NDTV Khabar

Election 2019: बंगाल हिंसा पर TMC ने कहा- छात्रों ने सिर्फ काले झंडे दिखाए थे, अमित शाह ने बंगाल के बाहर से बुलाए थे गुंडे

टीएमसी नेता डेरेक ओ ब्रायन प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए भावुक हो गए और उन्होंने कहा, 'मैनें बहुत सारी प्रेस कॉन्फ्रेंस की हैं, लेकिन यह प्रेस कॉन्फ्रेंस मेरे लिए सबसे दुख भरी है.'

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
Election 2019: बंगाल हिंसा पर TMC ने कहा- छात्रों ने सिर्फ काले झंडे दिखाए थे, अमित शाह ने बंगाल के बाहर से बुलाए थे गुंडे

टीएमसी और भाजपा में वार-पलटवार जारी हैं.

कोलकाता:

कोलकाता में भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह (Amit Shah) के रोड शो के दौरान बुधवार को हुई हिंसा पर टीएमसी और भाजपा में वार-पलटवार जारी हैं. पहले भाजपा (BJP) अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि हिंसा भाजपा ने नहीं, बल्कि टीएमसी (TMC) के लोगों ने हिंसा की थी. इसके बाद टीएमसी ने इस पर पलटवार करते हुए कहा कि छात्रों ने अमित शाह को सिर्फ काले झंडे दिखाए थे, लेकिन अमित शाह ने बंगाल के बाहर से गुंडे बुला रखे थे. टीएमसी नेता डेरेक ओ ब्रायन प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए भावुक हो गए और उन्होंने कहा, 'मैनें बहुत सारी प्रेस कॉन्फ्रेंस की हैं, लेकिन यह प्रेस कॉन्फ्रेंस मेरे लिए सबसे दुख भरी है. अमित शाह ने कल हमें बहुत आहत किया. कल उन्होंने पूरे बंगाल को आहत किया.' एनडीटीवी इन आरोपों की पुष्टि नहीं करता.

इसके साथ ही उन्होंने कहा, 'कल छात्रों ने अमित शाह को सिर्फ काले झंडे दिखाए थे. छात्र लोकतांत्रिक रूप से प्रदर्शन कर रहे थे. अमित शाह ने बंगाल के बाहर से गुंडे बुलाए थे. अमित शाह ने कहा कि ताला लगा था तो इनके (BJP) गुंडे अंदर कैसे आए? (एक वीडियो दिखाते हुए) इस वीडियो में साफ हो गया कि अमित शाह धोखेबाज हैं. पहले आपने बोला बंगाल को कंगाल और अब आपने ये किया. हम बेहद दुखी है, क्षुब्ध हैं.' 


बंगाल हिंसा पर गरमाई राजनीति: कोलकाता में TMC और CPI तो दिल्ली में BJP का विरोध प्रदर्शन

प्रेस कॉन्फ्रेंस में एक अन्य वीडियो दिखाते हुए टीएमसी नेता ने कहा, केंद्रीय पुलिस बल बंगाल में बीजेपी के साथ काम कर रहे हैं (एक शख्स की वर्दी में तस्वीर दिखाते हुए). केंद्रीय पुलिस बल बीजेपी के उम्मीदवारों के साथ बूथ में जा रहे हैं. ये लोगों से बीजेपी को वोट डालने के लिए कह रहे हैं.'

कोलकाता रोड शो हिंसा: अमित शाह बोले- CRPF नहीं होती तो मेरा वहां से बचकर निकलना मुश्किल था

इससे पहले प्रेस कॉन्फ्रेस करके अमित शाह (Amit Shah) ने कहा कि हिंसा की खबर सुबह से थी, लेकिन पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की. साथ ही उन्होंने कहा कि टीएमसी के लोगों ने ही झूठ फैलाने के लिए मूर्ती तोड़ी. प्रेस कॉन्फ्रेंस ने कहा, 'छह चरणों में बंगाल के सिवा कहीं हिंसा नहीं हुई. ममता जी की कह रही हैं कि बीजेपी हिंसा कर रही है. ममता जी 42 सीटों पर लड़ रही हैं, हम तो देश भर में चुनाव लड़ रहे हैं. कहीं और तो हिंसा नहीं हुई. यानि साफ है टीएमसी के लोग हिंसा कर रहे हैं. लोकतंत्र की हत्या की गई.' एक पत्रकार के जवाब में अमित शाह ने कहा कि कल वहां सीआरपीएफ नहीं होता तो मेरा वहां से बचकर निकलना मुश्किल था.

अमित शाह के रोड शो में हिंसा के बाद ममता बनर्जी ने फेसबुक और ट्विटर पर बदली DP, जानें वजह

साथ ही शाह ने कहा, हमारे पोस्टर बैनर फाड़े गए. हमारे कार्यकर्ताओं को उकसाया गया. हमारे कार्यकर्ता चुप रहे. दो से ढाई लाख लोग रोड शो के लिए पहुंचे थे. हमला तीन बार हुआ, पत्थर, कैरोसीन ऑयल सबका प्रयोग किया. सुबह से खबर थी की कॉलेज से लड़के हिंसा कर सकते हैं. लेकिन पुलिस ने कुछ नहीं किया. टीएमसी के लोग कह रहे हैं कि बीजेपी के लोगों ने ईश्वर चंद विद्यासागर की प्रतीमा तोड़ी. पर हम तो कॉलेज के बाहर थे. अंदर तो टीएमसी के लोग थे. ये टीएमसी के लोगों ने ही झूठ फैलाने के लिए मूर्ती तोड़ी. बहुत सारे फुटेज हैं. कॉलेज का गेट भी नहीं टूटा है. 

टिप्पणियां

अमित शाह क्या भगवान हैं जो उनके खिलाफ कोई प्रदर्शन नहीं कर सकता : ममता बनर्जी

Video: कोलकाता रोड शो हिंसा को लेकर बंगाल से लेकर दिल्ली तक प्रदर्शन



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement