Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
NDTV Khabar

शरणार्थियों के लिए ईश्वर का वरदान साबित हुए हैं मोदी जी : शिवराज सिंह चौहान

पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा- नागरिकता संशोधन बिल से लाखों शरणार्थी भाई-बहनों को नया जीवन मिला

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
शरणार्थियों के लिए ईश्वर का वरदान साबित हुए हैं मोदी जी : शिवराज सिंह चौहान

पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान ने नागरिकता संशोधन बिल पारित होने पर पीएम मोदी को बधाई दी है.

खास बातें

  1. शिवराज सिंह ने कहा कि अमित शाह जी का आभार
  2. कांग्रेस और इमरान खान एक ही भाषा बोल रहे
  3. यह बिल किसी भारतवासी के खिलाफ नहीं
भोपाल:

नागरिकता संशोधन बिल (Citizenship Amendment bill) राज्यसभा में पास होने के बाद पूर्व सीएम शिवराज सिंह (Shivraj Shingh Chauhan) चौहान ने कहा कि सचमुच में हमारे लाखो वे शरणार्थी भाई-बहन जिनकी जिंदगी में उन्हें केवल यातना मिली थी वे चाहे पाकिस्तान से आए हों या बांग्लादेश से, उन्हें नया जीवन मिला है. उन्हें यातनाओं से मुक्ति मिली है. इस ऐतिहासिक बिल पारित करने के लिए मैं प्रधानमंत्री मोदीजी (PM Modi) का अभिनंदन करता हूं. वो शरणार्थियों के लिए ईश्वर का वरदान साबित हुए हैं.

शिवराज सिंह ने कहा कि अमित शाह (Amit Shah) जी का आभार. सभी सांसद मित्रों को धन्यवाद जिन्होंने इस बिल को अपना समर्थन दिया है. कांग्रेस द्वारा बिल का विरोध करने पर चौहान ने कहा कि कांग्रेस और इमरान खान एक ही भाषा बोल रहे हैं. पाकिस्तान ने भी विरोध किया, कांग्रेस ने भी विरोध किया. कौन नहीं जानता पाकिस्तान में कितने अल्पसंख्यक प्रताड़ित हुए है. इंदौर में जब मैं मुख्यमंत्री था तब पाकिस्तान से आई बेटियों ने मुझसे कहा था कि हम पाकिस्तान वापस नहीं जाएंगे. वहां हमारा अपमान होता है, निकाह के लिए उठा लिया जाता है, धर्मांतरण किया जाता है.


उन्होंने कहा कि यह बिल किसी भारतवासी के खिलाफ नहीं है. यह बिल केवल हमारे शरणार्थी भाई बहनों के लिए है.

Citizenship Amendment Bill : अमित शाह ने कहा- कांग्रेस नेताओं के बयान और पाकिस्‍तान के नेताओं के बयान एक जैसे

टिप्पणियां

VIDEO : राज्यसभा में नागरिकता बिल पारित हुआ



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


 Share
(यह भी पढ़ें)... 15 दस्तावेज देकर भी खुद को भारतीय साबित नहीं कर पाई असम की जाबेदा, कानूनी लड़ाई में खो बैठी सब कुछ

Advertisement