NDTV Khabar

Exit Polls 2019: 'चंद्रबाबू नायडू बेवजह खुद को क्यों थका रहे हैं?', विपक्ष नेताओं से मिलने पर शिवसेना ने यूं कसा तंज

लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Election) के नतीजों से पहले आए एग्जिट पोल में चैनल्स के मुताबिक केंद्र में बीजेपी की सरकार वापस आ सकती है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
Exit Polls 2019: 'चंद्रबाबू नायडू बेवजह खुद को क्यों थका रहे हैं?', विपक्ष नेताओं से मिलने पर शिवसेना ने यूं कसा तंज

Exit Polls 2019: चंद्रबाबू नायडू और राहुल गांधी (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. शिवसेना का तंज
  2. चंद्रबाबू पर ली चुटकी
  3. सामना अखबार का संपादकीय
नई दिल्ली:

लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Election) के नतीजों से पहले आए एग्जिट पोल में चैनल्स के मुताबिक केंद्र में बीजेपी की सरकार वापस आ सकती है. मतगणना से पहले आंध्र प्रदेश मुख्यमंत्री व टीडीपी प्रमुख चंद्रबाबू नायडू पिछले दो-तीन दिनों से विपक्ष नेताओं से मुलाकात कर रहे हैं. इस पर तंज कसते हुए बीजेपी के साथ गठबंधन करने वाली महाराष्ट्र की शिवसेना पार्टी ने चंद्रबाबू पर निशाना साधा है. शिवसेना का मुखपत्र 'सामना' अखबार में 'चंद्रबाबू को शुभकामनाएं यह उत्साह बना रहे!' संपादकीय लेख प्रकाशित किया गया है. 

विपक्षी एकजुटता की कवायद, चंद्रबाबू नायडू आज कोलकाता में करेंगे ममता बनर्जी से मुलाकात, रात में वापस दिल्ली लौट आएंगे

सामना अखबार के संपादकीय में लिखा गया है कि ''मानसून के अंडमान में दाखिल होने की खबर आनंददायी है और चंद्रबाबू नायडू द्वारा सरकार स्थापना के लिए की जा रही जोड़-तोड़ के लिए दिल्ली में दाखिल होने की खबर भी मनोरंजक है. यह सच है कि महाराष्ट्र सहित पूरा देश सूखे से जूझ रहा है और मानसून की प्रतिक्षा कर रहा है, पर 23 तारीख को दिल्ली की हवा बदलेगी, क्या इस पर शर्त लगाई जा रही है'' संपादकीय के आखिर में चंद्रबाबू नायडू पर तंज कसते हुए खत्म किया गया है. 


इसमें लिखा गया कि ''अमित शाह का आत्मविश्वास कह रहा है कि भाजपा अपने बलबूते 300 सीटें जीतेगी और वह चरण उसने चुनाव के पांचवें चरण में ही पार कर लिया है. अब योगी आदित्यनाथ ने 'अबकी बार 400 पार' का विश्वास जताया है. इस लिए चंद्रबाबू बेवजह स्वयं को क्यों थका रहे हैं? चंद्रबाबू का मौजूदा उत्साह गुरुवार की शाम तक टिका रहे! ऐसी ही हम उन्हें शुभकामनाएं दे रहे हैं.''

योगेंद्र यादव ने क्यों कहा- 'The Congress Must Die' यानी 'कांग्रेस को निश्चित खत्म हो जाना चाहिए'

टिप्पणियां

बता दें, आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री एन. चन्द्रबाबू नायडू ने रविवार को संप्रग अध्यक्ष सोनिया गांधी, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, राकांपा प्रमुख शरद पवार और माकपा महासचिव सीताराम युचेरी से मुलाकात की. नायडू ने शनिवार को राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में लोकतांत्रिक जनता दल के नेता शरद यादव से जबकि लखनऊ में सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव और बसपा सुप्रीमो मायावती से भी मुलाकात की थी.

नायडू यह प्रयास इसलिये कर रहे हैं ताकि राजग के बहुमत के आकंड़े तक नहीं पहुंचने की सूरत में गैर राजग दलों को एक मंच पर लाकर अगली सरकार के गठन का दावा पेश किया जा सके. तेदेपा प्रमुख नायडू इससे पहले भी विपक्ष के विभिन्न नेताओं के साथ कई दौर की बातचीत कर चुके हैं. इनमें तृणमूल कांग्रेस सुप्रीमो ममता बनर्जी, आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल और माकपा के महासचिव सीताराम येचुरी शामिल हैं.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement