाद आरोप-प्रत्यारोप का दौर लगातार जारी है.
  8. शाह की रैली में हुई हिंसा के बाद पश्चिम बंगाल में रैली और सभाओं पर चुनाव आयोग (Election Commission) की तरफ से रोक लगा दी गई. चुनाव आयोग की तरफ से जारी प्रेस कॉन्फ्रेंस में यह जानकारी दी गई. यह फैसला 16 मई की रात 10 बजे से प्रभावी होगा. बंगाल की सभी 9 लोकसभा क्षेत्र में कल रात 10 बजे के बाद से चुनाव प्रचार (Election Campaigning) पर रोक लग जाएगी. ऐसा पहली बार हुआ है कि प्रचार की समय सीमा खत्म होने से लगभग 20 घंटे पहले ही चुनाव आयोग ने वहां की मौजूदा स्थिति को देखते हुए यह फैसला लिया है. चुनाव आयोग ने प्रेस कांफ्रेंस के दौरान कहा कि कोई भी व्यक्ति 16 मई की रात 10 बजे के बाद इस चुनाव से संबंधित कोई भी पब्लिक मीटिंग नहीं कर सकता. यह पहली बार होगा कि धारा 324 का इस्तेमाल किया गया है.
  9. पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) ने आरोप लगाया कि बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह (Amit Shah) के इशारे पर ही चुनाव आयोग (Election Commission) ने समय सीमा से पहले रैली, सभाओं पर रोक लगा दी. ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) ने अमित शाह (Amit Shah News) पर हमला बोलते हुए कहा कि अन्याय अमित शाह करें और सजा हमें मिले. उन्होंने कहा कि अमित शाह ने बंगालियों का अपमान किया है.
  10. ममता बनर्जी ने पीएम मोदी पर भी हमला बोला. उन्होंने कहा कि मोदी ने मूर्ति तोड़ने की निंदा तक नहीं की. उन्होंने आरोप लगाया कि चुनावी सभाओं और रैलियों पर रोक का फैसला चुनाव आयोग का नहीं, बल्कि मोदी का है. ममता बनर्जी ने चुनाव आयोग पर निशाना साधते हुए कहा कि पीएम मोदी को चुनाव प्रचार खत्म करने का पूरा समय दिया गया. ममता बनर्जी ने कहा कि चुनाव आयोग को कोलकाता की हिंसा के लिए अमित शाह के खिलाफ कार्रवाई करनी चाहिए थी.
  11. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हिंसा के एक दिन बाद बुधवार को ममता बनर्जी पर हमला बोला और कहा कि पश्चिम बंगाल में ‘डेमोक्रेसी' (लोकतंत्र) 'गुंडाक्रेसी' में तब्दील हो गयी है. पीएम मोदी ने आरोप लगाया कि बनर्जी ने राज्य में एक आपातकाल की स्थिति उत्पन्न कर दी है और उनकी सरकार सब कुछ नष्ट करने पर तुली हुई है. उन्होंने उत्तर 24 परगना जिले में भारत...बांग्लादेश सीमा पर स्थित ताकी और दक्षिण 24 परगना जिले में चुनावी रैलियों को संबोधित करते हुए कहा कि केवल लोगों का दृढ़ विश्वास और साहस इस अत्याचारी शासन को हटाएगा. पीएम मोदी ने कहा कि राज्य में लोगों का ‘मूड' देखते हुए बुआ.भतीजा सरकार के दिन गिने चुने बचे हैं और भाजपा राज्य की 42 लोकसभा सीटों में से अधिकतर सीटें जीतेगी.
     



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
टिप्पणियां

Advertisement