बीजेपी ने काटा टिकट तो 'नाराज' मुरली मनोहर जोशी ने कानपुर के वोटर्स को लिखा खत, जानें क्या है उस लेटर में

भारतीय जनता पार्टी ने लालकृष्ण आडवाणी की तरह की अपनी पार्टी के दिग्गज नेता मुरली मनोहर जोशी का टिकट काटने का मन बना लिया है.

बीजेपी ने काटा टिकट तो 'नाराज' मुरली मनोहर जोशी ने कानपुर के वोटर्स को लिखा खत, जानें क्या है उस लेटर में

Murli Manohar Joshi ने लिखा कानपुर के वोटर्स को खत

नई दिल्ली:

भारतीय जनता पार्टी ने लालकृष्ण आडवाणी की तरह की अपनी पार्टी के दिग्गज नेता मुरली मनोहर जोशी का टिकट काटने का मन बना लिया है. भाजपा के वरिष्ठ नेता मुरली मनोहर जोशी (Murli Manohar Joshi) को भी इस बार पार्टी टिकट नहीं दे रही है. सूत्रों की मानें तो बीजेपी ने मुरली मनोहर जोशी का टिकट काट दिया गया है और उन्हें इस बार कानपुर सीट से नहीं लड़ाया जाएगा. बीजेपी के महासचिव रामलाल ने मुरली मनोहर से कहा कि पार्टी का फैसला कि वे चुनाव न लड़ें और इसका ऐलान वे खुद पार्टी कार्यालय में आकर करें. मगर मुरली मनोहर जोशी ने ऐसा करने से इनकार कर दिया. लगे हाथ उन्होंने कानपुर की जनता को एक खत लिखकर इसकी सूचना भी दे दी है. इससे साफ जाहिर होता है कि टिकट कटने की वजह जोशी भी बीजेपी से नाराज हैं. 

मुरली मनोहर जोशी ने क्यों कहा BJP ऑफिस आकर नहीं करूंगा चुनाव न लड़ने का ऐलान?

दरअसल, बीजेपी महासचिव रामलाल ने मुरली मनोहर जोशी को बताया कि पार्टी ने फैसला किया है कि आपको लोकसभा चुनाव नहीं लड़वाया जाए. इसके साथ ही राम लाल ने उनसे कहा कि पार्टी चाहती है कि आप पार्टी ऑफिस आकर चुनाव नहीं लड़ने का ऐलान करें. लेकिन जोशी ने ऐसा करने से मना कर दिया. साथ ही उन्होंने राम लाल से कहा कि अगर चुनाव न लड़वाने का फैसला हुआ है तो कम से कम पार्टी अध्यक्ष को आकर हमें बताना चाहिए था. 

इसके बाद मुरली मनोहर जोशी ने कानपुर के वोटरों के नाम से एक खत लिखा है. इस खत में मुरली मनोहर जोशी ने कम शब्दों में लिखा है कि ' भारतीय जनता पार्टी के महासचिव रामलाल ने कहा है कि मुझे कानपुर या कहीं से भी लोकसभा चुनाव नहीं लड़ना चाहिए.' इस खत में मुरली मनोहर जोशी ने बस इतना ही लिखा है. हैरान करने वाली बात है कि उनका नाम उत्तर प्रदेश के लिए बीजेपी की स्टार प्रचारकों की लिस्ट में भी नहीं है. 

UP के लिए BJP ने किया स्टार प्रचारकों का ऐलान: 40 नेताओं की लिस्ट में लालकृष्ण आडवाणी और जोशी का नाम नहीं


बता दें कि भाजपा ने इस बार पार्टी के अन्य वरिष्ठ नेता लाल कृष्ण आडवाणी (Lal Krishna Advani) को भी टिकट नहीं दिया. उनकी संसदीय सीट गांधीनगर से इस बार भाजपा राष्ट्रीय अमित शाह (Amit Shah) को उतारा गया है. बताया जा रहा है कि पार्टी के टिकट न देने के फैसले को लेकर बीजेपी के संगठन महासचिव राम लाल ने मुरली मनोहर जोशी से मुलाक़ात की. राम लाल ने मुरली मनोहर जोशी को पार्टी का फैसला बताया. लालकृष्ण आडवाणी को भी रामलाल ने ही पार्टी का फैसला सुनाया था. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


VIDEO- बीजेपी में टिकट कटने से आहत हुए लालकृष्ण आडवाणी?