NDTV Khabar

कांग्रेस चुनाव लड़ रही है देश की सेना को कमजोर करने के लिए : छत्तीसगढ़ में बोले पीएम मोदी

रैली को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा, 'आज लोकसभा चुनाव के समय देश के मन में एक तस्वीर स्पष्ट है. ये तस्वीर है नीयत की, ये तस्वीर है नीति की.'

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां

खास बातें

  1. 'कांग्रेस को बलिदान की परवाह नहीं है'
  2. 'हम चुनाव लड़ रहे हैं मज़बूत सरकार बनाने के लिए'
  3. 'कांग्रेस का नामदार परिवार जमानत पर बाहर है'
बालोद (छत्तीसगढ़):

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) ने शनिवार को छत्तीसगढ़ के बालोद में रैली की जहां कांग्रेस के घोषणापत्र को ढकोसलापत्र कहा; पीएम मोदी ने राहुल गांधी (Rahul Gandhi) के अमेठी के अलावा वायनाड से चुनाव लड़ने पर भी तंज़ कसा. मोदी ने कहा कांग्रेस का कर्ज माफी का वादा झूठा था. रैली को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा, 'आज लोकसभा चुनाव के समय देश के मन में एक तस्वीर स्पष्ट है. ये तस्वीर है नीयत की, ये तस्वीर है नीति की. कांग्रेस चुनाव लड़ रही है अपने दल को जिताने के लिए, हम चुनाव लड़ रहे हैं देश को जिताने के लिए. कांग्रेस और उसके साथी चुनाव लड़ रहे हैं जनता की गाढ़ी कमाई को लूटने के लिए, हम चुनाव लड़ रहे हैं एक-एक पाई का सही इस्तेमाल करने के लिए. कांग्रेस और उसके साथी चुनाव लड़ रहे हैं आतंकियों को-अलगाववादियों को खुली छूट देने के लिए, हम चुनाव लड़ रहे हैं आतंकियों को, अलगाववादियों को उनके किए की सज़ा देने के लिए. कांग्रेस और उसके साथी चुनाव लड़ रहे हैं देश की सेना को कमजोर करने के लिए, हम चुनाव लड़ रहे हैं देश की सेना को आत्मनिर्भर बनाने के लिए. कांग्रेस और उसके साथी चुनाव लड़ रहे हैं मजबूर सरकार बनाने के लिए, हम चुनाव लड़ रहे हैं मज़बूत सरकार बनाने के लिए.'

पीएम मोदी ने VVIP हेलीकॉप्‍टर घोटाले की चार्जशीट में दर्ज 'AP' और 'FAM' को लेकर कांग्रेस पर साधा निशाना


उन्‍होंने कहा, 'बीते पांच वर्षों में आपने देखा है कि मजबूत सरकार का मतलब क्या होता है. जब सरकार मज़बूत होती है तो, आतंकी हमलों के बाद देश चुप नहीं बैठता, घर में घुस कर मारता है. जब मजबूत सरकार होती है तो सर्जिकल स्ट्राइक और एयर स्ट्राइक होती है. जब मजबूत सरकार होती है, दुनिया भी हमारी बात सुनती है और जब मजबूर सरकार होती है तो दुनिया भी अपना रौब झाड़ती है. जब मज़बूत सरकार होती है तो, देशहित में बड़े फैसले लिए जाते हैं और जब मजबूर सरकार होती है तो कुछ लोगों के स्वार्थ सिद्ध करने के लिए फैसले लिए जाते हैं.

सहारनपुर में बोले पीएम मोदी-वे बोटी-बोटी वाले हैं, हम बहन-बेटियों को सुरक्षा देने वाले हैं

पीएम मोदी ने कहा, 'भारतीय जनता पार्टी के शासन ने छत्तीसगढ़ से नक्सली-माओवादी हिंसा को खत्म करने का एक सफल प्रयास किया है. छत्तीसगढ़ के और देश के लाखों सपूत बंदूक और बम की बर्बादी से छत्तीसगढ़ को बाहर निकालने में जुटे हैं. कुछ दिन पहले ही कांकेर में हमारे जवान शहीद हुए हैं, लेकिन कांग्रेस को इस बलिदान की परवाह नहीं है. कांग्रेस ने अपने ढकोसला पत्र में कहा है कि जो सीमा पर आतंकियों से निपट रहे हैं, ऐसे जवानों को मिला विशेष कवच सत्ता में आने पर हटा देंगे.

टिप्पणियां

'मैं अभी-अभी ओडिशा से आया हूं. वहां कांग्रेस के नेता दूसरे दलों में पलायन कर रहे हैं. तेलंगाना में कांग्रेस के सभी नेता पलायन कर रहे हैं. और तो और, नामदार ने अपनी जिस सीट को वसीयत का हिस्सा मान लिया था, वहां से भी पलायन करने की नौबत आ गई है. जब कांग्रेस के नामदार को देश में सबसे सुरक्षित सीट की तलाश करने की नौबत आ जाए, तो स्थिति समझना मुश्किल है क्या? ये स्थिति इसलिए आई क्योंकि कांग्रेस की नीयत में खोट है. नीयत में खोट है, इसलिए दलालों और बिचौलियों का एक पूरा संसार इन्होंने विकसित किया. नीयत में खोट है, इसलिए हेलिकॉप्टर की खरीदारी में भी दलाली खाने से बाज़ नहीं आए. नीयत में खोट है, इसलिए कांग्रेस का नामदार परिवार जमानत पर बाहर है. नीयत में खोट है, इसलिए किसानों से कर्जमाफी का झूठा वायदा किया. क्या छत्तीसगढ़ में सारे किसानों की कर्जमाफी हो गई? क्या कांग्रेस ने यहां के नौजवानों से किया अपना वादा पूरा कर दिया? हर चुनाव में कांग्रेस ऐसे ही झूठे वायदों का ढकोसला पत्र निकालकर लोगों को भ्रमित करने का प्रयास करती है. यही दशकों से उसकी राजनीति का तरीका है.'

'आपके इस चौकीदार ने पीएम किसान योजना के तहत देश के करीब 12 करोड़ और छत्तीसगढ़ के करीब 35 लाख किसान परिवारों को सीधे बैंक खाते में 75 हजार करोड़ रुपए जमा कराने की योजना शुरू की है. लेकिन आपके बैंक खाते में सीधे पैसे आ रहे हैं, इसलिए कांग्रेस को अब इससे भी दिक्कत है. इसमें भी कांग्रेस सरकार आधे-अधूरे मन से काम कर रही है. यहां की सरकार ने अभी तक आधी-अधूरी सूची किसानों की दी है, जिसके कारण बहुत ही कम परिवारों को पहली किश्त अभी तक मिल पाई है. होना तो ये चाहिए था कि यहां की सरकार आदिवासियों को केंद्र सरकार की योजनाओं से फायदा पहुंचाती, उनको बल देती. रमन सिंह जी ने जो काम शुरु किया था उसको विस्तार देती. लेकिन यहां की सरकार ने तो आते ही ट्रांसफर-पोस्टिंग उद्योग शुरू कर दिया है, भाजपा कार्यकर्ताओं पर हमले हो रहे हैं. छत्तीसगढ़ में डेढ़ दशक से भूखी कांग्रेस सत्ता में आई है. आप सभी लोग संभलकर रहिएगा, सतर्क रहिएगा.'



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement