NDTV Khabar

हार्दिक पटेल बोले- कांग्रेस ने जितनी इज्जत और शक्ति दी, अल्पेश ठाकोर उसे हैंडल नहीं कर पाए

कांग्रेस नेता हार्दिक पटेल ने शनिवार को कहा कि विधायक अल्पेश ठाकोर को कांग्रेस पार्टी ने काफी इज्जत और शक्ति दी मगर वह उसे नहीं संभाल पाए.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
हार्दिक पटेल बोले- कांग्रेस ने जितनी इज्जत और शक्ति दी, अल्पेश ठाकोर उसे हैंडल नहीं कर पाए

हार्दिक पटेल (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

कांग्रेस नेता हार्दिक पटेल ने शनिवार को कहा कि विधायक अल्पेश ठाकोर को कांग्रेस पार्टी ने काफी इज्जत और शक्ति दी मगर वह उसे हैंडल नहीं कर पाए. 2017 में गुजरात विधानसभा चुनाव के दौरान अल्पेश ठाकोर कांग्रेस में शामिल हुए थे, करीब 18 महीने पार्टी में रहने के बाद बुधवार की शाम कांग्रेस से अपना इस्तीफा दिया. 

NDTV Exclusive: चुनाव लड़ने के अयोग्य घोषित हार्दिक पटेल ने कहा- उम्र पड़ी है, लंबी राजनीति करने के लिए आया हूं

समाचार एजेंसी एएनआई को हार्दिक पटेल ने कहा कि 'कांग्रेस ने इतना सम्मान और शक्ति दी थी लेकिन वह इसे संभाल नहीं सके. उन्होंने ब्लेम- गेम खेलना शुरू कर दिया.' उन्होंने आगे आरोप लगाया कि भारतीय जनता पार्टी उन्हें लोकसभा चुनाव नहीं लड़ने से रोकने के लिए काफी प्रयास किया. 

लोकसभा चुनाव नहीं लड़ पाएंगे हार्दिक पटेल? मुश्किलें बढ़ीं, सुप्रीम कोर्ट ने जल्द सुनवाई से किया इनकार, कहा- कोई अर्जेंसी नहीं


उन्होंने कहा कि मैं हाई कोर्ट के फैसला को स्वीकार करता हूं. बीजेपी के वकीलों ने मुझे रोकने की पूरी कोशिश की, जिसकी वजह से मैं इस बार लोकसभा चुनाव नहीं लड़ सका. कांग्रेस मुझे संसद में भेजना चाहती थी. मैं 25 साल का युवा हूं और अभी कई चुनाव भविष्य में होंगे. 

गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट ने हार्दिक पटेल की जल्द सुनवाई वाली याचिका को खारिज कर दिया था. साथ ही सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि इस याचिका पर तत्काल सुनवाई की अभी क्या जरूरत है.  अपनी याचिका में हार्दिक पटेल ने गुजरात हाई कोर्ट के फैसले पर रोक लगाने और सज़ा को निलंबित करने की मांग की है. हार्दिक पटेल (Hardik Patel) को फिलहाल लोकसभा चुनाव लड़ने के लिए अयोग्य करार दिया गया है. 

टिप्पणियां

हार्दिक पटेल पहुंचे SC, गुजरात हाईकोर्ट के फैसले के बाद लोकसभा चुनाव लड़ने का रास्ता हो गया है बंद

दरअसल 2015 में हुए उपद्रव के मामले में 29 मार्च को गुजरात हाईकोर्ट से हार्दिक पटेल को बड़ा झटका लगा था. हाईकोर्ट ने हार्दिक पटेल की याचिका को ख़ारिज कर दिया था जिसमें मेहसाणा में 2015 के दंगा उपद्रव मामले में उनकी दोषसिद्धि को निलंबित करने की अपील की गई थी. दंगा भड़काने के आरोप में साल 2018 में निचली कोर्ट ने पाटीदार नेता हार्दिक पटेल को दोषी ठहराते हुए दो साल की जेल की सजा सुनाई थी.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement