NDTV Khabar

Kanhaiya Kumar: जेएनयू छात्रसंघ अध्यक्ष से लेकर लोकसभा उम्मीदवार बनने तक कन्हैया कुमार का सफर...

कन्हैया कुमार (Kanhaiya Kumar) सीपीआई के टिकट पर बेगूसराय लोकसभा सीट से चुनाव लड़ रहे हैं. इस सीट पर कन्हैया कुमार (Kanhaiya Kumar) का मुकाबला बीजेपी के फायरब्रांड नेता गिरिराज सिंह और आरजेडी के कैंडिडेट तनवीर हसन से है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
Kanhaiya Kumar: जेएनयू छात्रसंघ अध्यक्ष से लेकर लोकसभा उम्मीदवार बनने तक कन्हैया कुमार का सफर...

कन्हैया कुमार (Kanhaiya Kumar)

नई दिल्ली:

कन्हैया कुमार (Kanhaiya Kumar) साल  2016 में जेएनयू में कथित तौर पर राष्‍ट्रविरोधी नारे लगने के बाद चर्चा में आए थे. कन्हैया कुमार (Kanhaiya Kumar) सीपीआई के टिकट पर बेगूसराय लोकसभा सीट से चुनाव लड़ रहे हैं. इस सीट पर कन्हैया कुमार (Kanhaiya Kumar)  का मुकाबला बीजेपी के फायरब्रांड नेता गिरिराज सिंह और आरजेडी के कैंडिडेट तनवीर हसन से है. कन्हैया कुमार के चुनावी मैदान में उतरते ही बेगूसराय इस लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Elections 2019) का सबसे हॉट सीट बन गया है. देश में चारों ओर बेगूसराय सीट की ही चर्चा हो रही है. इस सीट पर कन्हैया कुमार सहित तीनों प्रत्याशी अपनी-अपनी जीत का दावा कर कर रहे है. बॉलीवुड और राजनीति के फेमस चेहरे भी कन्हैया कुमार के समर्थन में जमकर चुनाव प्रचार कर रहे हैं. इस कड़ी में स्वरा भास्कर, जावेद अख्तर, जिग्नेश मेवाणी, शबाना आजमी और प्रकाश राज जैसे सितारे शामिल रहे हैं.

वरुण गांधी: 3 महीने की उम्र में पिता को खोया, 4 साल की उम्र में दादी को खोया, कुछ ऐसा है ये सफर...


बेगूसराय से जेएनयू का सफर
कन्हैया कुमार का जन्म जनवरी 1987 में हुआ था. कन्हैया कुमार का जन्म जनवरी 1987 में बिहार के बेगूसराय जिले में भूमिहार जाति में हुआ था. कन्हैया कुमार का गांव तेघरा विधानसभा क्षेत्र में आता है, जहां सीपीआई को काफी समर्थन दिया जाता है. कथित तौर पर राष्‍ट्रविरोधी नारे लगाने के आरोप में कन्हैया कुमार पर साल 2016 में देशद्रोह का मामला दर्ज किया गया था, जिसके बाद दिल्ली पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार किया था. 2 मार्च को उन्हें  अंतरिम जमानत पर रिहा कर दिया गया था, क्योंकि राष्ट्र विरोधी नारों में भाग लेने का पुलिस द्वारा कुमार का कोई सबूत प्रस्तुत नहीं किया गया. इसके इलावा जेएनयू के कुलपति द्वारा गठित एक अनुशासन समिति भी विवादास्पद घटना की जांच कर रही है. प्रारंभिक जांच रिपोर्ट के आधार पर, कन्हैया कुमार और सात अन्य छात्रों को अकादमिक तौर पर वंचित कर दिया गयाय विश्व के सबसे बड़े छात्र संगठन अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने कन्हैया कुमार का विरोध किया था. 

राजनीति में कन्हैया कुमार का सफर
साल 2002 में कन्हैया कुमार ने पटना के कॉलेज ऑफ कॉमर्स में दाखिला लिया था और यही से उनके छात्र राजनीति की शुरुआत हुई थी. पटना में पढ़ाई के दौरान कन्हैया कुमार ऑल इंडिया स्टूडेंट फेडरेशन (एआईएसएफ) के सदस्य बने. यही नहीं कन्हैया कुमार साल 2015 में जेएनयू छात्र संघ के अध्यक्ष चुने गए थे. कन्हैया कुमार पहली बार लोकसभा का चुनाव लड़ रहे हैं. उनके परिवार के सदस्य पारंपरिक रूप से सीपीआई के समर्थक रहे हैं

टिप्पणियां

बेगूसराय लोकसभा सीट

बेगूसराय बिहार प्रान्त का एक जिला है. बेगूसराय मध्य बिहार में स्थित है. बेगूसराय बिहार प्रान्त का एक जिला है. बेगूसराय मध्य बिहार में स्थित है. इसे राष्ट्रकवि रामधारी सिंह दिनकर की जन्मभूमि के तौर पर भी जाना जाता है. बेगूसराय लोकसभा सीट पर लंबे समय तक कांग्रेस सत्ता में रही. साल 1952 से 1967 तक कांग्रेस के मथुरा प्रसाद मिश्रा इस सीट से सांसद रहे. साल 2014 में इस सीट पर बीजेपी के भोला सिंह जीते थे, जबकि आरजेडी के तनवीर हसन दूसरे नंबर पर रहे थे. बेगूसराय में कुल 19 लाख 53 हजार वोटर हैं, जिनमें बड़ी संख्या में भूमिहार वोटर की है. बेगूसराय में  1038983 पुरुष मतदाता, 9 लाख 13962  महिला मतदाता और थर्ड जेंडर के 62 मतदाता हैं. 



NDTV.in पर विधानसभा चुनाव 2019 (Assembly Elections 2019) के तहत हरियाणा (Haryana) एवं महाराष्ट्र (Maharashtra) में होने जा रहे चुनाव से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरें (Election News in Hindi), LIVE TV कवरेज, वीडियो, फोटो गैलरी तथा अन्य हिन्दी अपडेट (Hindi News) हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement