NDTV Khabar

2019 से पहले विपक्ष को एकजुट करने की कवायद, NDA के पूर्व सहयोगी चंद्रबाबू नायडू से मिले कांग्रेस महासचिव अशोक गहलोत, अब 22 नवंबर को बैठक

नायडू ने कहा कि वह 19 या 20 नवंबर को पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से भी मुलाकात करेंगे.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
2019 से पहले विपक्ष को एकजुट करने की कवायद, NDA के पूर्व सहयोगी चंद्रबाबू नायडू से मिले कांग्रेस महासचिव अशोक गहलोत, अब 22 नवंबर को बैठक

महागठबंधन को लेकर चंद्रबाबू नायडू ने 22 नवंबर को बैठक बुलाई है.

खास बातें

  1. कांग्रेस महासचिव अशोक गहलोत ने की नायडू से मुलाकात
  2. नायडू ने कहा- गहलोत कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के दूत बनकर आए थे
  3. भाजपा विरोधी मंच बनाने के लिए 22 नवंबर को दिल्ली में होगी बैठक
नई दिल्ली: तेदेपा अध्यक्ष और आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री एन चंद्रबाबू नायडू (Chandrababu Naidu) ने शनिवार को कहा कि भाजपा विरोधी दल एक साझा मंच व भविष्य की योजना बनाने के लिए 22 नवंबर को नई दिल्ली में बैठक करेंगे. कांग्रेस महासचिव अशोक गहलोत के साथ यहां अपने रिवरफ्रंट आवास पर बैठक के बाद एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए तेलगू देशम पार्टी के अध्यक्ष ने कहा कि हमारी कोशिश भारतीय जनता पार्टी के खिलाफ लड़ने के लिए सभी को एक मंच पर लाना है. गहलोत कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के दूत बनकर यहां आए थे. नायडू ने कहा कि वह 19 या 20 नवंबर को पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से मुलाकात करेंगे.

यह भी पढ़ें: जब NDA सरकार का केंद्र में खत्म होगा 'कुशासन', तब होगी असली दिवाली

गौरतलब है कि इससे पहले चंद्रबाबू नायडू ने आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू ने पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवेगौड़ा  से मुलाकात की. ये मुलाकात बेंगलुरु में देवेगौड़ा के घर पर हुई. इस बैठक में कर्नाटक के मुख्यमंत्री और देवेगौड़ा के बेटे एचडी कुमारस्वामी भी शामिल हुए. इसे 2019 के चुनाव से पहले विपक्ष को एकजुट करने की पहल के तौर पर देखा जा रहा है. पिछले हफ़्ते चंद्रबाबू नायडू ने दिल्ली में राहुल गांधी, शरद पवार, अखिलेश यादव और फारूक अबदुल्ला से भी मुलाकात की थी. मुलाकात के बाद आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू ने कहा कि एचडी देवगौड़ा के साथ मेरे अच्छे सबंध हैं. हमें इस देश को बचाने के लिए, लोकतंत्र को बचाने के लिए साथ आना होगा.'

यह भी पढ़ें: गैर कांग्रेसवादियों का कांग्रेस के पक्ष में आना क्या कहता है...

उन्होंने कहा, 'सीबीआई मुश्किल में है. कौन जवाबदेह है आरबीआई पर भी हमला हो रहा है, रेग्युलेटरी बॉडी पर भी खतरा है. ईडी, इनकम टैक्स का इस्तेमाल विपक्षियों पर हमला करने के लिए किया जा रहा है.' चंद्रबाबू नायडू ने कहा कि गठबंधन बनाने के लिए शुरुआती कदम अभी तक तय नहीं हुए हैं. उन्होंने कहा कि तौर-तरीकों को अंतिम रूप देने के बाद कार्यक्रमों की रुपरेखा तैयार की जाएगी. नायडू ने कहा, 'मैंने मायावती, अखिलेश यादव से बातचीत की. मैंने सभी से मुलाकात की है. कल मैं द्रमुक अध्यक्ष स्टालिन से मिलूंगा.

टिप्पणियां
VIDEO: यह चुनाव क्या वर्ष 2019 की तैयारी की तरह


हम तय करेंगे कि आम-सहमति के साथ गठबंधन कैसे आगे ले जाया जाए. यह शुरुआती कवायद है. इसके बाद हम मिलकर काम करेंगे.' कांग्रेस के मुखर आलोचक रहे नायडू महागठबंधन के लिए उसके साथ बातचीत करने के भी खिलाफ नहीं हैं. हालांकि उन्होंने प्रधानमंत्री पद के दावेदार के सवाल पर कोई जवाब नहीं दिया.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement