NDTV Khabar

बंगाल: गुजरात से आए BJP कार्यकर्ताओं को पुलिस ने होटल से निकाला, TMC उम्मीदवार ने कहा था- उनके पास हो सकते हैं हथियार और कैश

तृणमूल कांग्रेस की उम्मीदवार काकोली घोष दास्तीदार ने पुलिस को बताया था कि उन्हें चुनाव के अंतिम दौर से पहले यहां कुछ बाहरी बीजेपी समर्थक आकर ठहरे होने का शक है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
बंगाल: गुजरात से आए BJP कार्यकर्ताओं को पुलिस ने होटल से निकाला, TMC उम्मीदवार ने कहा था- उनके पास हो सकते हैं हथियार और कैश

होटल से निकालने पर बीजेपी कार्यकर्ताओं की पुलिस से तीखी बहस हुई.

खास बातें

  1. बारासाट रूटीन चेकअप के दौरान पुलिस की कार्रवाई
  2. टीएमसी उम्मीदवार ने की थी शिकायत
  3. होटल से निकाले जाने के बाद स्थानीय बीजेपी नेता के घर पहुंचे कार्यकर्ता
नई दिल्ली:

पश्चिम बंगाल के बारासाट संसदीय क्षेत्र में सोमवार को अमित शाह (Amit Shah) की रैली के कुछ घंटों बाद रात में हाई वोल्टेज ड्रामा देखने को मिला. यहां लोकल होटल में रुके गुजरात से आए कई बीजेपी (BJP) कार्यकर्ताओं को पुलिस ने बाहर निकाल दिया. इस बीच कार्यकर्ताओं की पुलिस से तीखी बहस भी हुई. पुलिस ने चुनाव से पहले होने वाली रुटीन जांच के दौरान कार्यकर्ताओं से होटल छोड़ देने के लिए कहा. इसके पीछे का एक कारण ये भी था कि तृणमूल कांग्रेस (TMC) की उम्मीदवार काकोली घोष दास्तीदार ने पुलिस को बताया था कि चुनाव के अंतिम दौर से पहले यहां कुछ बाहरी बीजेपी समर्थकों के ठहरे होने का शक है, जिनके पास कैश और हथियार हैं. होटल से निकाले जाने के बाद बीजेपी कार्यकर्ता स्थानीय बीजेपी नेता तुहीन मंडल के घर चले गए. 

उधर पुहीन मंडल के घर अचानक बड़ी संख्याओं में बीजेपी कार्यकर्ताओं और नेताओं के गाड़ियों का जमावड़ा लग गया. इसी बीच कुछ वाहनों में तोड़फोड़ की शिकायत के बीच पुलिस तुहीन के घर पहुंची लेकिन यहां पूरे घर में अंधेरा छाया हुआ था. पुलिस के बार-बार फोन लगाए जाने के बाद भी किसी ने जब जवाब नहीं दिया तो पुलिस बाहर लगा ग्रिल गेट तोड़कर घर में दाखिल हुई और मेन गेट खुलवाकर बत्तियां चालू करवा दी. 


यह भी पढ़ें: ममता बनर्जी का मीम शेयर करने पर गिरफ्तार बीजेपी कार्यकर्ता ने अब उठाया ये कदम

इस दौरान पुलिस को घर में बीजेपी नेता प्रदीप बनर्जी समेत कुछ लोग मिले. प्रदीप ने पुलिस से कहा कि वे कुछ ही देर में पार्टी मीटिंग लोने वाले थे. उन्होंने यह बताया कि बैठक में आरएसएस नेता और बंगाल के भाजपा के सह-प्रभारी अरविंद मेनन ने भी भाग लिया था. 

वहीं कुछ स्थानीय लोग, जिनमें ज्यादातर तृणमूल कांग्रेस समर्थक थे. उन्होंने बीजेपी कार्यकर्ता के घर के बाहर जमा होकर विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया. इसके बाद पुलिस को सुरक्षा लिहाज से बीजेपी कार्यकर्ताओं को पुलिस स्टेशन ले जाना पड़ा. बाद में पार्टी नेता मुकुल रॉय के पुलिस स्टेशन पहुंचने के बाद देर रात 1:30 बजे पुलिस ने सभी को छोड़ दिया. 

यह भी पढ़ें: CM योगी की रैली की इजाजत रद्द, BJP ने कहा- TMC एजेंट के तौर पर काम कर रहे अधिकारी

इससे पहले शाम में बीजेपी के पदाधिकारी शिशिर बाजोरिया ने ट्वीट कर जानकारी दी थी कि पश्चिम बंगाल पुलिस के अधिकारियों की ओर से उन्हें सूचित किया गया है कि रैली के बाद कोई भी गुजरातवासी बारासाट जिले में नहीं रुक सकता है. वहीं दूसरी तरफ मुकुल रॉय ने तृणमूल कांग्रेस प्रमुख और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर आरोप लगाया है कि वे कार में अपने साथ कैश लेकर चलती हैं. 

बता दें पश्चिम बंगाल के नौ संसदीय निर्वाचन क्षेत्र में 19 मई को लोकसभा चुनाव के अंतिम चरण में मतदान होगा. इनमें दम दम, बारासाट, बशीरहाट, जयनगर, मथुरापुर, डायमंड हार्बर, जादवपुर, कोलकाता दक्षिण और कोलकाता उत्तर शामिल हैं. 

टिप्पणियां

Video: ममता बनर्जी की फर्जी तस्वीर भेजने पर कार्रवाई



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement