NDTV Khabar

SP-BSP गठबंधन पर छलका मुलायम का दर्द, कहा- अखिलेश ने बिना पूछे ही उठा लिया इतना बड़ा कदम

बहुजन समाज पार्टी (BSP) के साथ समाजवादी पार्टी (SP) के गठबंधन को लेकर पार्टी संस्‍थापक मुलायम सिंह यादव (Mulayam Singh Yadav) खुश नहीं हैं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां

खास बातें

  1. सपा के साथ गठबंधन पर मुलायम नाखुश
  2. कार्यकर्ताओ से बात में छलका मुलायम का दर्द
  3. कहा-बसपा से गठबंधन बिना मुझसे पूछे कर लिया
लखनऊ:

बहुजन समाज पार्टी (BSP) के साथ समाजवादी पार्टी (SP) के गठबंधन को लेकर पार्टी संस्‍थापक मुलायम सिंह यादव (Mulayam Singh Yadav) खुश नहीं हैं. उन्‍होंने खुलकर इस पर अपनी अप्रसन्‍नता जाहिर की. मुलायम सिंह यादव ने सपा मुख्यालय पर कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि अब उन्होंने (अखिलेश यादव) मायावती (Mayawati) के साथ आधी सीटों पर गठबंधन किया है. उन्होंने कहा कि अखिलेश ने मुझसे पूछे बिना ही बसपा से गठबंधन कर लिया. आधी सीटें देने का आधार क्या है? अब हमारे पास केवल आधी सीटें रह गई हैं. हमारी पार्टी कहीं अधिक दमदार है. मुलायम ने कहा कि हम सशक्त हैं, लेकिन हमारे लोग पार्टी को कमजोर कर रहे हैं. हमने कितनी सशक्त पार्टी बनाई थी और 'मैं मुख्यमंत्री बना और रक्षा मंत्री भी बना.'

यह भी पढ़ें: सपा-बसपा गठबंधन से RLD को मिली इतनी सीटें, जानिये कहां से कौन लड़ सकता है चुनाव


 

dt9qghhgसपा मुख्यालय में पार्टी कार्यकर्ताओं से बातचीत के दौरान मुलायम सिंह यादव.

मुलायम ने पार्टी कार्यकर्ताओं से कहा कि वे लोकसभा चुनाव में टिकट के लिए उन्हें आवेदन दें. उन्होंने कहा, 'आपमें से कितनों ने मुझे आवेदन दिया? किसी ने नहीं. तब टिकट कैसे पाओगे? अखिलेश टिकट देंगे, लेकिन मैं उसे बदल सकता हूं.' भाजपा की प्रशंसा करते हुए मुलायम ने कहा कि भाजपा की चुनावी तैयारी बेहतर है. सपा प्रत्याशियों के नाम जल्द घोषित होने चाहिए ताकि वे अपने क्षेत्र में जाकर जमीनी कार्य कर सकें.

यह भी पढ़ें: राहुल गांधी का क्या ब्रह्मास्त्र साबित होंगी प्रियंका गांधी? निशाने पर सिर्फ BJP या सपा-बसपा गठबंधन भी

मुलायम सिंह ने बीते दिनों लोकसभा में यह बयान देकर राजनीतिक हलकों में सरगर्मी तेज कर दी थी कि वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को बधाई देना चाहते हैं, क्योंकि उन्होंने हर किसी को साथ लेकर चलने का प्रयास किया. उन्होंने कहा, 'मुझे आशा है कि सभी सदस्य जीतेंगे और वापस आएंगे और आप (मोदी) फिर से प्रधानमंत्री बनेंगे.'

यह भी पढ़ें: यूपी में गठबंधन पर कांग्रेस ने कहा: जाल में फंसी SP-BSP, इन्होंने वही किया जो BJP चाहती थी

बता दें कि मुलायम के पुत्र व सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने कभी सपा की धुर विरोधी रही बसपा के साथ गठबंधन किया है. दोनों दलों ने लोकसभा चुनाव के लिए सीटों का भी बंटवारा कर लिया है. सपा 37 जबकि बसपा 38 सीटों पर चुनाव लड़ेगी, वहीं, गठबंधन अमेठी और रायबरेली में कोई उम्मीदवार नहीं उतारेगा. 

टिप्पणियां

VIDEO:  यूपी में साथ आए बुआ-बबुआ

(इनपुट: भाषा)



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement