AAP ने बीजेपी प्रत्याशी गौतम गंभीर को दिया ऑफर-दिल्ली सरकार की इस एकेडमी को चलाइए

पूर्वी दिल्ली से बीजेपी प्रत्याशी गौतम गंभीर पर दो मतदाता पहचान पत्र रखने का आरोप लगाने वालीं आम आदमी पार्टी प्रत्याशी आतिशी ने अब उन्हें दिल्ली सरकार की ओर से एक ऑफर दिया है.

AAP  ने बीजेपी प्रत्याशी गौतम गंभीर को दिया ऑफर-दिल्ली सरकार की इस एकेडमी को चलाइए

बीजेपी के टिकट पर पू्र्वी दिल्ली सीट से लोकसभा का चुनाव लड़ रहे हैं पूर्व क्रिकेटर गौतम गंभीर.

नई दिल्ली:

दिल्ली में लोकसभा चुनाव की सरगर्मियों के बीच प्रत्याशी एक दूसरे पर वार करने से नहीं चूक रहे हैं. पूर्वी दिल्ली से बीजेपी प्रत्याशी गौतम गंभीर पर दो मतदाता पहचान पत्र रखने का आरोप लगाने वालीं आम आदमी पार्टी प्रत्याशी आतिशी ने अब उन्हें दिल्ली सरकार की ओर से एक ऑफर दिया है. यह ऑफर है दिल्ली सरकार की ओर से प्रस्तावित क्रिकेट एकेडमी चलाने का. पार्टी संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी आतिशी के ट्वीट को रिट्वटीट किया. जिससे पता चलता है कि आतिशी ने जो ऑफर दिया है, उससे केजरीवाल भी सहमत हैं. दरअसल एक पत्रकार ने दावा किया कि पूर्वी दिल्ली से बीजेपी उम्मीदवार गौतम गंभीर ने आप प्रत्याशी आतिशी की ओर से पूर्वी दिल्ली पर डिबेट करने के लिए दिए चैलेंज को नकार दिया है. गंभीर ने कहा कि मैं धरना और बहस करने में यकीन नहीं रखता. इसका ट्वीट पर जवाब देते हुए
आतिशी ने लिखा- गौतम गंभीर जी, अगर आप बहस में यकीन नहीं रखते, तब क्यों राजनीति में उतरे? दिल्ली सरकार एक क्रिकेट एकेडमी खोलने जा रही है, आप वो चला लीजिए, वहां आप को मुद्दों पर डिबेट करने की जरूरत नहीं पड़ेगी?

rao75pko

AAP प्रत्याशी आतिशी ने बीजेपी उम्मीदवार गौतम गंभीर को दिल्ली सरकार की एकेडमी चलाने का ऑफर दिया

आरोप पर क्या गंभीर के खिलाफ  कार्रवाई होगी

पूर्वी दिल्ली से भारतीय जनता पार्टी के उम्मीदवार गौतम गंभीर (Gautam Ganbhir) पर दो वोटर कार्ड होने के मामले पर कार्रवाई को लेकर पहली बार चुनाव आयोग का बयान आया है. दिल्ली के मुख्य निर्वाचन कार्यालय ने सोमवार को कहा कि बीजेपी उम्मीदवार गौतम गंभीर (Gautam Ganbhir News) के दो वोटर पहचान पत्र होने के मामले में शिकायत मिलने के बाद ही कार्रवाई की जाएगी. आम आदमी पार्टी (AAP) की पूर्वी दिल्ली की उम्मीदवार आतिशी (Atishi) ने क्रिकेटर से नेता बने गौतम गंभीर के खिलाफ अदालत का दरवाजा खटखटाते हुए आरोप लगाया था कि मतदाता के तौर पर वह राजेंद्र नगर और करोलबाग विधानसभा क्षेत्र में पंजीकृत हैं जो जनप्रतिनिधि कानून का उल्लंघन है.

दिल्ली के मुख्य निर्वाचन अधिकारी रणबीर सिंह ने कहा, 'हमें मीडिया में आई खबरों से जानकारी मिली कि गंभीर दिल्ली में एक से अधिक स्थानों पर पंजीकृत हैं. हमें इस बारे में अभी तक कोई शिकायत नहीं मिली है. शिकायत मिलते ही हम जांच शुरू करेंगे और उचित कार्रवाई करेंगे.' चुनाव आयोग चुनावों से पहले अक्सर मतदाता सूची में दोहरे नामों का पता लगाकर उन्हें हटा देता है.यह पूछने पर कि क्या अधिकारी गंभीर के मामले में नाम में दोहराव का पता लगाने में विफल रहे तो एक अधिकारी ने कहा, 'एक सॉफ्टवेयर के माध्यम से दोहरे नामों को हटाने की प्रक्रिया की जाती है. इस तरह की अनियमितताएं पकड़ने में अगर सॉफ्टवेयर विफल रहता है तो इसके लिए चुनाव आयोग को जिम्मेदार नहीं ठहराया जा सकता है.'

बहरहाल, गंभीर ने आरोपों से इंकार करते हुए कहा कि उनके पास केवल एक वोटर आईडी कार्ड है. उन्होंने कहा था, 'मेरा राजेंद्र नगर से केवल एक वोटर आईडी कार्ड है. मैं रामजस रोड (करोलबाग) में अपने दादा-दादी के साथ रहता था, लेकिन वहां से मैंने कभी वोटर कार्ड के लिए आवेदन नहीं किया या वोट नहीं दिया.' बता दें कि दिल्ली में 12 मई को मतदान होना है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

वीडियो- गौतम गंभीर ने बिना इजाजत फिर की रैली - आतिशी