NDTV Khabar

भीम आर्मी के संस्थापक चंद्रशेखर आजाद को पुलिस ने फिर लिया हिरासत में, ये है वजह

भीम आर्मी के संस्थापक चंद्रशेखर (Chandra Shekhar Azad) को एक बार फिर पुलिस ने हिरासत में ले लिया है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
भीम आर्मी के संस्थापक चंद्रशेखर आजाद को पुलिस ने फिर लिया हिरासत में, ये है वजह

चंद्रशेखर (Chandra Shekhar Azad) को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है.

खास बातें

  1. चंद्रशेखर आजाद को पुलिस ने लिया हिरासत में
  2. हिरासत में लेने के बाद तबीयत बिगड़ी
  3. मेरठ के अस्पताल में कराया गया भर्ती
नई दिल्ली :

भीम आर्मी के संस्थापक चंद्रशेखर (Chandra Shekhar Azad) को एक बार फिर पुलिस ने हिरासत में ले लिया है. जानकारी के मुताबिक उतर प्रदेश के सहारनपुर में आचार संहिता के उल्लंघन के मामले में चंद्रशेखर और उनके समर्थकों को पुलिस ने हिरासत में ले लिया. बताया जा रहा है कि हिरासत में लिए जाने के तुरंत बाद चंद्रशेखर (Chandra Shekhar Azad Ravan) की तबियत खराब हो गई और उन्हें मेरठ के आनंद अस्पताल मे भर्ती कराया गया. सहारनपुर के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक दिनेश कुमार पी ने बताया कि भीम आर्मी के संस्थापक चंद्रशेखर आजाद आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन करते हुए अपने समर्थकों के साथ मोटर साइकिल और गाडियों के जलूस के रूप में मुजफ्फरनगर जाने की तैयारी कर रहे थे.

2019 के आम चुनाव में BJP और मायावती के नतीजों पर कैसे असर डाल सकता है चंद्रशेखर 'रावण'


इसके बाद पुलिस को सूचना मिलते ही देवबंद पुलिस ने मौके पर पहुंचकर उन्हें आचार संहिता के बारे में बताया. एसएसपी ने बताया कि जब भीम आर्मी के संस्थापक चन्द्रशेखर आजाद (Chandra Shekhar Azad Ravan) और उनके समर्थको ने आदर्श आचार सहिता का उल्लंघन करने का प्रयास किया तो पुलिस ने उन्हें हिरासत में ले लिया. चन्द्रशेखर आजाद ने शनिवार को दिल्ली में एक संवाददाता सम्मेलन में कहा था कि यदि गठबन्धन ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ओर केन्द्रीय मंत्री स्मृति ईरानी के खिलाफ मजबूत प्रत्याशी मैदान में नहीं उतारा तो दोनों सीटों पर भीम आर्मी मजबूत प्रत्याशी उतारेगी. 

चंद्रशेखर आजाद रावण ने कहा 'बुआ' तो मायावती का जवाब- मेरा कोई रिश्ता नहीं है

आपको बता दें कि लोकसभा चुनाव की रणभेरी बजने के साथ ही आचार संहिता लग गई है. चुनाव आगामी 11 अप्रैल से कुल सात चरणों में संपन्न होंगे. लोकसभा चुनाव के लिए मतदान 11, 18, 23 अप्रैल और छह, 12, 19 मई को होंगे. चुनाव परिणाम की घोषणा 23 मई को की जाएगी. मुख्य निर्वाचन आयुक्त सुनील अरोड़ा ने कहा कि इस बार लोकसभा चुनाव में मतदान करने वालों की संख्या लगभग 90 करोड़ होगी. उन्होंने आगामी चुनाव को लोकतंत्र का सबसे बड़ा त्योहार बताया. उन्होंने कहा कि इस बार लगभग 10 लाख मतदान केंद्र होंगे, जो 2014 के आम चुनाव में रहे नौ लाख से अधिक है. 

मायावती से बहुत प्यार, पर अपने समाज का शोषण नहीं होने दूंगा : चंद्रशेखर रावण 

टिप्पणियां

VIDEO: रावण के रिहाई के क्या मायने?

इनपुट : भाषा से भी


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान प्रत्येक संसदीय सीट से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरों, LIVE अपडेट तथा चुनाव कार्यक्रम के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement