NDTV Khabar

कुमार विश्वास ने बताया, 23 मई यानी लोकसभा चुनाव के नतीजे वाले दिन क्या बोलेंगे अरविंद केजरीवाल?

गौरतलब है कि लोकसभा चुनाव की तारीख रमजान के दौरान पड़ने से आम आदमी पार्टी के राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने चुनाव आयोग पर निशाना साधा था.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
कुमार विश्वास ने बताया, 23 मई यानी लोकसभा चुनाव के नतीजे वाले दिन क्या बोलेंगे अरविंद केजरीवाल?

डॉ. कुमार विश्वास (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

आम आदमी पार्टी के संस्थापक सदस्यों में से एक डॉ. कुमार विश्वास अपनी पार्टी के नेता अरविंद केजरीवाल के खिलाफ हमले तेज करते जा रहे हैं. अबकी बार उन्होंने ट्वीट कर बताया है कि 23 मई यानी जिस दिन लोकसभा चुनाव के नतीजे आएंगे उस दिन अरविंद केजरीवाल क्या बोलेंगे. उन्होंने ट्वीट कर लिखा है, ' चुनाव-आयोग ने ऐसी तिथि में चुनाव कराए कि हमारे मुसलमान वोटर तो रमज़ान की वजह से वोट डालने निकले नहीं थे,यूपी-बिहार वाले छुट्टी चले गए थे, कार्यकर्ताओं को लग्न-ब्याह में जाना पड़ गया था नहीं तो क़सम “गुप्त-कोष” वाले गुप्ता जी के अजगर की हम 7 में से 8 सीट जीत रहे थे'. इससे पहले कुमार विश्वास ने लिखा था, 'ज़मानत ज़ब्त के डर से आत्ममुग्ध बौने ने चुनाव घोषणा के दिन ही “अमानत” छोड़ दी?' वहीं कांग्रेस के साथ गठबंधन न होने पर भी कुमार विश्वास ने एक वीडियो ट्वीट करते हुए लिखा,"तो उन्होंने लगभग मना कर दिया जी." कुमार विश्वास (Kumar Vishvas) ने कुछ देर बाद एक और ट्वीट किया. उन्होंने इस ट्वीट में बिना नाम लिए तंज कसा. हालांकि, उनके इस ट्वीट को देखकर अंदाजा लगाया जा रहा है कि उनका यह ट्वीट अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) के लिए ही है. 

 


कुमार विश्वास ने फिर केजरीवाल पर साधा निशाना, बोले- जमानत जब्त होने के डर से...

गौरतलब है कि लोकसभा चुनाव की तारीख रमजान के दौरान पड़ने से आम आदमी पार्टी के राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने चुनाव आयोग पर निशाना साधा था उन्होंने कहा था कि पवित्र रमजान के महीने में तीन चरणों का लोकसभा चुनाव कराना मुस्लिम समुदाय के लिये मतदान को कठिन कर देने की साजिश और भाजपा को फायदा पहुंचाने की कोशिश है. इस मामले में आयोग की ओर से सोमवार को जारी प्रतिक्रिया में कहा गया है कि रमज़ान के दौरान पूरे महीने के लिए चुनाव प्रक्रिया को रोका नहीं जा सकता. आयोग ने स्पष्ट किया कि इस दौरान ईद के मुख्य त्योहार और शुक्रवार का ध्यान रखा गया है. 

 

 

कुमार विश्वास से ट्विटर यूजर ने पूछा ऐसा सवाल कि बोले- इसीलिए तो इंजीनियरिंग छोड़कर भागे

वहीं ऑल इण्डिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड (एआईएमपीएलबी) और ऑल इण्डिया मुस्लिम वूमेन पर्सनल लॉ बोर्ड के वरिष्ठ पदाधिकारियों ने मई में रमजान के दौरान लोकसभा चुनाव कराये जाने पर नाराजगी जाहिर करते हुए निर्वाचन आयोग से तारीखें बदलने पर विचार करने की मांग की है. हालांकि चुनाव आयोग ने रमज़ान के महीने में चुनाव कराने के फ़ैसले पर उठ रहे सवालों को नकारते हुए कहा कि चुनाव कार्यक्रम में मुख्य त्योहार और शुक्रवार का ध्यान रखा गया है. एआईएमपीएलबी के वरिष्ठ कार्यकारिणी सदस्य और लखनऊ के शहर क़ाज़ी मौलाना खालिद रशीद फरंगी महली ने छह मई से 19 मई के बीच होने वाले लोकसभा चुनाव कार्यक्रम को लेकर कहा कि पांच मई को मुसलमानों के सबसे पवित्र महीने यानी रमजान का चांद देखा जाएगा. अगर चांद नजर आ जाता है तो छह मई को पहला रोजा होगा. रमजान के दौरान देश में छह, 12 और 19 मई को मतदान होगा. 

टिप्पणियां

बड़ी खबर : जेटली से माफी, केजरीवाल पर वार​

 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement