मुरली मनोहर जोशी का टिकट तो कट गया! मगर पार्टी के फैसले को लेकर रह गया यह मलाल

भारतीय जनता पार्टी के दिग्गज नेता मुरली मनोहर जोशी को टिकट न मिलना लगभग तय हो गया है. बीजेपी ने इस बार लालकृष्ण आडवाणी की तरह ही मुरली मनोहर जोशी को टिकट नहीं दिया है.

मुरली मनोहर जोशी का टिकट तो कट गया! मगर पार्टी के फैसले को लेकर रह गया यह मलाल

मुरली मनोहर जोशी (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

भारतीय जनता पार्टी के दिग्गज नेता मुरली मनोहर जोशी को टिकट न मिलना लगभग तय हो गया है. बीजेपी ने इस बार लालकृष्ण आडवाणी की तरह ही मुरली मनोहर जोशी को टिकट नहीं दिया है. बताया जा रहा है कि इसकी सूचना खुद पार्टी के महासचिव रामलाल ने मुरली मनोहर को दी और उन्हें पार्टी दफ्तर जाकर इसका ऐलान करने को भी कहा. मगर मुरली मनोहर जोशी ने चुनाव न लड़ने का ऐलान करने से साफ इनकार कर दिया और उन्होंने कानपुर के वोटरों के लिए एक पत्र लिखा और इसकी सूचना दी कि रामलाल उन्हें चुनाव न लड़ने के लिए कह रहे हैं. 

बीजेपी ने काटा टिकट तो 'नाराज' मुरली मनोहर जोशी ने कानपुर के वोटर्स को लिखा खत, जानें क्या है उस लेटर में

माना जा रहा है कि कानपुर से मुरली मनोहर जोशी का टिकट बीजेपी से लगभग कट गया है और वह भी आडवाणी की तरह ही इस बार चुनावी अखाड़े में नहीं दिखेंगे. करीबी सूत्रों की मानें तो मुरली मनोहर जोशी को जितना दुख उनके टिकट काटे जाने की सूचना से नहीं है, उतना उसे पहुंचाए जाने के तरीके से है. मुरली मनोहर जोशी का कहना है कि अगर उनके टिकट काटे जाने का फैसला बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह खुद बताने आते तो उन्हें अच्छा लगता.  

दरअसल, जब बीजेपी महासचिव रामलाल ने मुरली मनोहर जोशी को टिकट काटे जाने की सूचना दी तो चुनाव न लड़ने का खुद से ऐलान करने के लिए मुरली मनोहर जोशी की तरह लाल कृष्ण आडवाणी भी तैयार नहीं हुए. मुरली मनहोर जोशी की तरह राम लाल को कहा था अगर पार्टी अध्यक्ष अमित शाह खुद आकर पार्टी का फैसला बताते तो अच्छा रहता. बता दें कि एलके आडवाणी ने भी कहा था कि अगर अमित शाह उन्हें फैसला बताने आते तो अच्छा लगता. 

मुरली मनोहर जोशी ने क्यों कहा BJP ऑफिस जाकर नहीं करूंगा चुनाव न लड़ने का ऐलान?

पार्टी के फैसले के बाद मुरली मनोहर जोशी ने कानपुर में अपने मतदाताओं को एक पत्र लिखा और कहा कि रामलाल ने उनसे चुनाव न लड़ने के लिए कह रहे हैं. इससे पहले राम लाल लालकृष्ण आडवाणी, कलराज मिश्र से मुलाक़ात कर चुके हैं. वहीं शांता कुमार और करिया मुंडा को फोन पर पार्टी नेतृत्व का फैसला बताया कि आप लोग अपनी तरफ से खुद ऐलान करें कि चुनाव नहीं लड़ना चाहते. इसके बाद कलराज मिश्र, शांता कुमार और करिया मुंडा ने खुद घोषणा की कि वे चुनाव नहीं लड़ना चाहते हैं. मगर मुरली मनोहर जोशी और लालकृष्ण आडवाणी खुद ऐलान करने से इनकार कर रहे हैं. 


बताया जा रहा है कि बीजेपी ने उम्र का हवाला देकर लालकृष्ण आडवाणी और मुरली मनोहर जोशी समेत कई बुजुर्ग नेताओं के टिकट काटे हैं. इससे पहले सोमवार को यूपी के लिए बीजेपी द्वारा जारी स्टार प्रचारकों की लिस्ट में भी एलके आडवाणी और मुरली मनोहर जोशी का नाम नहीं है. माना जा रहा है कि बढ़ती उम्र की वजह से ही अब बीजेपी में आडवाणी और मुरली मनोहर जोशी की अनदेखी हो रही है.     

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


VIDEO- बीजेपी में टिकट कटने से आहत हुए लालकृष्ण आडवाणी?