NDTV Khabar

Election 2019: चुनाव के दौरान हिंसा मामला: SC ने BJP उम्मीदवार अर्जुन सिंह को दी राहत, 28 मई तक गिरफ्तारी पर लगाई रोक

Election Results: अर्जुन सिंह ने बताया, मुझ पर राज्य सरकार ने 21 मामले दर्ज किए हैं. बाकी केस में राहत मिल चुकी है. 20 मई के केस में सरंक्षण चाहिए.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
Election 2019: चुनाव के दौरान हिंसा मामला: SC ने BJP उम्मीदवार अर्जुन सिंह को दी राहत, 28 मई तक गिरफ्तारी पर लगाई रोक

खास बातें

  1. पश्चिम बंगाल से बीजेपी प्रत्याशी अर्जुन सिंह सुप्रीम कोर्ट पहुंचे
  2. कहा- मुझ पर राज्य सरकार ने 21 मामले दर्ज किए
  3. सुप्रीम कोर्ट ने 28 मई तक गिरफ्तारी पर रोक लगाई
नई दिल्ली:

पश्चिम बंगाल के बैरकपुर से बीजेपी (BJP) प्रत्याशी अर्जुन सिंह को सुप्रीम कोर्ट से राहत मिल गई है. SC ने 28 मई तक उनकी गिरफ्तारी पर रोक लगा दी है. गौरतलब है कि अर्जुन सिंह ने कहा था, 'मुझ पर राज्य सरकार ने 21 मामले दर्ज किए हैं. बाकी केस में राहत मिल चुकी है. 20 मई के केस में सरंक्षण चाहिए.' उन्होंने सुप्रीम कोर्ट से गिरफ्तारी पर संरक्षण की मांग की थी. सुप्रीम कोर्ट आज ही सुनवाई को तैयार हुआ था और 12.30 बजे इस मामले में सुनवाई हुई. याचिकाकर्ता विधायक का कहना था कि उसके खिलाफ 20 मई को ही एक FIR दर्ज कर दी गई है. कोलकाता में वकीलों की हड़ताल है. गुरुवार को मतगणना होनी है अगर वो राज्य में जाते हैं तो उनको गिरफ्तार किया जा सकता है लेकिन वह मतगणना में जाना चाहते हैं. गौरतलब है कि अर्जुन सिंह TMC छोड़कर बीजेपी में शामिल हुए हैं. बता दें कि पश्चिम बंगाल में पांचवें चरण के मतदान के दौरान बैरकपुर में बीजेपी और टीएमसी कार्यकर्ताओं के बीच झड़प होने का मामला सामने आया था. बीजेपी प्रत्याशी अर्जुन सिंह ने टीएमसी कार्यकर्ताओं पर हमला करने का आरोप लगाया था, जबकि टीएमसी का कहना था कि बीजेपी गुंडागर्दी करती है. अर्जुन सिंह ने आरोप लगाया था कि मोहनपुर इलाके में मेरे ऊपर टीएमसी कार्यकर्ताओं ने हमला किया है. मुझे पोलिंग बूथ से बाहर खींच लाए. मुझे चोट आई है. वोटर्स को धमकाया जा रहा है.

ये भी पढ़ें:  राफेल मामला: SC से अपील- सील कवर में झूठी जानकारी देने वाले अधिकारियों के खिलाफ हो कार्रवाई


 उच्चतम न्यायालय ने लोकसभा चुनाव के दौरान पश्चिम बंगाल में हुई हिंसा पर गौर किया और बैरकपुर सीट से भाजपा उम्मीदवार अर्जुन सिंह के खिलाफ दर्ज कई मामलों में गिरफ्तारी से बचने संबंधी उनकी याचिका पर सुनवाई पर बुधवार को सहमति जताई . न्यायमूर्ति अर्जुन मिश्रा और न्यायमूर्ति एम आर शाह की अवकाश पीठ ने भाजपा नेता की याचिका पर संज्ञान लिया कि उन्हें गिरफ्तारी से छूट दी जाए क्योंकि वह पश्चिम बंगाल के बैरकपुर में बृहस्पतिवार को लोकसभा चुनाव की मतगणना के दौरान मौजूद रहना चाहते हैं. पीठ ने कहा, 'वहां हिंसा हो रही है. आप (सिंह के वकील) इससे भली भांति वाकिफ हैं.'

ये भी पढ़ें: Lok Sabha Election 2019 Update: सोनिया गांधी करेंगी कांग्रेस के दिग्गज नेताओं से मुलाकात

टिप्पणियां

सिंह के वकील वरिष्ठ अधिवक्ता रंजीत कुमार ने कहा कि उनके मुवक्किल के खिलाफ राजनीतिक प्रतिशोध के कारण चार अप्रैल से 20 मई तक करीब 20 आपराधिक मामले दर्ज किए गए हैं. उनके खिलाफ इसलिए ये मामले दर्ज किए गए ताकि वह मतगणना के दौरान मौजूद नहीं रहें.
उन्होंने कहा कि यदि सिंह को गिरफ्तारी से छूट नहीं मिली तो उन्हें गिरफ्तार कर लिया जाएगा और वह मतगणना के दौरान मौजूद नहीं रह पाएंगे.वकील ने कहा कि कोलकाता में वकील हड़ताल पर हैं.

एग्जिट पोल के नतीजे देख चौंके योगेंद्र यादव, कहा- हैरान करने वाले होंगे 23 मई के नतीजे​



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement